ताज़ा खबर
 

अब अपनों को रेवड़ियां बांटने लगीं वसुंधरा

राजस्थान में सरकार बनने के करीब दो साल बाद अब भाजपाइयों को लाल बत्ती मिलने लगी है। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने इसकी शुरुआत कमजोर वर्गों के लिए बने आयोगों में अध्यक्षों की नियुक्ति करके की है।
Author जयपुर | October 19, 2015 09:38 am
सिफारिशें लगवा रहे नेता: राजस्थान में भाजपा के विधायकों की बड़ी संख्या को देखते हुए कई पदों पर उनकी नियुक्तियां करने पर राज्य सरकार विचार कर रही है। राजनीतिक नियुक्तियां पाने के लिए नेताओं ने सिफारिशें भी लगवानी शुरू कर दी है। राज्य सूचना आयोग में आयुक्तों की तैनाती की भी तैयारी हो गई है। इसके लिए सरकार ने सभी औपचारिकताएं भी पूरी कर ली हैं।

राजस्थान में सरकार बनने के करीब दो साल बाद अब भाजपाइयों को लाल बत्ती मिलने लगी है। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने इसकी शुरुआत कमजोर वर्गों के लिए बने आयोगों में अध्यक्षों की नियुक्ति करके की है। सरकार अब जल्द ही अल्पसंख्यक तबके से जुड़े बोर्ड और आयोगों में भी भाजपा के मुसलिम नेताओं की तैनाती की तैयारी कर रही है।

राज्य में करीब डेढ़ दर्जन निगम, बोर्ड और आयोगों में नियुक्तियों की बाट जोह रहे भाजपा नेताओं का अब इंतजार खत्म होने लगा है। भाजपा आलाकमान भी कई बार प्रदेश के नेताओं को राजनीतिक नियुक्तियां जल्द होने का भरोसा दे चुका था।

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने राज्य महिला आयोग में भाजपा प्रवक्ता सुमन शर्मा को अध्यक्ष नियुक्त किया है। अनुसूचित जाति आयोग में वरिष्ठ विधायक सुंदरलाल को और सफाई आयोग में पूर्व सांसद गोपाल पचेरवाल को अध्यक्ष बनाया गया है। इन तीनों को ही राज्यमंत्री का दर्जा भी दिया गया है। इन नियुक्तियों से प्रदेश भाजपा के नेताओं को लगने लगा है कि सरकार जल्द ही अन्य आयोगों और निगम व बोर्डो में भी राजनीतिक नियुक्तियां करेगी।

राज्य सूचना आयोग में आयुक्तों की तैनाती की भी तैयारी हो गई है। इसके लिए सरकार ने सभी औपचारिकताएं भी पूरी कर ली हैं। प्रदेश में भाजपा के विधायकों की बड़ी संख्या को देखते हुए कई पदों पर उनकी नियुक्तियां करने का मानस भी सरकार का है। राजनीतिक नियुक्तियां पाने के लिए नेताओं ने सिफारिशें भी लगवाना तेज कर दिया है।

राज्य महिला आयोग में अध्यक्ष बनाई गई भाजपा प्रवक्ता सुमन शर्मा का कहना है कि वे सोमवार को कार्यभार संभालेंगी। उनका कहना है कि पीड़ित महिलाओं को जल्द न्याय दिलाना उनकी प्राथमिकता होगी। इसके साथ ही प्रदेश में महिलाओं की स्थिति में सुधार लाने और उन्हें सभी तरह की हिंसा से बचाने की कोशिश की जाएगी। राज्य में महिलाओं पर होने वाले अत्याचारों में कमी लाने के साथ ही उन्हें सरकारी योजनाओं से जोड़ने के कार्यक्रम भी बनाए जाएंगे। शर्मा का कहना है कि मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की सोच के तहत ही महिलाओं में आत्मविश्वास बढ़ाने और उन्हें मुख्यधारा से जोड़ने की योजनाओं को तेज गति से लागू किया जाएगा। प्रदेश भाजपा की तेजतर्रार महिला नेता सुमन शर्मा को मुख्यमंत्री की करीबी माना जाता है। उन्हें कुछ समय पहले ही पार्टी में प्रदेश प्रवक्ता की अहम जिम्मेदारी सौंपी गई थी।

प्रदेश भाजपा के हाल में प्रभारी बनाए गए अविनाश राय खन्ना और सह प्रभारी वी सतीश लगातार कोशिश में थे कि पार्टी के लोगों को सरकार में राजनीतिक नियुक्तियां मिलें। इसके लिए इन दोनों ने प्रदेश भाजपा अध्यक्ष अशोक परनामी और मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के साथ कई दौर के मंथन किए थे। प्रदेश अध्यक्ष परनामी ने संगठन के लिए काम करने वाले नेताओं की सूची भी मुख्यमंत्री को सौंप रखी है। इसके साथ ही केंद्रीय नेतृत्व व आरएसएस के स्थानीय पदाधिकारियों ने भी इस मसले पर अपनी राय मुख्यमंत्री को बता दी है।

पार्टी सूत्रों का कहना है कि विभिन्न अकादमियों में नियुक्तियों में संघ की सिफारिशों का ध्यान रखा जाएगा। संघ का जोर शिक्षा और अकादमियों में अपनी विचारधारा से जुड़े लोगों की नियुक्तियों पर ज्यादा है।

राजीव जैन

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.