ताज़ा खबर
 

विश्व हिंदू परिषद का पीएम नरेंद्र मोदी पर पलटवार- गौ सेवा का हिस्सा है गौ रक्षा

वीएचपी की तरफ से सह महासचिव सुरेंद्र जैन ने मंगलवार (4 जुलाई) को कहा, 'गौ पालन, गौ संरक्षण, गौ संवर्धन और गौ रक्षा ये सब गौ सेवा का हिस्सा हैं।'
Author July 5, 2017 17:24 pm
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। (फाइल फोटो)

गौरक्षा के मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) आमने-सामने आ गए हैं। मोदी के साबरमती आश्रम में दिए गए बयान का जिक्र करते हुए वीएचपी ने कहा कि गाय की रक्षा गौसेवा का जरूरी हिस्सा है और इसके नाम को खराब करने की कोशिश की जा रही है। वीएचपी की तरफ से सह महासचिव सुरेंद्र जैन ने मंगलवार (4 जुलाई) को कहा, ‘गौ पालन, गौ संरक्षण, गौ संवर्धन और गौ रक्षा ये सब गौ सेवा का हिस्सा हैं।’ दरअसल पिछले हफ्ते पीएम मोदी ने गौ रक्षा के नाम पर हो रही हिंसा का जिक्र किया था। मोदी ने ऐसा कर रहे लोगों को चेतावनी दी थी। अहमदाबाद में रैली के दौरान पीएम मोदी ने साफ लहजे में कहा था, “गौभक्ति के नाम पर लोगों की हत्या स्वीकार नहीं की जाएगी। महात्मा गांधी आज होते तो इसके खिलाफ होते।”

मोदी ने लोगों से अपील करते हुए कहा था कि चलिए सभी मिलकर काम करें। महात्मा गांधी के सपनों का भारत बनाते हैं। एक ऐसा भारत बनाते हैं जिस पर हमारे स्वतंत्रता सेनानियों को गर्व हो। उन्होंने आगे कहा था, ‘‘देश में किसी को भी कानून अपने हाथ में लेने का अधिकार नहीं है।’’मोदी ने कहा, ‘‘हिंसा से कभी किसी समस्या का समाधान नहीं हुआ और न होगा। एक समाज के तौर पर हमारे यहां हिंसा के लिए कोई स्थान नहीं है।’’

जैन ने बताया कि महात्मा गांधी ने कहा था कि स्वराज की प्राप्ति गौ रक्षा के बिना पूरी नहीं होगी। जैन ने कहा कि अगर कोई कानून होगा तो फिर किसी और चीज की जरूरत नहीं होगी।

वीएचपी नेता ने आगे कहा कि गौरक्षक तानाशाह नहीं बल्कि पीड़ित हैं। जैन ने कहा कि कुछ लोग गौरक्षकों की छवि खराब करने की कोशिश कर रहे हैं।

पिछले साल भी मोदी ने गौरक्षा पर बयान दिया था। तब भी वीएचपी विरोध दर्ज करवाया था। तब मोदी ने कहा था कि गौरक्षा के नाम पर 80 प्रतिशत गलत काम हो रहे हैं। इसपर वीएचपी ने कहा था कि मोदी ने गौरक्षकों का अपमान किया।

देखिए संबंधित वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग