December 04, 2016

ताज़ा खबर

 

अमेरिकी राजदूत ने कहा- 2030 तक भारत लगभग हर फील्ड में होगा दुनिया में सबसे आगे

भारत से लगभग 11 लाख लोगों ने अमेरिका की यात्रा की है। पिछले साल 10 लाख अमेरिकी लोगों ने भारत की यात्रा की जो अभी तक की सबसे अधिक संख्या है।

Author रायपुर | October 26, 2016 17:40 pm
भारत में अमेरिकी राजदूत रिचर्ड वर्मा। (फाइल फोटो)

भारत में संयुक्त राज्य अमेरिका के राजदूत रिचर्ड वर्मा ने कहा है कि वर्ष 2030 तक भारत लगभग प्रत्येक क्षेत्र में दुनिया का नेतृत्व करेगा। छत्तीसगढ़ आए अमेरिका के राजदूत ने मंगलवार (25 अक्टूबर) को यहां रायपुर में आईआईटी और आईआईएम के छात्रों को संबोधित करते हुए कहा कि वह देख रहे हैं कि आने वाला भविष्य भारत के लिए बेहतर है और वर्ष 2030 तक भारत लगभग प्रत्येक क्षेत्र में दुनिया का नेतृत्व करेगा। वर्मा ने कहा कि भारत एक ऐसा देश है जहां मध्यम वर्ग सबसे बड़ा होगा। बड़ी संख्या में कॉलेज के छात्र होंगे। अधिक पेटेंट धारक होंगे तथा यहां बुनियादी सुविधाओं, शहरीकरण और नए खोजों में बड़े पैमाने पर निवेश होगा। यह सब भारत को आने वाले समय में आगे लेकर जाएगा। उन्होंने कहा कि दुनिया के लोग भारत की तरक्की को लेकर उत्साहित हैं और वे यह जानना चाहते हैं कि यहां क्या हो रहा है। यही कारण है कि वह भारत और अमेरिका के रिश्ते को लेकर उत्साहित हैं। प्रत्येक मुद्दे पर सहमति नहीं हो सकती है कि लेकिन महत्वपूर्ण कार्यों को साथ किया जा सकता है।

भारत और अमेरिका के रिश्तों को लेकर आशावादी वर्मा ने कहा कि पिछले दो वर्षों में भारत और अमेरिका के रिश्ते सबसे अच्छे रहे हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति चाहते हैं कि भारत एक मजबूत, समृद्ध और सफल वैश्विक शक्ति बने। उन्होंने कहा कि पिछले दो वर्षों में भारत और अमेरिका में बदलाव आया है। दोनों देश अब साथ आ रहे हैं। यदि आप पूछेंगे कि अमेरिका के राष्ट्रपति भारत को लेकर क्या महसूस करते हैं, तो उनका जवाब होगा कि भारत मजबूत और समृद्ध देश बने। वर्मा ने कहा कि भारत और अमेरिका ने साथ मिलकर कई महत्वपूर्ण कार्य किए हैं। इस दौरान दोनों देशों के मध्य 110 अरब डॉलर का दोतरफा व्यापार हुआ है। भारत से लगभग 11 लाख लोगों ने अमेरिका की यात्रा की है। पिछले साल 10 लाख अमेरिकी लोगों ने भारत की यात्रा की जो अभी तक की सबसे अधिक संख्या है। वहीं 1.40 लाख भारतीय छात्र पिछले वर्ष अमेरिका में उच्च शिक्षा प्राप्त कर रहे थे तथा पिछले वर्ष 15 अरब डॉलर का रक्षा व्यापार हुआ।

वर्मा ने कहा कि दोनों देश शांति, समृद्धि, जलवायु परिवर्तन और रक्षा जैसे उन मामलों पर और बेहतर कार्य कर सकते हैं जिनसे लोगों के जीवन पर बड़ा प्रभाव पड़ता है। अमेरिकी राजदूत ने कहा कि वह भारत और अमेरिका के संबंधों को लेकर अत्यंत आशावान हैं। वह इन दोनों देशों के संबंधों को ऊपर और नीचे जाने वाले रोलर कोस्टर की तरह नहीं देख रहे हैं। वह देख रहे हैं कि भारत और अमेरिका के संबंध नीचे नहीं बल्कि ऊपर की ओर ही जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अमेरिका दौरों ने संबंधों को और मजबूत किया है। उन्होंने मोदी के अमेरिकी संसद में दिए गए भाषण का हवाला दिया जहां मोदी ने कहा था कि दोनों देशों ने अपनी ऐतिहासिक झिझक को दूर किया है और भारत अमेरिका को अपना अपरिहार्य साथी बनाने की राह पर है। उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया कि भारत और अमेरिका पूरी दुनिया में शांति और सद्भाव को सुनिश्चित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं।

इससे पहले वर्मा ने छत्तीसगढ़ यात्रा के दौरान मुख्यमंत्री रमन सिंह और राज्य के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ मुलाकात की तथा अमेरिका-भारत सहयोग और राज्य में विकास पर चर्चा की। राज्य के वरिष्ठ अधिकारियों ने बताया कि वर्मा ने इस दौरान कहा कि राजनीतिक स्थिरता और सभी क्षेत्रों में निरंतर विकास छत्तीसगढ़ की सबसे बड़ी विशेषता है। यह स्थिति छत्तीसगढ़ में अमेरिकन कम्पनियों का व्यापार बढ़ाने के लिए काफी अनुकूल है। वे अधिक से अधिक अमेरिकन कम्पनियों को छत्तीसगढ़ में उच्च शिक्षा, नवोन्मेष, स्मार्ट सिटी, फार्मास्युटिकल, आई.टी. और चिकित्सा के क्षेत्र में निवेश करने के लिए प्रोत्साहित करेंगे। इस दौरान मुख्यमंत्री ने रिचर्ड वर्मा को छत्तीसगढ़ में व्यापार और उद्योगों के विकास की संभावनाओं और उपलब्ध अवसरों की विस्तार से जानकारी दी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 26, 2016 5:40 pm

सबरंग