ताज़ा खबर
 

उत्‍तर प्रदेश: घड़ी चुराते पकड़े गए शख्‍स से पूछी जाति, दलित बताया तो मार डाला

शिकायत में कहा गया है कि दुकानदार ने अवनीश से उसकी जाति पूछती और दलित बताने पर उसे पीटना शुरू कर दिया।
Author लखनऊ | August 11, 2016 12:05 pm
इस तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्‍मक तौर पर किया गया है। (Source: Agency)

उत्‍तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में एक दलित युवक की पीट-पीटकर हत्‍या करने का मामला सामने आया है। 22 वर्षीय युवक पर एक दुकानदार और उसके साथियों ने एक मेले में लगाए गए स्‍टॉल से घड़ि‍यां चुराने का आरोप लगाया था। FIR के अनुसार, पहले आरोपियों ने अवनीश (पीड़‍ित) को पकड़ा। फिर उससे उसकी जाति पूछी। जब उसने कहा कि वह दलित है, तो कथित तौर पर अवनीश को पीटा गया और एक डंडे से सिर पर वार किया गया। चोट की वजह से उसकी मौत हो गई। अवनीश के पड़ोसी और शिकायतकर्ता, 14 वर्षीय प्रसून को उसे बचाने की कोशिश में चोटें आई हैं। बुधवार को पुलिस ने इस मामले में दुकानदार पुष्‍पेन्‍द्र सिंह और संजीव वर्मा को गिरफ्तार किया है। बताया जाता है कि घड़‍ियां सिंह की दुकान से चोरी हुई थीं। दोनों को गुरुवार (11 जुलाई) को अदालत के सामने पेश किया जाएगा। पुलिस अवनीश की पिटाई करने वाले दो अन्‍य आरोपियों की तलाश कर रही है।

गोला पुलिस स्‍टेशन प्रभारी अशोक पांडेय ने कहा कि अवनीश और प्रसून सोवार रात को गोला गोकर्णनाथ मंदिर और भूतनाथ मेला जाने के लिए निकले थे। पांडेय के मुताबिक, प्रसून ने उन्‍हें बताया है कि वह और अवनीश रात करीब दो बजे मेले के एक स्‍टॉल पर घड़ी खरीदने के लिए रुके। घड़‍ियां देखते वक्‍त कथित तौर पर अवनीश ने तीन घड़‍ियां उठाकर जेब में रख लीं। लेकिन उसे सिंह ने देख लिया और गालियां देना शुरू कर दिया। जल्‍द ही बाकी दुकानदार भी अवनीश की पिटाई में शामिल हो गए। लेकिन अवनीश समझाने की कोशिश करता रहा कि उसने घड़‍ियां जेब में रखीं और वह उसका पैसा देने ही जा रहा था जब पुष्‍पेन्‍द्र की नजर उसपर पड़ी। एेसा प्रसून ने अपनी शिकायत में लिखा है। शिकायत में कहा गया है कि दुकानदार ने अवनीश से उसकी जाति पूछती और दलित बताने पर उसे पीटना शुरू कर दिया।

READ ALSO: ‘मुझे गोली मार लो, दलितों को नहीं…’ वाले बयान पर घिर गए PM मोदी, लोगों ने कहा- दिल जुमला-जुमला हो गया

प्रसून ने पुलिस को बताया कि उसने बीच-बचाव करने की कोशिश की तो उसे भी पीटा गया, वह उनसे जान बचाने के लिए भाग गया। आरोपियों ने अवनीश को वहीं बेहोश छोड़ दिया। बाद में, कुछ दु‍कानदार अवनीश को जिला अस्‍पताल लेकर आए, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। मामले में चार के खिलाफ गैर-इरादतन हत्‍या और SC/ST (अत्याचार निवारण) एक्‍ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. M
    Mangesh Patil
    Aug 11, 2016 at 1:06 pm
    भैया हिन्दू धर्म तो सर्व समावेशक है न फिर ये मंदिर में दलित को जिन्दा जलना ...जान से मर डालना ...पानी मगे तो मारने ये कैसे चलता है ???/
    (0)(0)
    Reply
    1. i
      indian(ncr)
      Aug 11, 2016 at 6:18 am
      मीडिया झूठी ख़बरें छाप कर कया साबित कर रहा है क्या यदि व्यक्ति जो अपराधी है यदि वोह दलित या मुसलमान या पिछड़े वर्ग है तो उसे सारे अपराध करने की छूट है मीडिया तमिलनाडु की खबर क्यों नहीं दिखता जिसमें दलित वर्ग के लड़कों ने सवर्ण के लड़कों से मारपीट के और सवर्ण लड़कियों ले साथ छेड़छाड़ भी की अब मुद्दा यह है कया पीड़ित और अपराधी के जाती बताना जरूरी हो गया है
      (2)(0)
      Reply
      1. M
        manendra singh
        Aug 12, 2016 at 6:11 am
        एक बार दलित ने पलट कर वार कर दिया तो फट गई, सदियों से जो कर रहे थे तब तुम्हे बड़ा मजा आ रहा था.
        (0)(0)
        Reply
      2. M
        mathpal tara
        Aug 11, 2016 at 7:48 am
        इंडिया में अगर आप दलित या अल्पशकक हैं तो आप कुछ भी कर सकते हैं... पूरी कायनात आपको बचाने खड़ी मिलेगी.....
        (1)(0)
        Reply
        1. M
          Mangesh Patil
          Aug 11, 2016 at 1:06 pm
          मनुवादी सोच
          (1)(0)
          Reply
          1. M
            manendra singh
            Aug 12, 2016 at 6:10 am
            लो भाई अब कोई जाति पूछकर मार भी डाले, तो खबर नहीं छपनी चाहिए, दलितों ने तो सदियों से अत्याचार ा है, क्या उसे जिन्दा किया जा सकता है,
            (0)(0)
            Reply