ताज़ा खबर
 

‘संघ ने मोदी के विकास एजेंडा को हाईजैक किया’

ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के प्रतिनिधियों ने यहां आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जिस विकास के एजेंडे पर चुनाव लड़ा था वह पीछे छूट गया है। उन्होंने आरएसएस एवं अन्य हिन्दू संगठनों पर आरोप लगाया कि वे मुस्लिमों पर अपना एजेंडा थोप रहे हें। बहरहाल, उन्होंने कहा कि बोर्ड के लिए […]
Author March 22, 2015 09:11 am
आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। (फाइल फोटो)

ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के प्रतिनिधियों ने यहां आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जिस विकास के एजेंडे पर चुनाव लड़ा था वह पीछे छूट गया है। उन्होंने आरएसएस एवं अन्य हिन्दू संगठनों पर आरोप लगाया कि वे मुस्लिमों पर अपना एजेंडा थोप रहे हें। बहरहाल, उन्होंने कहा कि बोर्ड के लिए प्रधानमंत्री से मिलने का अभी समय नहीं आया है।

बोर्ड सदस्य कमाल फारुकी ने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री के साथ मुलाकात एजेंडा का हिस्सा नहीं है। बोर्ड इस बारे मे फैसला करेगा लेकिन मुझे लगता है कि यह अभी उनसे मिलने का सही समय नहीं है। अभी उसकी कोई जरूरत नहीं है और जब जरूरत पैदा होगी अब उसके अनुरूप निर्णय करेंगे।’’

उन्होंने कहा, ‘‘हम इस बात को लेकर बेताब नहीं है कि बोर्ड की मोदी से बैठक होनी चाहिए और यह अभी कोई विवाद का मुद्दा भी नहीं है।’’

फारुकी ने पीटीआई से कहा कि ऐसा प्रतीत होता है कि प्रधानमंत्री कुछ कहना चाहते हैं लेकिन उसे वह कह नहीं पा रहे र्हैं। उन्होंने कहा कि अभी ओैर हालात बिगड़ने दिया जाना चाहिये ताकि लोग आपस में चर्चा करें और चीख पड़ें की क्या हमने इस लिए (आरएसएस का एजेंडा लागू करने के लिए) वोट दिया था।

दिल्ली अल्पसंख्यक आयोग के पूर्व अध्यक्ष ने कहा, ‘‘मोदी साहब जिस एजेंडे पर वोट लेकर आये थे, वो तो पीछे छूट गया।’’ फारुकी ने कहा ‘‘हमने विकास के लिए वोट दिया था लेकिन यह एजेंडा पीछे छूट गया है और आरएसएस ने हाईजैक कर लिया है। आरएसएस के सौ साल के एजेंडे को जल्दी पूरा करने में जुटे हैं। जो दौड में एक्सपर्ट नहीं होते, और भागने की कोशिश करते है वह मुंह के बल गिरते है। हमारी पूरी उम्मीद है कि यह लोग मुंह के बल गिरेंगे।’’

बोर्ड के शनिवार से यहां शुरू हुए दो दिवसीय अधिवेशन में भाग लेने आये इमाम ए जुमा ईदगाह, लखनऊ खालिद रशीद फरंगी महली ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मिले या नहीं मिले, यह बोर्ड की बैठक का एजेंडा नहीं है। उन्होंने कहा, ‘‘यह आज के मूल एजेंडा में नहीं है और बोर्ड ने अभी तक कोई आधिकारिक रुख भी नहीं अपनाया है लेकिन मेरा मानना है कि यदि दोनों तरफ से कोई संवाद नहीं होगा तो चीजें कैसे सुलझेंगी और कैसे हल निकलेगा।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.