December 06, 2016

ताज़ा खबर

 

टेक समिट में मिले थेरेसा मे-नरेंद्र मोदी, भारत-ब्रिटेन के बीच कई क्षेत्रों में सहयोग पर बनी सहमति

पीएम मोदी ने ब्रिटेन के साथ हुई बातचीत को सकरात्‍मक बताया है।

भारत-ब्रिटेन टेक समिट में मुलाकात करने पीएम नरेंद्र मोदी व ब्रिटिश पीएम थेरेसा मे। (Source: PIB)

प्रधानमंत्री बनने के बाद ब्रिटिश पीएम थेरेसा मे पहली बार भारत आई हैं। वह सोमवार रात को नई दिल्‍ली पहुंची। भारत दौरे पर उनका कार्यक्रम काफी व्‍यस्‍त है। सोमवार सुबह उन्‍होंने भारत-यूनाइटेड किंगडम टेक समिट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की। इस मौके पर बोलते हुए थेरेसा ने कहा कि भारतीय निवेश से ब्रिटेन की इकॉनमी को विविध बनाने में काफी मदद मिल रही है। उन्‍होंने कहा, ”ब्रिटेन में हम आ‍र्थ‍िक और सामाजिक सुधारों पर काम रहे हैं। हमारी अ‍र्थव्‍यवस्‍था को विविध बनाने में भारतीय निवेश मदद कर रहा है।” थेरेसा ने भारत-ब्रिटेन के रिश्‍तों को बेहद खास बताया। उन्‍होंने कहा, ”भारत और ब्रिटेन के रिश्‍तों में बहुत संभावनाएं हैं, हमारा रिश्‍ता बेहद खास है।” थेरेसा यहां भारत के साथ कई समझौतों को मूर्त रूप देने आई हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने थेरेसा से मुलाकात को ‘सम्‍मान’ बताया है। प्रधानमंत्री मोदी ने टेक समिट में बोलते हुए कहा, ”यह हमारे लिए सम्‍मान की बात है कि आपने यूरोप के बाहर अपने पहले द्विपक्षीय दौरे के लिए भारत को चुना।” पीएम मोदी ने कहा कि ब्रिटेन का हालिया विकास लचीला रहा है। उन्‍होंने कहा, ”ब्रिटेन शैक्षणिक खोजाें और तकनीकी में बेहद आगे है। किफायती स्‍वास्‍थ्‍य सेवाएं, स्‍वच्‍छ ऊर्जा, तकनीक जैसे क्षेत्रों की वजह से भारत-यूके के बीच व्‍यापार में नई संभावनाएं पैदा हुई हैं।”

वीडियो देख जानिए, मीडिया की भूमिका पर क्‍या सोचते हैं पीएम मोदी: 

पीएम मोदी ने ब्रिटेन के साथ हुई बातचीत को सकरात्‍मक बताया है। उन्‍होंने कहा, ”हम सौर ऊर्जा पर एक स्‍वच्‍छ ऊर्जा शोध एवं विकास केंद्र स्‍थापित करने पर सहमत हुए हैं, इसके अलावा रोगाणुरोधी प्रतिरोध की भी पहल की गई है।” प्रधानमंत्री ने मेक इन इंडिया के जरिए भारत-ब्रिटेन के रिश्‍तों का एक नया अध्‍याय शुरू होने की उम्‍मीद भी जताई।

पीएम ने कहा, ”भारत और यूके को ऐसे शोध पर बल देना चाहिए जिससे वैश्विक चुनौतियों से लड़ा जा सके। हम यह भी आशा करते हैं कि मेक इन इंडिया भारत-यूके द्विपक्षीय रिश्‍तों में अहम पहलू साबित होगा।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 7, 2016 11:01 am

सबरंग