ताज़ा खबर
 

बागी विधायकों के मामले में सुनवाई 18 को

नैनीताल हाई कोर्ट का दो सदस्यीय खंडपीठ कांग्रेस के नौ बागी कांग्रेसी विधायकों के मामले में अब 18 अप्रैल को सुनवाई करेगा। शुक्रवार को हाईकोर्ट में बागी विधायकों को लेकर सुनवाई होनी थी।
Author देहरादून | April 9, 2016 04:34 am
(File Pic)

नैनीताल हाई कोर्ट का दो सदस्यीय खंडपीठ कांग्रेस के नौ बागी कांग्रेसी विधायकों के मामले में अब 18 अप्रैल को सुनवाई करेगा। शुक्रवार को हाईकोर्ट में बागी विधायकों को लेकर सुनवाई होनी थी। लेकिन बागियों के वकील विकास बहुगुणा ने अदालत से अपना पक्ष रखने के लिए समय मांगा। बहुगुणा ने अदालत में यह तर्क दिया कि उनके वरिष्ठ वकील जिरह करने के लिए अदालत में उपस्थित नहीं हो पाए हैं। इस पर न्यायाधीश केएन जोसफ और न्यायाधीश वीके बिष्ट ने बागी कांग्रेसी विधायकों के वकील को अपना पक्ष रखने के लिए 18 अप्रैल का समय दे दिया।

रावत सरकार की संसदीय कार्यमंत्री रही इंदिरा ह्रदयेश ने कांग्रेसी के बागी विधायकों के खिलाफ याचिका दायर की थी। पिछले दिनों नैनीताल हाईकोर्ट के एकल पीठ के जज यूसी ध्यानी ने 31 मार्च को विधानसभा में हरीश रावत को बहुमत साबित करने के साथ-साथ कांग्रेस के बागी विधायकों को भी मतदान में हिस्सा लेने की अनुमति दे दी थी।

इसके खिलाफ हरीश रावत ने खंडपीठ के न्यायाधीश केएन जोसफ और न्यायाधीश वीके बिष्ट के सामने अपील की थी। दो सदस्यीय खंडपीठ ने न्यायाधीश यूसी ध्यानी के एकल पीठ के फैसले पर रोक लगा दी थी।

शुक्रवार को हाई कोर्ट की कार्रवाई पर कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता मथुरा दत्त जोशी ने कहा कि भाजपा और बागी कांग्रेसी विधायक मामले को लटकाने के लिए न्यायालय का समय जाया कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि हमें पूरी उम्मीद है कि हाई कोर्ट का फैसला हमारे पक्ष में आएगा। वहीं कांग्रेस बागी विधायकों के नेता सुबोध उनियाल ने कहा कि न्यायालय हमारे साथ न्याय करेगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.