ताज़ा खबर
 

शीना बोरा हत्याकांड: मुख्य आरोपी इंद्राणी की हालत नाजुक, आज का दिन अहम

अपनी बेटी शीना बोरा की हत्या करने की आरोपी इंद्राणी मुखर्जी ने शुक्रवार को जेल में कुछ गोलियां खा लीं जिसके बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया। डॉक्टरों के मुताबिक उनकी हालत ‘गंभीर’ है।
Author , मुंबई | October 4, 2015 09:03 am
शीना बोरा मर्डर केस की आरोपी इंद्राणी मुखर्जी अस्पताल में भर्ती, डॉक्टरों ने बताया हालत नाजुक

बहुचर्चित शीना बोरा हत्याकांड में मुख्य आरोपी इंद्राणी मुखर्जी की हालत अब भी नाजुक बनी हुई है और जेजे अस्पताल के मुताबिक उनकी जिंदगी के लिए अगले 48 घंटे काफी अहम हैं। एक दवा का कथित तौर पर अधिक सेवन करने के बाद इंद्राणी को बाइकुला जेल से जेजे अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

जेजे अस्पताल के डीन डॉक्टर टीपी लहाने ने पत्रकारों को बताया, ‘अगले 48 घंटे उनके लिए नाजुक हैं’। लहाने से पूछा गया था कि क्या इंद्राणी खतरे से बाहर है। लहाने ने कहा, ‘अगले 48 घंटे से पहले हम नहीं कह सकते कि इंद्राणी खतरे के बाहर हैं। 72 घंटे काफी अहम होते हैं, उनमें से 24 घंटे पहले ही बीत चुके हैं। हम 48 घंटे के बाद ही कह सकते हैं कि उनकी हालत में सुधार है या नहीं’।

उन्होंने कहा, ‘अभी वे गहरी नींद में हैं लेकिन उनका ब्लड प्रेशर और नाड़ी का स्तर सामान्य है। वे जीवनरक्षक प्रणाली पर नहीं रखी गई हैं लेकिन हम उन्हें ऑक्सीजन दे रहे हैं क्योंकि वे खुद से सांस नहीं ले पा रही हैं’। लहाने ने कहा, ‘गैस्ट्रिक जांच में हमें दवा नहीं मिली। यदि दवा शरीर में घुल गई होगी तो मूत्र और खून के नमूनों की जांच रिपोर्ट के जरिए हमें इसका पता लग सकता है। यह रिपोर्ट रविवार शाम तक आएगी’।

यह पूछे जाने पर कि क्या ऐसी कोई खबर सामने आई है कि उन्होंने शुक्रवार को जेल में खुदकुशी की कोशिश की थी, इस पर लहाने ने कहा, ‘हम अभी उसके बारे में कुछ नहीं कह सकते’।

मीडिया की बड़ी हस्ती पीटर मुखर्जी की पत्नी इंद्राणी को उनकी पहले की शादी से हुई बेटी शीना की हत्या के आरोप में खार पुलिस ने 25 अगस्त को गिरफ्तार किया था। शीना (24) को बांद्रा स्थित नेशनल कॉलेज के बाहर से कथित तौर पर अपहृत कर लिया गया था और कार में इंद्राणी, उनके पूर्व पति संजीव खन्ना और चालक श्यामवर राय ने कथित तौर पर गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी थी।

इस बीच, मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के शुक्रवार के आदेश का पालन करते हुए महानिरीक्षक (जेल) ने शनिवार को सभी पहलुओं पर जांच शुरू कर दी। इस बात की भी जांच की जाएगी की क्या इस मामले में जेल अधिकारियों और वहां तैनात मेडिकल कर्मियों की तरफ से कोई चूक हुई। इंद्राणी के वकील ने एक स्थानीय अदालत का रुख कर अस्पताल में उनसे मिलने की इजाजत मांगी और अदालत ने उनकी स्वास्थ्य की स्थिति पर फिर से रिपोर्ट मांगी। सुनवाई के दौरान शीना बोरा हत्याकांड की जांच का जिम्मा संभाल चुकी सीबीआइ ने अदालत को बताया कि जांच अभी शुरुआती चरण में है और मामला काफी गंभीर प्रकृति का है।

अवसाद रोधक दवा की अधिक खुराक
हिंदुजा अस्पताल से इंद्राणी के मूत्र के नमूने की रिपोर्ट में उनके शरीर में अवसाद रोधक दवा ‘बेंजोडाइजेपाइन’ का स्तर अधिक होने की पुष्टि हुई है। सामान्य तौर पर अगर कोई मरीज अवसाद रोधी दवा ले रहा है तो उसके मूत्र में बेंजोडाइजेपाइन का स्तर 200 होता है। लेकिन हिंदुजा अस्पताल की रिपोर्ट के अनुसार, बेंजोडाइजेपाइन का स्तर 2088 पाया गया। दवा की अधिक खुराक के लिए रिपोर्ट पॉजिटिव है। मिर्गी रोधक दवाओं को पहले ही नकारा जा चुका है। केवल अवसाद रोधक दवा के कारण ही यह मामला हुआ।

कोलिनेस्टेराज का स्तर भी सामान्य मिला जिससे अफीम के जहर की आशंका खारिज होती है। इंद्राणी की बड़ी आंत की सफाई के नतीजे नकारात्मक रहे। गैस्ट्रिक जांच में हमें दवा नहीं मिली। यदि दवा शरीर में घुल गई होगी तो मूत्र और खून के नमूनों की जांच रिपोर्ट के जरिए हमें इसका पता लग सकता है। यह रिपोर्ट रविवार शाम तक आएगी। …. डॉक्टर टीपी लहाने, जेजे अस्पताल के डीन

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. N
    Naveen Bhargava
    Oct 3, 2015 at 1:16 pm
    (0)(0)
    Reply
    सबरंग