January 17, 2017

ताज़ा खबर

 

सर्जिकल स्ट्राइक से पाकिस्तान में दहशत, POK से भागे 300 आतंकी, PAK सेना के रोकने पर भी नहीं रुके

पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (POK) से आतंकियों द्वारा उनके कैंप खाली करने की खबर हैं।

इंडियन आर्मी का जवान। (फाइल फोटो)

पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (POK) से आतंकियों द्वारा उनके कैंप खाली करने की खबर हैं। एबीपी न्यूज की खबर के मुताबिक, बॉर्डर से सटे इलाकों पर कैंप लगाकर ट्रेनिंग कर रहे आतंकी अब वहां नहीं रुकना चाहते। खबर के मुताबिक, सर्जिकल स्ट्राइक के बाद आतंकियों में भारतीय सेना का खौफ इतना ज्यादा है कि वहां ट्रेनिंग ले रहे 500 में से 300 आंतकी भाग खड़े हुए। वहां पर कुल 24 आतंकी कैंपों से आतंकियों के भागने की खबर है। खबर में बताया गया कि 26/11 जैसे निंदनीय हमले को अंजाम देने वाले आतंकी कसाब को ट्रेनिंग देने वाला कैंप भी खाली हो गया है। वह कैंप मुजफ्फराबाद के मानशेरा में था। कसाब ने खुद उस कैंप में ट्रेनिंग लेने की बात कबूली थी। खबर के मुताबिक, पाकिस्तानी सेना ने बंदूक की नोंक पर आतंकियों को भारतीय सेना का मुकाबला करने के लिए रोकना चाहा, लेकिन वे फिर भी नहीं रुके।

वीडियो में देखिए देश-दुनिया की बाकी बड़ी खबरें

गौरतलब है कि भारतीय सेना ने बुधवार (28 सितंबर) को लाइन ऑफ कंट्रोल (LOC) पार करके पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (POK) में घुसकर कई आतंकी ठिकानों को नष्ट किया था। इसमें दुश्मन को भारी नुकसान पहुंचा था। पाकिस्तान ने भारत के सर्जिकल स्ट्राइक के दावे को झूठ बताया। उसने कहा कि भारतीय सेना ने सर्जिकल स्ट्राइक नहीं किया बल्कि युद्ध विराम तोड़ा था जिसका करारा जवाब दिया गया था और इस दौरान पाकिस्तान के 2 सिपाही मारे गए थे। पाकिस्तान ने उन सिपाहियों की तस्वीरें भी जारी की थीं। जिन सिपाहियों की मौत हुई वे दोनों हवलदार थे। उनमें से एक का नाम जुम्मा खान था और दूसरे का नाम नाइक इम्तियाज। उधर गुरुवार को पाकिस्तान पर ईरान ने भी हमला किया था। ईरान की सेना ने उसपर मोर्टार दाग दिए थे। ईरान की तरफ से ये मोर्टार बलूचिस्तान के इलाके में दागे गए थे। ईरान ने तीन मोर्टार दागे थे। शनिवार (1 अक्टूबर) की सुबह पाकिस्तान ने सीजफायर तोड़कर भारत पर मोर्टार दागे थे।

Read Also: अमेरिका के बाद अब ब्रिटेन ने पाकिस्तान को लताड़ा, आतंकी देश घोषित करने की प्रक्रिया शुरु

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 1, 2016 10:54 am

सबरंग