ताज़ा खबर
 

बीमार हालत में भी पीएम को बिस्तर से उठकर सैलूट करना चाहते थे मार्शल अर्जन सिंह

पीएम मोदी ने व्यक्त की अर्जन सिंह के लिए संवेदना। कहा मेरे रोकने के बावजूद उन्होंने खड़े होकर सैल्यूट करने की कोशिश की।
Author नई दिल्ली | September 17, 2017 12:04 pm

इंडियन एयरफोर्स में पांच सितारा रैंक हासिल करने वाले इकलौते मार्शल अर्जन सिंह का 98 साल की उम्र में निधन हो गया। उन्हें दिल का दौरा पड़ा था। इसके बाद शनिवार को उन्हें दिल्ली स्थित आर्मी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका। उनका हाल जानने पीएम नरेंद्र मोदी भी रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण के साथ हॉस्पिटल गए थे। उनके निधन पर प्रधानमंत्री ने दुख जताया है। उन्होंने उन्हें याद करते हुए ट्विटर के जरिए एक वाकया भी साझा किया। मोदी ने लिखा.. कुछ समय पहले मैं उनसे मिला था। उनकी सेहत ठीक नहीं थी। फिर भी मेरे रोकने के बावजूद उन्होंने खड़े होकर सैल्यूट करने की कोशिश की। सेना का ऐसा अनुशासन उनके अंदर भर था।

पीएम ने अर्जन सिंह के बारे में एक के बाद कई ट्वीट किए। उन्होंने अर्जन सिंह के साथ अपनी तस्वीरें भी शेयर कीं। पीएम मोदी ने लिखा- भारत 1965 के युद्ध में मार्शल अर्जन सिंह का शानदार नेतृत्व कभी नहीं भूलेगा, वह हमेशा याद आएंगे। ऐसे महान योद्धा और उदार शख्स के निधन पर मेरी संवेदनाएं उनके परिवार के साथ हैं।

न सिर्फ पीएम मोदी ने पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने भी ट्विट कर उनके प्रति शोक संवेदना व्यक्त की और लिखा है…मार्शल अर्जन सिंह के निधन से दुखी हूं.. अर्जन सिंह के निधन पर दुखी पूरे देश के साथ हूं… उनके परिवार के प्रति मेरी दिली संवेदनाएं…

केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने ट्वीट कर अपने शोक संदेश में कहा है..भारतीय वायु सेना के मार्शल अर्जन सिंह जी के दुखद निधन पर शोक संवेदनाएं… हालिया स्मृतियों में वह महान सैनिकों में से एक के तौर पर याद आते हैं…

सिंह के लिए टीम इंडिया के क्रिकेटर्स भी पीछे नहीं रहे। उन्होंने भी सिंह के लिए ट्विटर पर संवेदनाएं व्यक्त कीं। रवींद्र जडेजा, मुक्केबाज विजेंदर सिंह, मोहम्मद कैफ और विरेंद्र सहवाग ने भी ट्वीट कर शोक संवेदना व्यक्त की है।

आपको बता दें कि 1965 में भारत-पाकिस्तान युद्ध में अहम भूमिका निभाने के लिए जाना जाता है। 1 अगस्त 1964 से 15 जुलाई 1969 तक वह वायुसेनाध्यक्ष थे और 1965 में उन्हें पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.