May 24, 2017

ताज़ा खबर

 

नोटबंदी के बाद शिरडी के साईंबाबा मंदिर को मिला 5 करोड़ के पुराने नोटों के साथ 32 करोड़ का दान

कैश के अलावा ट्रस्ट को 2.90 किलो के सोने के आभूषण भी दान में मिले हैं। इनकी कीमत 73 लाख रुपये बताई जा रही है।

शिर्डी के साईबाबा (फाइल फोटो)

नोटबंदी से यूं तो पूरे देश की जनता जूझ रही है। बैंकों और एटीएम में भले ही नए नोटों की किल्लत हो, लेकिन भक्तों ने भगवान का घर खाली नहीं छोड़ा है। शिरडी के साईं बाबा संस्थान ट्रस्ट को नोटबंदी के बाद से अब तक 31.73 करोड़ रुपये का दान मिल चुका है। अधिकारियों ने शुक्रवार (30 दिसंबर) को यह जानकारी दी। साईंबाबा संस्थान ट्रस्ट के ट्रस्टी सचिन तांबे ने बताया कि दान में मिले 4.63 करोड़ रुपये पुरानी करंसी के हैं जबकि 3.80 करोड़ रुपये नई करंसी में। पिछले 50 दिनों में संस्थान को 18.96 करोड़ रुपये दानपात्र में, 6.87 करोड़ रुपये क्रेडिट व डेबिट कार्ड से, 3.96 करोड़ बैंक डिमांड ड्राफ्ट से, 1.46 करोड़ रुपये अॉनलाइन डोनेशन से और 35 लाख रुपये मनी अॉर्डर के जरिए मिल चुके हैं।

कैश के अलावा ट्रस्ट को 2.90 किलो के सोने के आभूषण भी दान में मिले हैं। इनकी कीमत 73 लाख रुपये बताई जा रही है। वहीं भक्तों ने बाबा के दरबार में 56 किलो चांदी का भी दान दिया है, जिसकी कुल कीमत 18 लाख है।

बता दें कि 8 नवंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 500 और 1000 रुपये के नोटों को अमान्य करार दे दिया था। साथ ही एटीएम से भी पैसे निकालने की सीमा सीमित कर दी थी। एटीएम से एक दिन में केवल 2500 रुपये ही लोग निकाल पा रहे थे। बैंकों से भी एक हफ्ते में केवल 24000 रुपये ही लोग निकाल सकते थे। इस फैसले को लेकर विपक्ष ने सरकार की कड़ी आलोचना की थी। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और प.बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने इसके विरोध में जंतर-मंतर पर मार्च भी निकाला था। जबकि विपक्षी दलों ने संसद में सरकार को घेरा था। विपक्ष के हंगामे के कारण संसद का शीत सत्र भी धुल गया था। इसके अलावा नोटबंदी के बाद से देशभर में कालाधन पकड़े जाने का भी सिलसिला शुरू हो गया था। बैंकों की मदद से कई लोगों के पास भारी रकम पकड़ी गई थी। ईडी, आयकर विभाग ने पूरे देश में छापेमारी कर कई लोगों को पकड़ा था। नोटबंदी के मामलों की जांच भी सीबीआई के हाथों में थी।

देखें वीडियो ः

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on December 30, 2016 1:24 pm

  1. No Comments.

सबरंग