ताज़ा खबर
 

पत्‍थरबाजों पर बोले जम्‍मू-कश्‍मीर के भाजपाई मंत्री- लातों के भूत बातों से नहीं मानते, इनका इलाज है गोली

जम्मू के कद्दावर बीजेपी नेता चन्दर प्रकाश के मुताबिक ऐसे लोग विध्ंवस के काम में जुटे हैं उनकी जूतों से पिटाई की जानी चाहिए।
बड़गाम में सुरक्षा बलों पर पत्‍थर फेंकते स्‍थानीय कश्‍मीरी युवक। (PTI Photo)

जम्मू-कश्मीर के उद्योग मंत्री चन्दर प्रकाश गंगा ने एक ऐसा बयान दिया है जिससे घाटी में विरोध की आग और हवा मिल सकती है। एक और जहां राज्य कैबिनेट पुलिस और जम्मू कश्मीर में तैनात सुरक्षा बलों को पत्थरबाजों से निपटने में अधिकत्तम धैर्य बरतने की सलाह दे रही है वहीं मंत्री चन्दर प्रकाश ने कहा है कि घाटी में पत्थरबाजों और देशद्रोहियों को गोली मार देनी चाहिए इसके बाद ही घाटी में शांति स्थापित हो सकेगी। उन्होंने कहा, ‘ वे गद्दार हैं, या तो वे देश में रहें या फिर पाकिस्तान से आएं, उनका सिर्फ गोलियों से ही इलाज हो सकता है।’ अंग्रेजी रिपोर्ट डीएनए के मुताबिक उन्होंने आगे कहा, ‘यदि उनका इलाज गोलियों से ना हो तो भी लाठियों से तो किया ही जाना चाहिए।’ चन्दर प्रकाश ने कहा, ‘मेरी बात याद रखिए और फिर देखिए वे पत्थर कभी नहीं फेकेंगे।’ उन्होंने कहा कि वे किस तरह की आजादी मांग रहे हैं।

जम्मू के कद्दावर बीजेपी नेता चन्दर प्रकाश के मुताबिक ऐसे लोग विध्ंवस के काम में जुटे हैं उनकी जूतों से पिटाई की जानी चाहिए। खास बात ये है कि मंत्री महोदय ने ये संवेदनशील बयान उस वक्त दिया है जब पुलिस और प्रशासन को सूबे में जबर्दस्त विरोध का सामना करना पड़ रहा है। सीएम महबूबा मुफ़्ती ने राज्य में पुलिस और सुरक्षा कर्मियों की गोलियों से कश्मीरी युवाओं की मौत पर नाराजगी जाहिर की है। और सुरक्षा एजेंसियों से अपील की है कि वे कानून व्यवस्था के मुद्दे पर बेहद ही संजीदगी और धैर्य का परिचय दें। महबूबा मुफ़्ती ने इस मामले में आर्मी चीफ से भी मुलाकात की।

इधर नेशनल कॉन्फ्रेंस ने चन्दर प्रकाश गंगा के इस बयान पर कड़ी प्रतिक्रिया दी है और कहा कि वे एक बहुत ही खतरनाक ट्रेंड स्थापित कर रहे हैं। पार्टी प्रवक्ता आगा रुहुल्लाह ने कहा, ‘ हम देख रहे हैं कि घाटी के हालात 90 से भी खराब हो गये हैं, राज्य में कैबिनेट का कोई अर्थ नहीं रह गया है और सीएम ने सूबे को ऊपर वाले के भरोसे छोड़ दिया है। बता दें कि श्रीनगर में 9 अप्रैल से अबतक लगभग 14 लोग हिंसा में मारे जा चुके हैं और 250 से ज्यादा लोग जख्मी हुए हैं इनमें से 100 से ज्यादा छात्र हैं।

उत्तर प्रदेश: बीजेपी विधायक ने टोल प्लाजा कर्मचारी को मारा थप्पड़; गाड़ी को रोके जाने से थे गुस्सा

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. Randhir Sharma
    Apr 20, 2017 at 5:55 pm
    बहुत अच्छी बात ये बात हर पथरबाज पर लागु हो
    (0)(0)
    Reply
    1. A
      AKS
      Apr 20, 2017 at 5:38 pm
      वक्त की मांग तो यही है। लेकिन हम सभ्य लोग है । हमारी एक सांस्कृतिक विरासत है। हम पत्थरबाज़ जाहिलों की तरह व्यवहार नहीं कर सकते है।
      (0)(0)
      Reply
      सबरंग