ताज़ा खबर
 

नसीहत के बावजूद केंद्रीय मंत्रियों ने फूल देकर किया प्रधानमंत्री का स्‍वागत, नरेंद्र मोदी ने मुस्‍कुराकर ले भी लिया

अभी पिछले महीने (25 जून, 2017) ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 'मन की बात' के 33वें संस्करण में भाजपा शासित राज्यों सरकारों से फूलों की जगह किताबें भेंट किए जाने की अपील की थी।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को फूल देते केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी। (फोटो सोर्ट पीटीआई)

अभी पिछले महीने (25 जून, 2017) ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘मन की बात’ के 33वें संस्करण में भाजपा शासित राज्यों सरकारों से फूलों की जगह किताबें भेंट किए जाने की अपील की थी। इस दौरान पीएम ने कहा कि बेहतर हो की फूलों की बजाय गणमान्य अतिथियों का स्वागत पुस्तक देकर किया जाए। जिसके बाद उत्तराखंड राज्य सरकार ने अपने नए फैसले के तहत कहा कि सूबे में किसी भी गणमान्य व्यक्ति का स्वागत फूलों के गुलदस्ते से नहीं किया जाएगा। मामले में 27 जून,(2017) को मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने आदेश जारी किया और कहा कहा, ‘उत्तराखंड में अतिथियों का सम्मान फूलों की जगह किताबें भेंट कर किया जाएगा।’ तब मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम ‘मन की बात’ से प्रभावित होकर ये फैसला लिया। वहीं आज (17 जुलाई, 2017) जो तस्वीर सामने आई है उससे लग रहा है कि भाजपा नेताओं के साथ केंद्रीय मंत्रियों पर भी पीएम मोदी के ‘मन की बात’ कार्यक्रम का कोई असर नहीं पड़ा है। सामने आई तस्वीर राष्ट्रपति मतदान के समय की है। जहां प्रधानमंभी नरेंद्र मोदी अन्य केंद्रीय मंत्रियों के साथ खड़े हैं। इस दौरान खुद केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी पीएम मोदी का फूल भेंट कर स्वागत कर रहे हैं। हालांकि इस दौरान प्रधानमंत्री थोड़ा मुस्कुराते हुए फूल ले भी लिए।

वहीं एएनआई की खबर के अनुसार गृह मंत्रालय ने सभी राज्य को सरकार को कहा आज (17 जुला, 2017) को कहा कि देश में कहीं भी प्रधानमंत्री का स्वागत फूल देकर ना किया जाए। हालांकि इस दौरान मंत्रालय ने कहा कि खादी रूमाल के बीच में फूल या किताब देकर अतिथि का स्वागत किया जा सकता है। गृह मंत्रालय ने मामले में सख्त निर्देश देते हुए कहा कि सभी राज्य सरकारे और संघ शासित प्रदेश कड़ाई निर्देशों का पालन करें।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on July 17, 2017 5:03 pm

  1. No Comments.
सबरंग