ताज़ा खबर
 

Panama Papers का असर? अमिताभ को ‘अतुल्‍य भारत’ का ब्रांड एंबैसेडर बनाने का फैसला टला: ANI

सूत्र ने कहा, ''अमिताभ को क्‍लीनचिट मिलने के बाद ही इस मामले में फैसला लिया जाएगा।''
Author नई दिल्‍ली | April 18, 2016 20:52 pm
अमिताभ बच्‍चन के बारे में यह खुलासा इंटरनेशनल लॉ फर्म Mossack Fonseca के रिकॉर्ड से हुआ।

केंद्र सरकार ने एक्‍टर अमिताभ बच्‍चन को ‘अतुल्‍य भारत’ का ब्रांड एंबैसेडर बनाने का फैसला फिलहाल ठंडे बस्‍ते में डाल दिया है। एशिया न्‍यूज इंटरनेशनल ने सूत्रों के हवाले से दावा किया है कि पनामा पेपर्स लीक मामले में अमिताभ का नाम आने की वजह से ऐसा किया गया है। सूत्रों के मुताबिक, यह फैसला इसी महीने लिया जाना था, लेकिन इसे आगे के लिए टाल दिया गया। सूत्र ने कहा, ”अमिताभ को क्‍लीनचिट मिलने के बाद ही इस मामले में फैसला लिया जाएगा।”

READ ALSO: ABCL के लॉन्‍च से 2 साल पहले Tax Havens में रजिस्‍टर्ड की गई थीं 4 कंपनियां, चारों के डायरेक्‍टर थे अमिताभ बच्‍चन

बता दें कि पनामा की लॉ फर्म मोसेका फोंसेका के लीक दस्‍तावेजों की जांच करने के बाद द इंडियन एक्‍सप्रेस ने बताया था कि अमिताभ बच्‍चन ने टैक्‍स हैवन समझे जाने वाले देशों में कंपनियां खोलीं। अमिताभ के अलावा उनकी बहू ऐश्‍वर्या का भी इस खुलासे में नाम सामने आया था। हालांकि, अमिताभ ने इसे खारिज करते हुए आशंका जताई थी कि उनके नाम का ‘दुरुपयोग’ हुआ। अमिताभ ने यह भी कहा कि द इंडियन एक्‍सप्रेस में जिन कंपनियों का जिक्र है, उनमें से किसी के बारे में उन्‍हें कोई जानकारी नहीं है।

पनामा पेपर्स लीक से जुड़ी खबरें पढ़ने के लिए यहां क्‍ल‍िक करें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग