ताज़ा खबर
 

अमित शाह के बेटे जय शाह पर लगे आरोपों पर RSS की पहली प्रतिक्रिया

जय ने एक खबर को लेकर न्यूज पोर्टल ‘द वायर’ के खिलाफ मेट्रोपोलिटन अदालत में आपराधिक मानहानि का मुकदमा दायर किया है।
Author October 12, 2017 11:37 am
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और उनके बेटे जय शाह के साथ। (फोटो-PTI)

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के बेटे जय शाह की कंपनी का मुनाफा कथित तौर पर 16,000 गुना बढ़ने के वेबसाइट ‘द वायर’ के खुलासे के बाद राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) का मानना है कि मामले की जांच होनी चाहिए लेकिन आरोप लगाने वालों को आरोपों को सिद्ध भी करना चाहिए। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में गुरुवार से शुरू हो रही तीन दिवसीय अखिल भारतीय कार्यकारी मंडल बैठक से पहले संघ के सह सरकार्यवाहक दत्तात्रेय होसबाले ने संवाददाताओं को बताया, “किसी भी भ्रष्टाचार के आरोपों की आवश्यक जांच होनी चाहिए।” होसबाले ने कहा कि प्रथम दृष्टया आरोपों के सिद्ध होने पर ही कार्रवाई हो सकती है। उससे पहले आरोप लगाने वालों को इन्हें सिद्ध करना चाहिए।

होसबाले ने नोटबंदी और जीएसटी के मसले पर कहा कि लोगों ने इन्हें स्वीकार कर लिया है और आने वाले समय में इनके सकारात्मक नतीजे सामने आएंगे। अखिल भारतीय कार्यकारी मंडल की तीन दिवसीय बैठक 12 से 14 अक्टूबर तक भोपाल के केरवा डेम क्षेत्र में शारदा विहार आवासीय विद्यालय में होगी। इस बैठक में संघ की बीते छह माह की गतिविधियों, आगामी कार्ययोजना और देश के वर्तमान हालात पर चर्चा होगी। बैठक में केरल में आरएसएस और भाजपा कार्यकर्ताओं पर हो रहे हमलों व रोहिंग्या मुसलमानों के विषय पर भी चर्चा होने की संभावना है।

जय ने एक खबर को लेकर न्यूज पोर्टल ‘द वायर’ के खिलाफ मेट्रोपोलिटन अदालत में आपराधिक मानहानि का मुकदमा दायर किया है। खबर में दावा किया गया है कि वर्ष 2014 में पार्टी के सत्ता में आने के बाद जय की कंपनी के कारोबार में कथित रूप से बेतहाशा वृद्धि हुई। ‘गोल्डन टच आॅफ जय अमित शाह’ शीर्षक वाले इस लेख के प्रकाशित होने के बाद राजनीतिक तूफान पैदा हो गया है। कांग्रेस ने इस मामले में जांच की मांग की है जबकि भाजपा ने लेख को मानहानिजनक बताया है।

न्यूज पोर्टल की रिपोर्ट में दावा किया गया है कि उनकी कंपनी के कारोबार में 2014 में भाजपा के सत्ता में आने के बाद से भारी वृद्धि दर्ज की गई। केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि मेहता ने जय का पक्ष अदालत में रखने के लिए उपस्थित होने के संबंध में विधि मंत्री रविशंकर प्रसाद बाकी पेज 8 पर से अनुमति मांगी और उन्हें इसकी अनुमति मिल गई।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग