ताज़ा खबर
 

सोनू निगम ने फतवा जारी करने वाले मौलवी पर ली चुटकी, कहा- 2 बजे होगा मेरा मुंडन, 10 लाख रुपये तैयार रखो मौलाना

मौलाना ने कहा कि अगर सोनू निगम मंदिर से निकलने वाले घंटे की आवाज पर भी ऐसा बोलते तो वे उसका विरोध करते।
सिंगर सोनू निगम।

अजान पर ट्वीट कर विवादों में आए सोनू निगम ने अपने स्टैंड पर कायम दिख रहे हैं और किसी भी तरह की धमकी से झुकते नहीं देख रहे हैं। सोनू निगम ट्वीटर के जरिये अपने आलोचकों को जवाब दे रहे हैं। इसी सिलसिले में जब पश्चिम बंगाल माइनॉरिटी यूनाइटेड काउंसिल के वाइस प्रेसीडेंट सैयद शा कादिरी ने सोनू निगम के ऊपर फतवा जारी किया तो सोनू निगम ने उन्हें करारा जवाब दिया। सैयद शा कादिरी ने कहा था कि जो कोई भी सोनू निगम को गंजा करेगा उसे वो दस लाख रुपये का इनाम देंगे। इसके जवाब में सोनू निगम ने कई ट्वीट किये। सोनू निगम ने पहले कहा कि क्या ये धार्मिक गुंडागर्दी नहीं है। सोनू निगम ने अपने अगले ट्वीट में लिखा, ‘ आज (19 अप्रैल) 2 बजे अलीम मेरे घर आकर मुझे गंजा करेगा, अपने 10 रुपये तैयार रखना मौलवी।’ इसके बाद सोनू निगम ने एक और ट्वीट किया और लिखा, ‘2 बजे इस कार्यक्रम में शिरकत करने के लिए मीडिया का भी स्वागत है।’ सोनू निगम अपने वादे के मुताबिक 2 बजे मुंबई में अपने घर में मीडिया से रुबरु हुए और उन्होंने अपने ट्वीट को लेकर सफाई दी, लेकिन इसके बाद सोनू निगम ने सचमुच में एक शख्स को अपने घर बुलवाया और अपना सर गंजा करवा लिया।

बता दें कि पश्चिम बंगाल माइनॉरिटी यूनाइटेड काउंसिल के उपाध्यक्ष सैयद शा कादिरी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सोनू निगम को देश विरोधी करार दिया था। कादरी ने कहा कि किसी को भी दूसरे धर्म की भावनाओं के खिलाफ बोलने का अधिकार नहीं है। कादिरी ने कहा कि सोनू निगम जैसे लोगों को देश से बाहर कर देना चाहिए। उन्होंने कहा कि जो कोई भी सोनू निगम का सर मुंडन करेगा और उसे जूतों की माला पहनाएगा उसे वो 10 लाख रुपये इनाम देंगे। मौलाना ने कहा कि अगर सोनू निगम मंदिर से निकलने वाले घंटे की आवाज पर भी ऐसा बोलते तो वे उसका विरोध करते। मौलवी कादिरी ने कहा कि अगर हम लोग एक दूसरे की धार्मिक रीति-रिवाजों को लेकर इतने उग्र हो जाएंगे तो कुछ ही दिन में देश नास्तिकों से भर जाएगा। सैयद शा कादिरी ने कहा कि उनका संगठन जल्द ही सोनू निगम के इस बयान के खिलाफ कोलकाता में एक रैली आयोजित करेगा।

सोनू निगम तब विवादों में आ गये थे जब उन्होंने मंगलवार (18 अप्रैल) को एक के बाद एक कई ट्वीट कर कहा था कि रोजाना सुबह मस्जिदों से आने वाले अजान की आवाज से उनकी नींद टूटती है, क्या ये जबरन धार्मिकता नहीं है। सोनू निगम ने लिखा था कि मंदिर और गुरुद्वारों समेत धार्मिक स्थानों में लाउडस्पीकर का इस्तेमाल नहीं होना चाहिए।

सोनू न‍िगम के ट्वीट का स्‍क्रीनशॉट

बाबरी मस्जिद विध्वंस मामला: सुप्रीम कोर्ट का आदेश- 'आडवाणी, उमा भारती समेत 13 नेताओं पर चलेगा आपराधिक मामला'

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. ताहिर
    Apr 19, 2017 at 3:36 pm
    मौलवी साहब को अलीम को 10 लाख देने ही चाहिए अगर वो अपनी जबान के पक्के हैं तो .....
    (0)(0)
    Reply
    1. C
      CHANDRA
      Apr 19, 2017 at 1:56 pm
      I DO NOT NOT THINK THAT SONU NIGAM HAD TOLD ANY WRONG THING.BECAUSE ALL OF US ARE BECOMING A BIRTH BORN RELIGIOUS UNRELIGIOUS MEN WITHOUT AND WE THINK THAT WE AND OURS ARE SUPREME.WE WANT TO REPEAT KABIR DAS WORDS ---- KANKAD PATHR JOD K MASJID LAYI BANAY TA CHAD MULLA BANG DE KABAHRA HUA KHUDAY AND NOT DAS JI HAS OPPOSED THE MUSLIMS BUT HE SAID ABOUT HINDOOS VAISHYA K PAYANTAR SOVE YE DEKHO HINDUAI.SO IF WE THINK THAT ANY RELIGIOUS MAN MAY BE A SECULAR.THE EXAMPLE OF KABIR DAS IS OF A SECULAR MAN BECAUSE HE WAS NEITHER HINDU NOR MUSLIM.
      (0)(0)
      Reply
      1. S
        sahil singla
        Apr 19, 2017 at 1:18 pm
        jabardast je baat
        (0)(0)
        Reply
        सबरंग