ताज़ा खबर
 

Rio में भारतीय बेटियों का कमाल, ट्रंप की जीत, पाकिस्तान के चायवाले और नोटबंदी के लिए याद रखा जाएगा 2016

साल 2016 में जहां कई मुद्दों को लेकर सोशल मीडिया पर विवाद पैदा हुआ तो वहीं एक पोस्ट के जरिए पाकिस्तान के एक अदने से चाय वाले को हीरो बनने का मौका मिला। इस साल ट्रंप का अमेरिकी चुनाव में जीतना, ISRO के सफल परीक्षण, मोदी की नोटबंदी का फैसला और रियो ओलंपिक अहम मुद्दे रहे।
Author नई दिल्ली | December 26, 2016 18:01 pm
साल 2016 में खास रहे ये मुद्दे

साल 2016 में जहां कई मुद्दों को लेकर सोशल मीडिया पर विवाद पैदा हुआ तो वहीं एक पोस्ट के जरिए पाकिस्तान के एक अदने से चाय वाले को हीरो बनने का मौका मिला। इस साल ट्रंप का अमेरिकी चुनाव में जीतना, ISRO  के सफल परीक्षण, मोदी की नोटबंदी का फैसला और रियो ओलंपिक अहम मुद्दे रहे। इसके अलावा रियो ओलंपिक में भारत की बेटियों ने देश का नाम विश्व में ऊंचा किया। इस दौरान भारत के कई बड़े कद वाले खिलाड़ियों ने विश्वस्तरीय प्रतियोगिताओं में देश को निराश किया तो वहीं, कई ऐसे भी खिलाड़ी उभरकर सामने आए जिन्होंने अपने प्रदर्शन से भारतीय खेल प्रेमियों को गौरवान्वित होने का मौका दिया। साल 2016 खेलों में उपलब्धि के लिहाज से भारत के लिए मिला-जुला रहा। भारत के कई बड़े कद वाले खिलाड़ियों ने विश्वस्तरीय प्रतियोगिताओं में देश को निराश किया तो वहीं, कई ऐसे भी खिलाड़ी उभरकर सामने आए जिन्होंने अपने प्रदर्शन से भारतीय खेल प्रेमियों को गौरवान्वित होने का मौका दिया। रियो ओलंपिक में ही कई नए खिलाड़ियों ने विश्व पटल पर अपना लोहा मनवाया तो दिग्गजों ने निराश किया।

साल 2016 में भारत के लिए खेलों में सबसे बड़ी उपलब्धि बैडमिंटन की नई सनसनी पीवी सिंधु रहीं। सिंधु ने इस साल रियो ओलंपिक में रजत पदक हासिल कर इतिहास रच दिया। सिंधु इस साल महिला एकल में अपनी सर्वोच्च 7वीं रैंकिंग भी हासिल की, फिलहाल सिंधु बीडब्ल्यूएफ रैंकिंग में दसवें पायदान पर हैं। सिंधु को इस साल देश के सर्वोच्च खेल पुरस्कार ‘राजीव गांधी खेल रत्न’ से भी नवाजा गया है।

pv-sindhu

भारत को रियो ओलंपिक का पहला पदक दिलाया हरियाणा की साक्षी मलिक ने। साक्षी ने 58 किलो ग्राम भार वर्ग के मुकाबले में कांस्य पदक जीता। साक्षी के लिए ये पदक आसान नहीं था। साक्षी को रेपचेज के पहले राउंड में किर्गिस्तान की पहलवान एसुलू तिनिवेकोवा से 0-5 से हार का सामना करना पड़ा, दूसरे राउंड की शुरुआत में पिछड़ने के बाद साक्षी ने जबरदस्त वापसी की और 8-5 से मैच जीतकर इतिहास रच दिया। साक्षी को खेलों में उनके योगदान के लिए इस साल ‘राजीव गांधी खेल रत्न’ पुरस्कार से नवाजा गया।

sakshi-malik

भारत की टेनिस स्टार सानिया मिर्जा ने इस साल ऑस्ट्रेलियन ओपन के महिला युगल मुकाबले में जीत दर्ज की।सानिया मिर्जा और स्विटजरलैंड की मार्टिना हिंगिस की जोड़ी ने चेक गणराज्य की सातवीं वरियता प्राप्त जोड़ी एंड्रिया लावाकोवा और लूसी हराडेका को फाइनल मुकाबले में हराया। महिला युगल में सानिया मिर्जा के करियर का यह तीसरा ग्रैंड स्लैम खिताब था। सानिया मिर्जा को खेलों में योगदान के लिए इस साल पद्म भूषण सम्मान से नवाजा गया। टाइम मैगजीन ने उन्हें साल 2016 के दुनिया के 100 सबसे प्रभावशाली लोगों की सूची में भी शामिल किया।

sania-mirza

इसी साल ISRO ने भी कई सफल परीक्षण किए। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन ने इस साल भारतीय क्षेत्रीय दिशासूचक उपग्रह प्रणाली (आईआरएनएसएस) के सभी सात उपग्रह मार्च 2016 तक कक्षा में स्थापित किए। इसरो के अध्यक्ष किरण कुमार ने कहा कि इसरो का उद्देश्य यह भी है कि उपग्रहों से प्राप्त होने वाले संकेतों को सिर्फ भारत और आसपास के देशों को ही नहीं बल्कि पूरे विश्व को उपलब्ध करवाया जाए। उन्होंने कहा कि ‘गगन’ पेलोड के साथ जीसैट-15 उपग्रह 10 नवंबर को प्रक्षेपित गया। इस साल अगस्त में भारत का पहला ग्लोबल नैविगेशन सिस्टम नाविक (नैविगेशन विथ इंडियन कॉन्स्टलेशन) शुरू हो गया। ‘नाविक’ सात सैटेलाइटकी मदद से चलता है। ये अमेरिकी जीपीएस जैसा है लेकिन भारत में ये जीपीएस की तुलना में ज्यादा सटीक तरीके से कारगर होगा। इसके साथ ही भारत दुनिया के उन चुनिंदा देशों में शामिल हो गया जिनके पास अपना नैविगेशन सिस्टम है। इसरो ने इस साल मई में पहला भारत-निर्मित अंतरिक्ष यान अंतरिक्ष में भेजा। भारत ने इस अतंरिक्ष यान को भारत में बने ‘रीयूजेबल लॉन्च वेहिकल-टेक्नोलॉजी डेमोनस्ट्रेटर’ से भेजा था। इसरो ने एक रॉकेट से 20 सेटेलाइट एक साथ अतंरिक्ष में भेजकर अपना पुराना रिकॉर्ड तोड़ा। इससे पहले 2008 में भारत ने एक साथ 10 सेटेलाइट अतंरिक्ष में भेजे थे। हालांकि एक साथ सबसे अधिक सेटेलाइट अंतरिक्ष में भेजना का विश्व रिकॉर्ड रूस के पास है जिसने 2014 में एक साथ 33 सेटेलाइट अंतरिक्ष में भेजे थे।

isro-pslv-620x400

डोनाल्ड ट्रंप ने अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव जीत लिया है। उन्होंने डेमोक्रेटिक उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन के हराकर यह चुनाव जीता है। डोनाल्ड ट्रंप अब अमेरिका के 45वें राष्ट्रपति होंगे। ट्रंप ने चुनाव जीतने के बाद अपने संबोधन में कहा है कि यह एकजुट जनता के तौर पर साथ आने का समय है। मैं हमारी सरजमीं के प्रत्येक नागरिक से वादा करता हूं कि मैं सभी अमेरिकियों का राष्ट्रपति बनूंगा। ट्रंप ने प्रचार मुहिम मुख्यालय में अपने समर्थकों को संबोधित किया। ट्रंप ने अपनी चुनाव प्रचार मुहिम के मुख्यालय में अपने समर्थकों से कहा, ‘‘यह हम सब के लिए एकजुट जनता के रूप में साथ आने का समय है। मैं हमारी सरजमीं के हर नागरिक से वादा करता हूं कि मैं सभी अमेरिकियों का राष्ट्रपति बनूंगा।’ ट्रंप ने बताया कि हिलेरी ने उन्हें फोन करके जीत की बधाई दी। उन्होंने कहा, ‘‘मैं उन्हें उनकी शानदार मुहिम पर बधाई देता हूं।

trump

इसी साल 8 नवंबर की रात से 1000 और 500 के नोट बंद कर दिए गए। मोदी सरकार का यह फैसला कालेधन पर लगाम लगाने के लिए लिया गया। कालेधन के खिलाफ लड़ाई को आगे बढ़ाते हुए भारत सरकार के 500 और 1,000 रुपए के बड़े नोटों को चलन से वापस लेने के फैसले का यूरोपीय संघ ने भी स्वागत किया है। यूरोपीय संघ ने कहा है, कि वित्तीय प्रणाली को कालेधन से मुक्त करने और इसमें पारदर्शिता लाने से भारतीय अर्थव्यवस्था को को मजबूती मिलेगी और वृद्धि की रफ्तार तेज होगी। यूरोपीय आयोग के उपाध्यक्ष जिर्की कटाईनेन ने वित्तीय प्रणाली को साफ सुथरा बनाने के भारत सरकार के प्रयासों की सराहना की है। इसके अलावा वस्तु एवं सेवाकर प्रणाली लागू करने और कई अन्य सुधार उपायों को तेज करने के लिए भारत सरकार की सराहना की है।

demonetisation

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.