December 08, 2016

ताज़ा खबर

 

एक साथ चुनाव कराने से राष्ट्रीय पार्टियों को होगा फायदा

विशेषज्ञों का मानना है कि लोकसभा और राज्य विधानसभा का चुनाव एक साथ कराने से राष्ट्रीय पार्टियों को लाभ होगा लेकिन छोटे क्षेत्रीय पार्टियों की भूमिका गौण होगी जो एक स्वस्थ्य लोकतंत्र के लिए अच्छा संकेत नहीं है।

Author नई दिल्ली | October 27, 2016 23:32 pm

विशेषज्ञों का मानना है कि लोकसभा और राज्य विधानसभा का चुनाव एक साथ कराने से राष्ट्रीय पार्टियों को लाभ होगा लेकिन छोटे क्षेत्रीय पार्टियों की भूमिका गौण होगी जो एक स्वस्थ्य लोकतंत्र के लिए अच्छा संकेत नहीं है। पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त एस वाई कुरैशी ने कहा, ह्यचाहे इसे कोई माने या ना माने बड़े राजनीतिक नेताओं और पार्टियों से जुड़ी लहर का कारक राज्य चुनावों के परिणाम को प्रभावित करता है। और इसलिए एक साथ चुनाव कराये जाने से राष्ट्रीय पार्टियों को लाभ होगा और छोटे क्षेत्रीय दलों के लिए मुश्किल होगी।ह्ण उन्होंने कहा, ह्यएक संघीय संरचना वाले विविधतापूर्ण देश के रूप में एक साथ चुनाव कराने का विचार बहुत अच्छा नहीं है। जिस तरह के लोकतंत्र में हम लोग रह रहे हैं उसमें छोटे दलों के उदय से मतदाताओं को चुनाव का एक विकल्प मिलता है।ह्ण वह बुधवार (26 अक्टूबर) शाम एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्मस (एडीआर) द्वारा यहां पर आयोजित ह्यएक साथ चुनाव : संभावना और चुनौतियांह्ण विषय पर आयोजित एक सामूहिक परिचर्चा में बोल रहे थे।

स्टडी ऑफ डेवलपिंग सोसाइटी (सीएसडीएस) के निदेशक संजय कुमार ने कहा, ह्यएक साथ चुनाव कराए जाने से बड़े राजनीतिक दलों को ज्यादा फायदा होने की उम्मीद है और छोटे क्षेत्रीय दलों की भूमिका गौण हो जाएगी।ह्ण भाजपा का मत है कि पंचायत चुनाव से लेकर संसद तक का चुनाव एक साथ कराया जाना चाहिए। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी लोकसभा और विधानसभा का चुनाव एक साथ कराने का सुझाव दिया है। राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने भी एक ऐसी प्रणाली बनाने की बात की है जिससे राजनीतिक और प्रशासनिक स्थायित्व सुनिश्चित हो सके क्योंकि लगातार चुनाव के कारण सरकार के नियमित कामकाज में बाधा आती है और इससे राजनीतिक दल किसी मुद्दे पर सामूहिक रूप से निर्णय ले सकती हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 27, 2016 11:31 pm

सबरंग