ताज़ा खबर
 

उत्तर प्रदेश के गुंडों को योगी आदित्य नाथ की चेतावनी- अपना भविष्य खुद सोच लें अपराधी

सीएम योगी आदित्य नाथ ने पद संभालते ही कहा था कि अपराधी या यूपी छोड़ दें या फिर अपराध छोड़ दें।
उत्‍तर प्रदेश विधानसभा में सीएम योगी आदित्‍य नाथ। (PTI Photo)

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने शुक्रवार (19 मई) को बदमाशों, गुंडों और असामाजिक तत्वों को कड़ी चेतावनी दी है। उन्होंने कहा विधानसभा में कहा कि अपराधी खुद तय कर लें कि उनका भविष्य क्या होगा। सीएम ने कहा कि अपराध और अपराधियों को संरक्षण देने वाले तत्वों से सरकार निर्ममता से निपटेगी। उत्तर प्रदेश में बढ़ते अपराध की घटनाओं के सीएम ने सदन को भरोसा दिलाया कि निर्दोष किसानों, व्यापारियों और नागरिकों के साथ सरकार कोई भी जुर्म बर्दाश्त नहीं करेगी। सीएम ने अपारधियों की ओर इशारा करते हुए कहा कि कुछ लोगों की पुरानी आदतें जल्द छुटने वाली नहीं हैं, लेकिन सरकार और पुलिस के पास इसका जवाब है। बता दें कि सीएम योगी आदित्य नाथ ने पद संभालते  ही कहा था कि अपराधी या यूपी छोड़ दें या फिर अपराध छोड़ दें।

सीएम योगी आदित्य नाथ ने अपराधियों को पनाह देने वाले लोगों को भी चेतावनी दी और कहा कि ऐसे लोगों के लिए यूपी में कोई जगह नहीं है और इनसे हम निर्ममता से निपटेंगे। सीएम ने वादा किया कि उनका मकसद यूपी में भयमुक्त समाज की स्थाना करना है और इस समाज में अपराधियों के लिए कोई जगह नहीं है। योगी आदित्य नाथ ने विपक्ष पर भी हमला बोला और कहा कि राज्य में 10 साल तक शासन करने वाले लोग उनसे दो महीने में हिसाब मांग रहे हैं। सीएम ने कहा कि ये सरकार यूपी के सभी धर्मों और समुदाय की है, लिहाजा प्रशासनिक मशीनरी अपराध से निपटने में किसी के साथ भेदभाव नहीं करेगी।

बता दें कि यूपी में पिछले कुछ दिनों में अपराध की घटनाएं जबर्दस्त रुप से बढ़ी हैं। मथुरा में अपराधियों द्वारा सरे आम दो लोगों के मर्डर से सनसनी मची हुई है। मथुरा में बेलगाम अपराधी पहले एक ज्वैलर के दुकान में लूट के इरादे से घुसे और जब वहां मौजूद लोगों ने इसका विरोध किया तो लुटेरों ने 4 लोगों को गोली मार दी, इनमें से 2 लोगों की मौत हो गयी। सीएम योगी आदित्य नाथ ने इस घटना के लिए पुलिस को फटकार लगायी है और अपराधियों को जल्द से जल्द गिरफ़्तार करने का आदेश दिया है।

गोरखपुर दंगा केस: हाईकोर्ट ने रोका क्लोजर रिपोर्ट पर फैसला, योगी सरकार ने नहीं दी थी केस पर इजाजत

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.