ताज़ा खबर
 

जीएसटी लागू होने के बाद सर्विस टैक्‍स में होगी 3 फीसदी की बढ़ोतरी, 20 लाख से कम आय वालों को मिलेगी राहत

वर्तमान में जिन क्षेत्रों को इससे छूट मिली है वह जारी रह सकती है।
राजस्व सचिव हसमुख अधिया। (पीटीआई फाइल फोटो)

वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) व्यवस्था लागू होने के बाद सेवा क्षेत्र के करों में बढ़ोतरी की संभावना है। वर्तमान में लिया जा रहा 15 फीसदी सर्विस टैक्स बढ़कर 18 फीसदी हो जाएगा, जिससे सेवाएं थोड़ी महंगी हो जाएंगी। राजस्व सचिव हसमुख अधिया ने यह जानकारी दी। अधिया ने आईएएनएस को दिए एक इंटरव्यू में कहा, हां, सेवा क्षेत्र के लिए करों की मानक दर 18 फीसदी तक बढ़ सकती है। हालांकि वर्तमान में जिन क्षेत्रों को इससे छूट मिली है वह जारी रह सकती है, जिसमें स्वास्थ्य सेवाएं, शिक्षा और कृषि क्षेत्र शामिल हैं। उन्होंने कहा, वर्तमान में जिन क्षेत्रों को छूट मिली है, हम उन्हें जारी रखने की कोशिश करेंगे। हमने परिषद के सामने इसकी सिफारिश की है जो इस पर फैसला करेगी। संभावना है कि वे इसे स्वीकार करेंगे। वर्तमान में सेवा क्षेत्र पर 14 फीसदी कर के साथ दो अलग-अलग सेस, स्वच्छ भारत सेस और कृषि कल्याण सेस, लगाया जाता है जिनकी दरें आधा-आधा फीसदी हैं। इस तरह सेवा क्षेत्र को 15 फीसदी कर चुकाना होता है।

अधिया ने स्पष्टीकरण देते हुए कहा कि हालांकि जिनकी आय 20 लाख रुपये सालाना से कम है, वे जीएसटी के तहत नहीं आएंगे और उन्हें कोई सर्विस टैक्स नहीं देना होगा। वर्तमान में 10 लाख रुपये से अधिक की आय पर सेवा कर चुकाना होता है। जीएसटी कानून के अंतर्गत किसानों को, जो खुद व परिवारवालों के साथ खेती करते हैं और उनका कारोबार 20 लाख रुपये अधिक है, तो भी उन्हें जीएसटी के अंतर्गत नहीं रखा जाएगा। वर्तमान में रेशम उत्पादन, फूलों की खेती, दुग्ध उत्पादन, बागवानी और मत्स्य पालन में बड़ी संख्या में बाहरी श्रमिकों की सेवाएं ली जाती है। फिलहाल उन्हें सेवा कर से छूट मिली है। क्या जीएसटी में भी उन्हें यह छूट दी जाए या नहीं, इस पर अभी विचार किया जा रहा है।

सर्विस टैक्स का इन पर हो सकता है असर: होटलों में रुकना-खाना, मोबाइल बिल, मैरिज वेन्यू, म्यूजिक कॉन्सर्ट, थीम पार्क, वाहन खरीदना, मूवी टिकट की ऑनलाइन बुकिंग, डीटीएच सेवा, ऐप बैस्ड कैब सर्विस, कुरियर, इंश्योरेंस प्रीमियम, रेल और हवाई यात्रा, ब्यूटी पार्लर, बोलत बंद पानी आदि के लिए आपको अधिक कीमत चुकानी पड़ सकती है।

GST से जुड़े 4 बिल लोकसभा में पास होने पर पीएम मोदी ने देशवासियों की दी बधाई; कांग्रेस ने पूछा- "12 लाख करोड़ रुपए के नुकसान की भरपाई कौन करेगा", देखें वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग