ताज़ा खबर
 

पाकिस्तान से लौटे मौलवियों को सुब्रमण्यम स्वामी ने बताया झूठा, बोले- मेरे पास जानकारी है ये लोग देश के खिलाफ काम कर रहे थे

सुब्रमण्यम स्वामी ने मौलवियों को झूठा बताया है और कहा है कि ये (दोनों मौलवी) देश के खिलाफ काम कर रहे थे।
राज्यसभा सांसद और भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी। (ANI)

पाकिस्तान में हाल ही में लापता हुए दो भारतीय मौलवी सोमवार (20 मार्च) को वापिस भारत लौट आए। वहीं पाकिस्तान से लौटने के बाद दोनों मौलवियों ने बताया कि उन्हें पाकिस्तानी मीडिया ने RAW का एजेंट बताया था। वहीं बीजेपी नेता और राज्य सभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने इसा मामले को लेकर चौंकाने वाली बात कही है। उन्होंने दोनों मौलवियों को झूठा बताया है। सिर्फ इतना ही नहीं स्वामी ने कहा कि उनके पास इंडीपेंडेंट जानकारी है जिसके मुताबिक पता चला है कि वे(दोनों मौलवी) देश के खिलाफ काम कर रहे हैं। स्वामी ने कहा- “वो झूठ बोल रहे हैं, अपने बचाव के लिए और साहनुबूती पाने के लिए कह रहे हैं कि उन्हें RAW एजेंट बताया गया। ये तो उनकी बात है जो आतंकवादी-उग्रवादी माने जाते हैं। उनकी बातों पर हम कैसे विशवास कर सकते हैं?” स्वामी ने आगे कहा- “हमारे पास स्वतंत्र जानकारी है कि ये लोग हमारे देश के खिलाफ काम कर रहे थे।”

बता दें कि पाकिस्तान में ‘लापता’ हुए हजरत निजामुद्दीन दरगाह के दो मौलवी आसिफ निजामी और नाजिम निजामी को पाकिस्तान के एक अखबार ने रॉ (RAW) एजेंट बताया था। दोनों मौलवियों ने इस बात का खुलासा वापिस भारत लौटकर किया था कि एक पाकिस्तानी अखबार “उम्मत” समेत कई पाकिस्तानी मीडिया घरानों ने उन्हें RAW का जासूस बताया था जो गलत था। वहीं दोनों मौलवियों ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मुलाकात भी की। मुलाकात में क्या बातचीत हुई इसकी जानकारी सामने आना अभी बाकी है।

खबरों के मुताबिक, नाजिम लाहौर हवाई अड्डे से और आसिफ कराची हवाई अड्डा पहुंचने के बाद लापता हो गए थे। भारत ने पाकिस्तान सरकार के साथ यह मुद्दा उठाया था। नाजिम और आसिफ अपने रिश्तेदारों से मिलने और लाहौर की मशहूर दाता दरबार दरगाह जाने के लिए 8 मार्च को पाकिस्तान पहुंचे थे। वहीं मौलवी नाजिम के पाकिस्तान स्थित रिश्तेदार वजीर निजामी ने एक्सप्रेस ग्रुप से बातचीत की थी। उन्होंने बताया था कि लाहौर एयरपोर्ट से उन्हें एक फोन कॉल आया था जिसमें उन्हें बताया गया कि उनके कजिन नाजिम के कागजात ठीक नहीं है जिसकी वजह से उन्हें एयरपोर्ट पर ही डिटेन किया जा रहा है। वजीर ने यह भी बताया था कि जब वह अपने चाचा आसिफ को लेने लाहौर एयरपोर्ट पहुंचे तो उन्हें पता चला कि कुछ लोग पहले ही आसिफ को अपने साथ लेकर चले गए थे।

देखें वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग