ताज़ा खबर
 

पीएम मोदी की ‘मेक इन इंड‍िया’ स्‍कीम के तहत लड़ाकू व‍िमान बनाएगी अडानी की कंपनी

साब से जब इस बारे में टिप्पणी करने के लिए कहा गया तो कंपनी की तरफ से कोई टिप्पणी नहीं की गई।

भारतीय वायु सेना के लिए लड़ाकू विमान बनाने के लिए अडानी की कंपनी स्वीडन की साब कंपनी के साथ पार्टनरशिप करने जा रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ‘मेक इन इंडिया’ स्कीम के तहत भारत में यह दोनों कंपनियां मिलकर लड़ाकू विमान बनाएंगी। इससे पहले अमेरिका की कंपनी लॉकहिड मॉर्टिन ने भी भारतीय वायु सेना के लिए एक इंजन वाले फाइटर जेट बनाने के लिए डील साइन की है। फिक्की के सलाहकार रतन श्रीवास्तव ने कहा कि साब-अडानी की पार्टनरशिप का उद्देश्य भारत की नई “रणनीतिक साझेदारी” नीति के अंतर्गत विमानों का उत्पादन करना है। इस पार्टनरशिप की घोषणा शुक्रवार को की जा सकती है।

साब के प्रेजिडेंट और चीफ एग्जीक्यूटिव नई दिल्ली में शुक्रवार को एक मीडिया इवेंट का आयोजन कर रहे हैं। इसके लिए बुधवार को ही इनविटेशन भेज दिए गए थे। साब से जब इस बारे में टिप्पणी करने के लिए कहा गया तो कंपनी की तरफ से कोई टिप्पणी नहीं की गई, वहीं अडानी ग्रुप की तरफ से भी इस बारे में कोई टिप्पणी सामने नहीं आई है। देश की नई रक्षा साझेदारी नीति के तहत, विमान बनाने वाली विदेशी कंपनी भारतीय कंपनी के साथ मिलकर काम करेगी, जो विश्व स्तरीय स्वदेशी वैमानिक आधार विकसित करेगी जिसके लिए भारत दशकों से निर्माण करने के लिए संघर्ष कर रहा है।

अमेरिका की कंपनी लॉकहिड मॉर्टिन ने भारतीय कंपनी टाटा एडवांस्ड सिस्टम्स के साथ साझेदारी कर ली है। यह इसके साथ मिलकर F-16 फाइटर जेट बनाएगी। जिसका मुकाबला साब के ग्रिपेन एयरक्राफ्ट से होगा। एक सरकारी अधिकारी ने बताया कि आने वाले कुछ दिनों में भारत सरकार लॉकहिड और साब को एक औपचारिक अनुरोध जारी करेगी। इसमें सरकार भारत में फाइटर जेट डिजाइन करने, विकसित करने और उत्पादन करने की उनकी योजनाओं के बारे में जानकारी मांगेगी। भारतीय वायु सेना को अपने सोवियत युग के बेड़े को बदलने के लिए सैकड़ों विमान की जरूरत है, पीएम मोदी घरेलू उद्योग को बढ़ावा देने और आयात को कम करने में मदद करने के लिए भारत में ही विमान बनाना चाहते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग