ताज़ा खबर
 

NIT विवाद: गैर कश्मीरी छात्रों के परिजनों का दिल्ली कूच, केंद्र से मांगी मदद

श्रीनगर के एनआईटी में अध्ययनरत एक छात्र के पिता महेश चंद शर्मा ने कहा कि राजस्थान के करीब चार सौ विद्यार्थी श्रीनगर के एनआईटी में अध्ययन कर रहे हैं लेकिन सभी विद्यार्थियों के परिजन पिछले दिनों की घटनाओं को लेकर चिंतित हैं।
श्रीनगर की एनआईटी मेंं पढ़ रहे कोटा के विद्यार्थियों को एकजुट करने के काम में लगे सुधीर कुमार ने कहा कि कोटा से भी कई लोग दिल्ली के लिए रवाना हो गये हैं।

श्रीनगर के राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (एनआईटी) में अध्ययनरत गैर कश्मीरी विद्यार्थियों से कथित मारपीट, पुलिस द्वारा प्रताड़ित करने और धमकी दिए जाने की पृष्ठभूमि में, वहां पढ़ रहे राजस्थान के करीब चार सौ छात्रों के परिजन अपने बच्चों की सुरक्षा के लिए गुहार लगाने की लिए दिल्ली रवाना हो गये। श्रीनगर के एनआईटी में अध्ययनरत एक छात्र के पिता महेश चंद शर्मा ने कहा कि राजस्थान के करीब चार सौ विद्यार्थी श्रीनगर के एनआईटी में अध्ययन कर रहे हैं लेकिन सभी विद्यार्थियों के परिजन पिछले दिनों की घटनाओं को लेकर चिंतित हैं जिनमें गैर कश्मीरी विद्यार्थियों को कथित तौर पर प्रताड़ित किया जा रहा है उन्हें धमकियां दी जा रहीं हैं।

Read Also: NIT Srinagar छावनी में तब्‍दील, 1500 छात्रों की सुरक्षा के लिए 600 जवान तैनात

शर्मा ने कहा कि अपने बच्चोें की सुरक्षा के लिए गुहार लगाने की खातिर सभी परिजन दिल्ली जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि दिल्ली में पहुंच कर मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी सहित अन्य अधिकारियों से मिलने का प्रयास कर परिजन उनसे अपने बच्चों की सुरक्षा की गुहार लगायेंगे और एनआईटी को जम्मू में स्थानान्तरित करने की मांग करेंगे।

Read Also: NIT protest: J&K पुलिस अधिकारियों ने कहा, हमें राष्ट्रवाद के प्रमाणपत्र की जरूरत नहीं

श्रीनगर की एनआईटी मेंं पढ़ रहे कोटा के विद्यार्थियों को एकजुट करने के काम में लगे सुधीर कुमार ने कहा कि कोटा से भी कई लोग दिल्ली के लिए रवाना हो गये हैं। उन्होंने कहा कि बच्चे डरे और सहमे हुए है और संस्थान में अपने कमरों से बाहर नहीं निकल रहे हैं। श्रीनगर के एनआईटी में गैर कश्मीरी विद्यार्थियों के साथ पुलिस की कथित मारपीट, प्रताड़ित करने और धमकियों से आहत बच्चों के परिजनों ने कल जयपुर और कोटा में प्रदर्शन कर केन््रद सरकार से बच्चों की सुरक्षा के लिए गुहार लगाई। जयपुर में करीब 50 विद्यार्थियों के परिजनों ने प्रदर्शन किया और कहा कि पुलिस ने बच्चों पर बर्बरता से लाठियां बरसाई और उनके खिलाफ भी मुकदमे दर्ज कर दिये हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. B
    Babubhai
    Apr 10, 2016 at 3:10 am
    Chalo sab log, Kashmir, shrinagar, karodo log sab saath hokar chalo shrinagar, ye kisike baapki jahir nahi. Ab Jo nahi jaoge to kabhi nahi ja sakoge. Apne bhari tax se jinda rahnevale hamko darate he. Kashmiri ho, Marathi ho, Bihari ho keralaka ho sab ke liye Sara Hindustan he. Rajyome ki rakhana sirf vahivat ke liye he. Maliki hak nahi he. Koi kahi bhi Jake bas sakta he, koi ROK nahi sakata
    (0)(0)
    Reply