March 29, 2017

ताज़ा खबर

 

शिवसेना ने प्रणव मुखर्जी के लिए मांगा दूसरा कार्यकाल, कहा- वे बेस्‍ट राष्‍ट्रपति साबित हुए हैं

शिवसेना ने राष्‍ट्रपति प्रणव मुखर्जी को दूसरा कार्यकाल दिए जाने का समर्थन किया है। शिवसेना के नेता संजय राउत ने कहा कि वे अगले सप्‍ताह मुखर्जी से मिलेंगे।

Author नई दिल्‍ली | October 14, 2016 18:56 pm
प्रणव मुखर्जी 2012 में राष्‍ट्रपति पद के चुनाव के वक्‍त मातोश्री गए थे। उस समय बाल ठाकरे के रहते हुए शिवसेना ने भाजपा का साथ तोड़कर मुखर्जी का समर्थन किया था। (Photo:PTI)

शिवसेना ने राष्‍ट्रपति प्रणव मुखर्जी को दूसरा कार्यकाल दिए जाने का समर्थन किया है। शिवसेना के नेता संजय राउत ने कहा कि वे अगले सप्‍ताह मुखर्जी से मिलेंगे। उन्‍होंने कहा कि वे बेस्‍ट राष्‍ट्रपति साबित हुए हैं और उनकी योग्‍यता पर कोई सवाल नहीं उठा सकता। वहीं कांग्रेस का कहना है कि पार्टी हाई कमांड इस पर फैसला लेगा। कांग्रेस प्रवक्‍ता शोभा ओझा ने कहा, ”हम आपको जल्‍द ही बताएंगे। हमें नहीं पता कि शिवसेना ने क्‍या कहा। इस पर पार्टी आलाकमान फैसला लेगा।” पूर्व कांग्रेसी नेता प्रणव मुखर्जी का राष्‍ट्रपति के रूप में कार्यकाल अगले साल समाप्‍त होने जा रहा है। मोदी सरकार के अभी तक के रूख के अनुसार वह किसी नए चेहरे को राष्‍ट्रपति बनाएगी।

शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा, ”पांच साल में उन्‍होंने(प्रणव मुखर्जी) दिखाया है कि वे काबिल और विवादों से दूर रहने वाले राष्‍ट्रपति हैं।वे राष्‍ट्रीय और अंतरराष्‍ट्रीय मुद्दों से भी भली भांति परिचित हैं।” जब उनसे पूछा गया कि क्‍या मुखर्जी के दूसरे कार्यकाल के लिए वे दूसरी पार्टियों से भी बात करेंगे तो राउत ने बताया कि इस पर पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे को फैसला करना है। उन्‍होंने कहा, ”उद्धव ठाकरे भी प्रणव मुखर्जी का काफी सम्‍मान करते हैं और उन्‍हें उनसे स्‍नेह भी मिला है। जिस तरह से उनकी पार्टी ने सेना की सर्जिकल स्‍ट्राइक की प्रशंसा की है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बधाई दी है उसी तरह से हम राष्‍ट्रपति के अच्‍छे काम की तारीफ कर रहे हैं।”

आप के 27 और विधायकों की सदस्यता पर खतरा, राष्ट्रपति ने चुनाव आयोग को दिए जांच के निर्देश

संजय राउत का यह बयान ऐसे समय में आया है जब शिवसेना के भाजपा से संबंध तनावपूर्ण है। हालांकि दोनों पार्टियां केंद्र और महाराष्‍ट्र की सरकार में साझेदार हैं। प्रणव मुखर्जी 2012 में राष्‍ट्रपति पद के चुनाव के वक्‍त मातोश्री गए थे। उस समय बाल ठाकरे के रहते हुए शिवसेना ने भाजपा का साथ तोड़कर मुखर्जी का समर्थन किया था। गौरतलब है कि पहले राष्‍ट्रपति डॉ. राजेंद्र प्रसाद को छोड़कर कोई भी राष्‍ट्रपति दूसरा कार्यकाल नहीं ले पाया है।

PM मोदी ने वॉर मेमोरियल का किया उद्धाटन, बोले- लोग कहते थे मोदी कुछ नहीं करता…

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 14, 2016 6:52 pm

  1. No Comments.

सबसे ज्‍यादा पढ़ी गईंं खबरें

सबरंग