December 05, 2016

ताज़ा खबर

 

शत्रुघ्न सिन्हा ने नरेंद्र मोदी ऐप के सर्वे पर उठाए सवाल, विवाद हुआ तो डिलीट किए ट्वीट्स

शत्रुघ्न सिन्हा ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि आपात परिस्थितियों के लिए जमा की गई माताओं और बहनों की कमाई को कालाधन नहीं कहा जा सकता।

भाजपा सासंद शत्रुघ्न सिन्हा। (पीटीआई फाइल फोटो)

भाजपा सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नोटबंदी के फैसले और उसको लेकर कराए गए मोबाइल ऐप सर्वे पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि इस मुद्दे की गहराई में जाने की जरूरत है। साथ ही कहा कि ये मनगढ़ंत कहानियां और सर्वे निहित स्वार्थ के लिए किए गए हैं। टि्वटर का सहारा लेते हुए सिन्हा ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। सिन्हा ने कहा कि आपात परिस्थितियों के लिए जमा की गई माताओं और बहनों की कमाई को कालाधन नहीं कहा जा सकता। सिन्हा ने एक साथ तीन ट्वीट्स किए थे। लेकिन बाद में जब इन ट्वीट्स को लेकर सोशल मीडिया पर विवाद पैदा हुआ तो उन्होंने दो ट्वीट्स डिलीट कर दिए। इन दो ट्वीट्स में उन्होंने पीएम मोदी के नोटबंदी के फैसले और नरेंद्र मोदी ऐप के सर्वे पर सवाल उठाए थे। हालांकि, उन्होंने तीसरा ट्वीट डिलीट नहीं किया, जिसमें उन्होंने महिलाओं द्वारा आपात समय के लिए जमा किए गए रुपयों को कालाधन से तुलना नहीं करने की अपील की है।

सिन्हा ने कई सारे ट्वीट करते हुए लिखा था, ‘मूर्खों की दुनिया में जीना बंद करें। ये मनगढ़ंत कहानियां और सर्वे निहित स्वार्थों के लिए किया गया है। इस मुद्दे की गहराई में जाएं। गरीबों, परेशान, मतदाताओं, समर्थकों और महिलाओं के तकलीफ को समझना चाहिए। इमरजेंसी के लिए जोड़ी गई माताओं और बहनों की कमाई की तुलना काले धन से नहीं की जानी चाहिए।’

शत्रुघ्न सिन्हा के ट्वीट्स का स्क्रीनशॉट। शत्रुघ्न सिन्हा के ट्वीट्स का स्क्रीनशॉट।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने नोटबंदी के फैसले पर एक मोबाइल ऐप सर्व किया था। इस सर्वे का रिजल्ट उन्होंने एक दिन बाद बुधवार को जारी किया। जिसमें बताया गया कि 90 फीसदी लोगों ने नोटबंदी के फैसले का समर्थन किया है। हालांकि, विपक्षी दलों ने पीएम मोदी के इस सर्वे का विरोध किया। महज 24 घंटे में 5 लाख लोगों के मोनेटाइजेशन के सर्वे में भाग लेने और 90 फीसदी लोगों द्वारा उसका समर्थन करने पर बीएसपी अध्यक्ष मायावती ने उस सर्वे को फेक करार दिया है। मायावती ने कहा कि अगर प्रधानमंत्री में दम है तो वे लोकसभा भंग कर चुनाव कराएं असली सर्वे तभी सामने आएगा।

वीडियो में देखें- राज्यसभा में नोटबंदी पर मनमोहन सिंह बोले- “फैसले के खिलाफ नहीं, लेकिन इसे लागू करने के तरीके से असहमत”

वीडियो में देखें- नोटबंदी पर नरेंद्र मोदी एप्प के सर्वे पर मायावती ने उठाये सवाल, कहा- ईमानदार नतीजों के लिए चुनाव करवाएं

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 24, 2016 4:08 pm

सबरंग