May 23, 2017

ताज़ा खबर

 

पाकिस्‍तानी लड़की को सुषमा की मदद से मिला एडमिशन, खुश होकर कहा- पूरी जिंदगी करूंगी भारत की सेवा

पाकिस्तान के सिंध प्रांत में रहने वाले मशाल और उसके माता-पिता जुल्म ढाए जाने से परेशान होकर दो साल पहले धार्मिक वीजा लेकर जयपुर आ गए थे।

हिन्दू होने के नाते जुल्म ढ़ाए जाने से तंग होकर घार्मिक वीजा पर पाकिस्तान के सिंध प्रांत से दो साल पहले भारत आई मशाल माहेश्वरी डॉक्टर बनकर भारत की सेवा करना चाहती हैं। (File Photo)

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने अपना वादा पूरा करते हुए एक पाकिस्तानी लड़की को भारत में मेडिकल कॉलेज में प्रवेश दिलाने में मदद की है। विदेश मंत्री के प्रयासों से पाकिस्तान की रहने वाली मशाल माहेश्वरी को जयपुर के सवाई मान सिंह मेडिकल कॉलेज में प्रवेश मिल गया है। द टाइम्स आॅफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक माहेश्वरी को 22 सितंबर को सवाई मान सिंह मेडिकल कॉलेज में दाखिला मिल गया।

मेडिकल कॉलेज में प्रवेश पाने के बाद 18 साल की मशाल माहेश्वरी ने कहा,’सुषमा स्वराज जी ने मेरे सपने को सच कर दिया है।’ पाकिस्तान के सिंध प्रांत में रहने वाले मशाल और उसके माता-पिता जुल्म ढाए जाने से परेशान होकर दो साल पहले धार्मिक वीजा लेकर जयपुर आ गए थे। डॉक्टर बनने की इच्छा रखने वाली 18 वर्षीय माहेश्वरी ने भारत में जी-जान लगाकर पढ़ाई की और 12वीं में बायॉलजी में 96 फीसदी अंक हासिल किए। लेकिन जब उसने मेडिकल कॉलेज का फॉर्म भरना चाहा तो उसकी नागरिकता आड़े आ गई। इसके बाद मशाल माहेश्वरी ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से ट्विटर पर दाखिले में मदद करने की गुहार लगाई थी।

वीडियो: पाकिस्तान के सिंध प्रांत से दो साल पहले भारत आई मशाल माहेश्वरी डॉक्टर बनकर भारत की सेवा करना चाहती हैं…

माहेश्वरी के ट्वीट का जवाब देते हुए सुषमा ने कहा माहेश्वरी से निराश ना होने के लिए कहा था। उन्होंने मशाल को मेडिकल कॉलेज में प्रवेश दिलाने के लिए व्यक्तिगत स्तर पर प्रयास किया। बाद में सुषमा स्वराज के ऑफिस से माहेश्वरी को प्रवेश के लिए जरूरी कागजात जमा कराने के लिए कहा गया था। माहेश्वरी को पहले कर्नाटक में सीट मिली थी लेकिन उसने गुजरात या राजस्थान के लिए आग्रह किया था। माहेश्वरी ने कहा कि वह न्यूरोलॉजिस्ट या कॉर्डियोलॉजिस्ट बनकर भारत की सेवा करना चाहती है। सवाई मान सिंह मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल और कंट्रोलर डॉ यूएस अग्रवाल ने माहेश्वरी के दाखिले की पुष्टि की लेकिन दाखिले की कैटिगरी के बारे में खुलासा नहीं किया है।

Read Also: पाकिस्तानी लड़की को स्कूल में एडमिशन दिलाने के लिए आगे आईं भारत की ‘सुपरमॉम’ सुषमा स्वराज

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 6, 2016 5:13 pm

  1. No Comments.

सबरंग