December 05, 2016

ताज़ा खबर

 

“हनीट्रैप” के आरोप को वरुण गांधी ने नकारा, कहा- अगर 1 फीसदी भी सच्चाई निकली तो छोड़ दूंगा राजनीति

अमेरिकी आर्म्स डीलर ने वरुण गांधी पर डिफेंस सिक्रेट लीक करने के आरोप लगाए हैं, कहा है कि ब्लैकमेल के जरिए दस्तावेज लीक कराए गए थे

वरुण गांधी पर देश की रक्षा से जुड़ी अहम जानकारी लीक करने का आरोप लगा है। (एक्सप्रेस फोटो-प्रवीण जैन)

एक अमेरिकी वकील और हथियारों के सौदागर ने भाजपा सांसद वरुण गांधी पर डिफेंस सिक्रेट लीक करने का आरोप लगाया है। अमेरिकी वकील सी एडमंड्स एलेन ने बताया कि उनके बिजनेस पार्टनर और विवादित हथियार डीलर अभिषेक वर्मा ने वरुण गांधी को ब्लैकमेल किया था और डिफेंस सिक्रेट हासिल कर लिए थे। एडमंड्स एलेन ने इस संबंध में प्रधानमंत्री कार्यालय को पत्र लिखकर यह आरोप लगाए हैं। खत में कहा गया है कि विदेशी एस्कॉर्ट महिलाओं तथा वेश्याओं के साथ खिंचीं वरुण की तस्वीरों के ज़रिये उन्हें ब्लैकमेल किया गया। हालांकि वरुण गांधी ने साफतौर पर इन आरोपों को खारिज किया है और कहा है कि अगर इसमें 1 फीसदी भी सच्चाई निकली तो वह राजनीति छोड़ देंगे।

दरअसल, वर्ष 2012 में एक दूसरे से अलग होने से पहले अभिषेक वर्मा और सी. एडमंड्स एलेन व्यापारिक साझीदार थे। सी. एडमंड्स एलेन और अभिषेक वर्मा के बीच व्यापारिक साझेदारी जनवरी, 2012 में खत्म हुई थी और उस वक्त दोनों ने ही एक दूसरे पर मनी-लॉन्ड्रिंग, गबन और धोखाधड़ी के आरोप लगाए थे। इसके बाद सी. एडमंड्स एलेन भारतीय जांचकर्ताओं को अभिषेक वर्मा के खिलाफ कागज़ात देते रहे हैं। एलेन ने प्रधानमंत्री कार्यालय को 25 अगस्त और 16 सितंबर को दो पत्र लिखकर वरुण गांधी पर आरोप लगाए हैं। इतना ही नहीं, बताया जा रहा है कि 16 सितंबर को भेजे गए लेटर में कुछ तस्वीरें और एक सीडी भी भेजी गई हैं, जिसमें वरुण गांधी की विदेशी वेश्याओं के साथ कथित तौर पर आपत्तिजनक स्थिति में बताया गया है।

वीडियो में देखिए, वरुण गांधी पर लगा आर्म्स डीलर के हनी ट्रैप में फंसने का आरोप

Read Also: जब मां के जन्‍मदिन पर वरुण गांधी ने मेनका को दिया था क्‍यूट सरप्राइज, कहा- थैंक यू

क्या बोले वरुण गांधी:

इन गंभीर आरोपों पर बोलते हुए वरुण गांधी ने इन्हें साफतौर पर नकार दिया है। उन्होंने कहा कि यह बिलकुल बकवास है और अगर इन आरोपों में एक फीसदी भी सच्चाई हुई तो वह राजनीति से संन्यास ले लेंगे। उन्होंने आगे कहा, “जितने भी सबूत पेश किए गए हैं उनमें किसी से भी साबित नहीं होता कि मैंने किसी भी दस्तावेज को अभिषेक वर्मा को भेजा है।” वरुण के मुताबिक वह पिछले 15 साल से भी ज़्यादा वक्त से अभिषेक वर्मा से नहीं मिले हैं। उन्होंने कहा कि संसदीय रक्षा समिति की जिन बैठकों का जिक्र सी. एडमंड्स एलेन ने किया है उनमें उन्होंने शिरकत ही नहीं की थी, और महिलाओं के साथ दिखाई गई तस्वीरें भी असली नहीं हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 21, 2016 8:40 am

सबरंग