January 20, 2017

ताज़ा खबर

 

अमीरों को खूब पसंद आई पीएम नरेंद्र मोदी की ‘कड़क चाय’; उद्योगपतियों ने की जमकर तारीफ

अंबानी ने मोदी की तारीफ ऐसे समय की है जब विधानसभा चुनावों से पहले मोदी नोटबंदी को गरीबों के हित और अमीरों के खिलाफ लिया गया फैसला बता रहे हैं।

वाइब्रेंट गुजरात समिट को संबोधित करते पीएम नरेंद्र मोदी। (Source: PTI)

ऐसा लगता है कि अमीरों को भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ‘कड़क चाय’ पसंद आ रही है। गुजरात में चल रही ‘वाइब्रेंट गुजरात ग्‍लोबल समिट के दौरान बड़े-बड़े कारोबारियों ने पीएम मोदी की शान में कसीदे पढ़ें। भारत के सबसे अमीर शख्‍स, मुकेश अंबानी ने कहा कि ‘दुनिया के किसी और नेता ने इतने कम समय में इतने सारे लोगों की सोच और व्‍यवहार नहीं बदला है।” अंबानी ने समिट में कहा कि प्रधानमंत्री ‘एक महान परिवर्तनकारी नेता’ हैं जिन्‍होंने पहले गुजरात की सूरत बदली और अब दूरदर्शी कार्यक्रमों के साथ भारत को बदल रहे हैं। उन्‍होंने स्‍वच्‍छ भारत अभियान, डिजिटल इंडिया, मेक इन इंडिया, स्किल इंडिया और स्‍टार्ट अप इंडिया जैसे कार्यक्रमों का जिक्र भी किया। वाइब्रेंट गुजरात के चलते नरेंद्र मोदी ने अपने छवि खासी बेहतर की थी और ‘विकास-पुरुष’ का नाम भी कमाया। अंबानी ने मोदी की तारीफ ऐसे समय की है जब विधानसभा चुनावों से पहले मोदी गरीबी कार्ड खेल रहे हैं और नोटबंदी को गरीबों के हित और अमीरों के खिलाफ लिया गया फैसला बता रहे हैं।

उत्‍तर प्रदेश में 14 नवंबर को एक रैली में, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था, ”मेरा फैसला कड़क था। जब मैं बच्‍चा था, गरीब मुझसे कड़क चाय बनाने को कहते। गरीबों को यह बहुत पसंद है। बचपन से ही, मेरे आदत कड़क चाय बनाने की रही है। यह गरीबों को पसंद आती है।” हालांकि वाइब्रेट गुजरात समिट में उद्योगपतियों की बातें सुनकर कहीं से ऐसा नहीं लगा कि उन्‍हें कड़क चाय पसंद नहीं आई। उल्‍टे, वे पीएम की तारीफों के पुल बांधते नजर आए।

समिट में बोलते हुए मोदी ने कहा था कि डिजिटल टेक्नोलॉजी विकास में तेजी लाती है और सरकार को ठीक और सरल रूप से काम करने में मदद करती है। मोदी ने वहां मौजूद लोगों से कहा, ‘यकीन कीजिए हम लोग दुनिया की सबसे डिजीटल अर्थव्यवस्था बनने की दहलीज पर खड़े हैं।’

मोदी ने कहा कि वैश्विक मंदी के बावजूद भारत ने अच्छी बढ़त हासिल करके दिखाई। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार भारतीय अर्थव्यवस्था में बदलाव के लिए पूरी कोशिश कर रही है। मोदी ने कहा कि ‘मेक इन इंडिया’ वैश्विक स्तर पर उतना बड़ा ब्रैंड बन चुका है जो कि भारत के पास पहले नहीं था। उन्होंने बताया कि भारत निर्माण उद्योग में दुनिया में छठा स्थान रखता है।

नोटबंदी पर सुनिए इस शख्स की कविता:

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on January 11, 2017 3:34 pm

सबरंग