January 23, 2017

ताज़ा खबर

 

योगेन्द्र यादव ने कहा, चुनावी समर में ‘स्वराज इंडिया’ आज़मा सकती है किस्मत

स्वराज इंडिया के आनंद कुमार ने कहा कि आम आदमी पार्टी का चाल-चरित्र और चेहरा पूरी तरह से बदल गया है और वह अन्य पार्टियों की तरह ही बन गयी है।

Author नई दिल्ली | October 9, 2016 14:33 pm
नई दिल्ली में स्वराज अभियान के नेता योगेंद्र यादव, प्रशांत भूषण और शांति भूषण एक नई अखिल भारतीय राजनीतिक पार्टी ‘स्वराज इंडिया’ के दौरान। (PTI Photo by Shahbaz Khan/2 Oct, 2016)

नवगठित राजनीतिक दल ‘स्वराज इंडिया’ के राष्ट्रीय अध्यक्ष योगेन्द्र यादव का कहना है कि उनकी पार्टी 2017 में होने वाले दिल्ली के एमसीडी चुनाव के साथ साथ पंजाब, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, गुजरात और गोवा के चुनाव में मैदान में उतर सकती है हालांकि इस बारे में औपचारिक निर्णय पार्टी की कार्यकारिणी की बैठक में लिया जाएगा। आम आदमी पार्टी (आप) से अलग होकर नई पार्टी बनाने वाले योगेन्द्र यादव ने बताया, ‘हमारा लक्ष्य येन केन प्रकारेण चुनाव जीतना नहीं है और ऐसे में हम अनियंत्रित होकर चुनाव में भाग नहीं लेंगे। हम किसी और पार्टी का खेल खराब करने और उसे हराने के लिए नहीं, बल्कि वैकल्पिक राजनीति के लिए चुनावी मैदान में उतरेंगे।’ गौरतलब है कि आप से निकाले जाने के बाद योगेन्द्र यादव, प्रशांत भूषण, आनंद कुमार और अजीत झा ने एक अलग संगठन ‘स्वराज अभियान’ बनाया था जिसने गांधी जयंती के अवसर पर दो अक्तूबर को ‘स्वराज इंडिया’ नामक एक राजनीतिक मंच बनाया।

उन्होंने बताया, ‘जहां भी चुनाव होंगे वहां हम जमीनी स्तर पर अपनी ताकत का आकलन करने के बाद ही चुनाव मैदान में उतरेंगे।’ उन्होंने कहा,‘हमारे संगठन का सकारात्मक एजेंडा होगा और हम इसके तहत ही चुनाव लड़ेंगे।’ यह पूछे जाने पर कि क्या वे आम आदमी पार्टी को प्रतिद्वंद्वी के रूप में देखते हैं, उन्होंने कहा ,‘हम इसे अन्य पार्टियों की तरह ही देखते हैं और अब यह अन्य पार्टियों से अलग नहीं रह गयी है।’ ‘स्वराज इंडिया’ के ही एक अन्य वरिष्ठ नेता आनंद कुमार ने कहा कि ‘स्वराज अभियान’ के राजनीतिक मंच ‘स्वराज इंडिया’ ने डेढ़ साल के अपने संघर्ष से यह निष्कर्ष निकाला है कि वैकल्पिक राजनीति की दिशा में चुनाव में हिस्सेदारी और भागीदारी दोनों जरूरी है। आनंद कुमार ने कहा, ‘बिना चुनाव सुधार लागू किए धन से सत्ता और सत्ता से धन का दोष दूर नहीं होगा। दूसरी तरफ चुनाव में बिना असरदार हस्तक्षेप किए चुनाव सुधार लागू कराने का कोई भी प्रयास सफल नहीं होगा। इसलिए वैकल्पिक राजनीति के लिए समर्पित स्वराज अभियान का चुनावी मंच 2017 से स्थानीय और प्रादेशिक चुनाव में भागीदारी करने के लिए तैयारी शुरू कर चुका है।’

कुमार ने बताया कि चुनाव में उम्मीदवार उतारने की प्रक्रिया से लेकर विजयी उम्मीदवारों की भूमिका तक में हम आंतरिक लोकतंत्र, पारदर्शिता और जवाबदेही तीन शर्तों का पालन करेंगे। इन कसौटियों को पूरा करते हुए 2017 में होने वाले चुनावों में स्वराज अभियान की राजनीतिक पार्टी अपने उम्मीदवार उतारेगी। इसके लिए हम विभिन्न प्रदेशों की अपनी राज्य कार्यकारिणियों के प्रस्ताव को मुख्य आधार बनाएंगे। इस लिहाज से स्वराज इंडिया 2017 में होने वाले दिल्ली के एमसीडी चुनाव, पंजाब, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, गुजरात और गोवा के चुनाव में अपनी उपस्थिति दर्ज कराएगी।

आप और अरविंद केजरीवाल पर जोरदार हमला करते हुए कुमार ने कहा, ‘वह हमारे लिए दूसरे दलों और नेताओं की तरह ही हैं। उनकी पार्टी का चाल, चरित्र और चेहरा पूरी तरह से बदल गया है और वह अन्य पार्टियों की तरह ही बन गयी है। वह चुनावी मशीन बन गयी है जो पैसों की ताकत पर आगे चलना चाहती है और चुनाव जीतना चाहती है।’ पाकिस्तान पर भारत के लक्षित हमले पर हाल ही में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के बयान के बारे में पूछे जाने पर योगेन्द्र यादव ने कहा कि उनके बयान में संजीदगी नहीं थी और एक मुख्यमंत्री के रूप में उन्हें ऐसा बयान देना शोभा नहीं देता। हालांकि उन्होंने केजरीवाल का बचाव करते हुए कहा कि इस आधार पर उन्हें देशद्रोही या पाकिस्तान का एजेंट कहना गलत होगा और ऐसा नहीं कहा जाना चाहिए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 9, 2016 2:10 pm

सबरंग