December 03, 2016

ताज़ा खबर

 

मोहाली में 42 लाख मूल्य के 2000 के नकली नोट के साथ एमबीए छात्रा समेत तीन गिरफ्तार

लिस ने तीन अभियुक्तों को तब गिरफ्तार किया जब वो लाल बत्ती लगी एक ऑडी कार में जा रहे थे। पुलिस के अनुसार गिरफ्तार लोगों के दो सहयोगी मौके से भागने में सफल रहे।

2000 रुपए के नोट दिखाता एक युवक। (Photo Source: AP)

मोहाली में बुधवार (30 नवंबर) को एक एमबीए छात्रा और उसके कज़न समेत तीन को पुलिस ने 42 लाख मूल्य के 2000 के जाली नोटों के साथ गिरफ्तार किया है। पुलिस के अनुसार नकली नोटों के साथ गिरफ्तार विशाखा वर्मा कपूरथला की रहने वाली है और वो मणिपुर से एमबीए कर रही है। विशाखा के साथ उसके कज़न अभिनव वर्मा और प्रापर्टी डीलर सुमन नागपाल को भी गिरफ्तार किया गया है। अभिनव बीटेक का छात्र है। पुलिस ने तीन अभियुक्तों को तब गिरफ्तार किया जब वो लाल बत्ती लगी एक ऑडी कार में जा रहे थे। पुलिस के अनुसार गिरफ्तार लोगों के दो सहयोगी मौके से भागने में सफल रहे।

मोहाली के एसपी परमिंदर सिंह ने पत्रकारों के बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा नोटबंदी की घोषणा के बाद जालसाजों ने 2000 के नकली नोट छापने शुरू कर दिए हैं। पुलिस के अनुसार अभियुक्तों के पास से बरामद नकली नोट काफी अच्छी गुणवत्ता के हैं और असली नोटों से काफी मिलते जुलते हैं। पुलिस के अनुसार लाल बत्ती लगी गाड़ी में सभी अभियुक्त किसी को ये नोट देने के लिए जा रहे थे। पुलिस को जब इसकी खुफिया सूचना मिली तो उनसे उन्हें धर दबोचा।

पुलिस को शुरुआती जांच में पता चला है कि लुधियाना के रहने वाला एक कारोबारी बंद किए जा चुके 500 और 1000 के नोट बदलना चाहता था। अभियुक्तों ने उसे 30 प्रतिशत कमीशन पर पुराने नोट के बदले 2000 के नए नोट देने की बात कही थी। पुलिस के अनुसार, “सौदा पक्का हो जाने के बाद वो कारोबारी को नकली नोट देने जा रहे थे।” अभियुक्तों के खिलाफ पुलिस ने भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की संबंधित धारओं के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है। स्थानीय अदालत ने सभी अभियुक्तों को एक दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आठ नवंबर को 500 और 1000 के नोट उसी रात 12 बजे से बंद किए जाने की घोषणा की थी। पीएम मोदी की घोषणा के अनुसार बंद किए गए नोट 30 दिसंबर 2016 तक बैंकों और डाकघरों में जमा कराए जा सकते हैं। 500 और 1000 के नोटों को बंद करने से उपजी नकदी की कमी को दूर करने के लिए सरकार ने 10 नवंबर को 2000 और 500 के नए नोट जारी किए। चूंकि नोटबंदी के समय देश में प्रचलित कुल नकद मुद्रा में करीब 86 प्रतिशत नोट 500 और 1000 के नोटों के रूप में थे इसलिए आम जनता को नकदी की कमी का सामना कर पड़ा रहा है।

वीडियोः पेट्रोल पंप, एयर टिकट काउंटर पर 2 दिसबंर के बाद नहीं चलेंगे 500 रुपए के पुराने नोट

वीडियोः  नोटबंदी पर ममता बनर्जी बोलीं- “बच्चे कहते हैं PayTM के लिए दूसरा शब्द PayPM है”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on December 1, 2016 2:10 pm

सबरंग