ताज़ा खबर
 

कश्मीर के तंगधार में तीन आतंकवादी ढेर

तीन आतंकवादियों ने बुधवार को नियंत्रण रेखा के पास कश्मीर के तंगधार में सेना के शिविर पर हमला कर दिया।
Author श्रीनगर | November 26, 2015 00:24 am
चित्र का इस्तेमाल सिर्फ प्रतीक के तौर पर किया गया है।

तीन आतंकवादियों ने बुधवार को नियंत्रण रेखा के पास कश्मीर के तंगधार में सेना के शिविर पर हमला कर दिया। पाकिस्तान के आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के ये आतंकवादी भारी मात्रा में हथियारों से लैस थे। भीषण मुठभेड़ में सभी हमलावर मारे गए, जबकि एक आम नागरिक की भी मौत हो गई। इस मुठभेड़ में एक जवान भी घायल हो गया।

आतंंकवादियों ने सुबह करीब सवा छह बजे पीछे से 3-1 गोरखा राइफल्स के शिविर को निशाना बनाते हुए अंधाधुंध गोलीबारी की जिसमें एक आम नागरिक की मौत हो गई जबकि एक जवान घायल हो गया। जवानों ने तुरंत जवाब देते हुए हमलावरों को शिविर में अंदर तक घुसने से रोका। हालांकि आतंकवादियों के शुरुआती हमले से कुछ वाहनों में आग लग गई। मारा गया आम नागरिक शिविर के अंदर जेनरेटर संचालक के रूप में काम करता था।

रक्षा प्रवक्ता ने कहा कि आतंकवादियों ने सेना के शिविर में घुसने का प्रयास किया लेकिन सेना की ‘क्विक रिएक्शन टीम’ ने उन्हें असरदार तरीके से रोका और उन्हें खदेड़ते हुए किनारे तक ले गए और घेर लिया। प्रवक्ता ने यहां कहा, ‘आतंकवादी हमले का सावधानी और तेजी से जवाब देते हुए सेना ने बुधवार को तंगधार पर तीन आतंकवादियों को मार गिराया और इस प्रकार आत्मघाती हमले के प्रयास को नाकाम किया’। सेना के एक अधिकारी ने कहा कि जवानों ने आतंकवादियों को सुबह साढेÞ सात बजे घेरा और साढेÞ दस बजे तीनों आतंकवादियों को मार गिराया गया।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (कुपवाड़ा) एजाज अहमद ने कहा कि तीनों आतंकवादी शिविर में घुस गए थे। उनके पास से तीन एके राइफलें, विस्फोटक सामग्री, अंडर बेरल ग्रेनेड लांचर और कई हथगोले बरामद हुए। रक्षा प्रवक्ता ने कहा कि क्षेत्र को पूरी तरह से सुरक्षित करने के लिए अभियान चल रहा है।

पाकिस्तान के आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने हमले की कथित रूप से जिम्मेदारी ली है। एक स्थानीय समाचार एजंसी से फोन पर बातचीत में जैश का प्रवक्ता होने का दावा करने वाले एक व्यक्ति ने कहा कि उसके तीन कार्यकर्ताओं ने हमला किया। अधिकारियों ने कहा कि यह स्पष्ट नहीं है कि हमलावर किसी संगठन का हिस्सा थे या नहीं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.