ताज़ा खबर
 

केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने पौधारोपण के लिए मध्य प्रदेश के सीएम की तारीफ, यूजर्स ने पकड़ी गलती

उमा भारती के इस ट्वीट पर लोगों ने टिप्पणी करते हुए गलती की ओर इशारा किया। घनश्याम शुक्ला नाम के यूजर ने लिखा- मैम 6 लाख नहीं 6 करोड़ पेड़।
केंद्रीय मंत्री उमा भारती। (FILE PHOTO)

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के आह्वान पर रविवार को लोगों ने पूरे राज्य भर में करोड़ों की संख्या में पौधे लगाए। मुख्यमंत्री ने ग्लोबल वार्मिंग की वजह से धरती के बढ़ते तापमान पर चिंता व्यक्त करते हुए पौधारोपण करने के लिए अपील की थी। जिसके बाद 6 करोड़ से ज्यादा पेड़ लगाए गए। शिवराज के अगुवाई में हुए इस कार्यक्रम की तारीफ की जा रही है। राज्य की पूर्व मुख्यमंत्री और केंद्रीय जल संसाधन मंत्री उमा भारती ने भी उनके इस प्रयास की तारीफ की। हालांकि इस दौरान उन्होंने एक गलती भी कर दी। जिसके बाद लोगों की ओर से इस पर प्रतिक्रिया दी गई। उमा भारती ने अपने ट्वीट में लिखा- “मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को नर्मदा के किनारे एक ही दिन में 6 लाख पेड़ लगाने पर अभिनंदन। वो सिर्फ मुख्यमंत्री नही राजऋषि हैं।”

उमा भारती के इस ट्वीट पर लोगों ने टिप्पणी करते हुए गलती की ओर इशारा किया। घनश्याम शुक्ला नाम के यूजर ने लिखा- मैम 6 लाख नहीं 6 करोड़ पेड़। वहीं, विक्रम पवार नाम के शख्स ने लिखा- एक 6 लाख तो अकेले ओंकारेश्वर में लगे हैं यह आंकड़ा 6 करोड़ है।” इसमें उन्होंने यही संदेश दिया कि नर्मदा को बचाने के लिए पेड़ लगाने होंगे, क्योंकि यह नदी किसी ग्लेशियर से नहीं, बल्कि पेड़ों की जड़ों से रिसने वाले पानी से प्रवाहमान होती है। मुख्यमंत्री के इसी आह्वान पर रविवार को नर्मदा बेसिन में छह करोड़ से ज्यादा पौधे रोपे गए। मुख्यमंत्री ने हर व्यक्ति से एक पेड़ लगाने का आग्रह किया है, ताकि मध्यप्रदेश का नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड में दर्ज कराया जा सके।

बता दें कि ग्लोबल वार्मिंग को लेकर भारत समेत अधिरकतर विकासशील और विकासित देश चिंतिंत है। दूसरी ओर सरदार सरोवर की ऊंचाई बढ़ने से नर्मदा नदी के पानी के डूब में आने वाले इलाके में लाखों पेड़ों की कटाई की तैयारी चल रही है, जिससे लोगों में बेचैनी है। सरकार नर्मदा नदी को प्रवाहमान बनाने के लिए छह करोड़ से ज्यादा पौधे नर्मदा बेसिन में लगाए।

ममता बनर्जी के 6 विधायक रामनाथ कोविंद के पक्ष में कर सकते हैं मतदान

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.