ताज़ा खबर
 

दो लोगों के बयान पर जांच आयोग ने रोहित वेमुला को ठहरा दिया ओबीसी, पांच लोगों ने बताया था दलित

रोहित ने पिछले साल जनवरी में खुदकुशी कर ली थी। उसे और उसके 5 दोस्तों को यूनिवर्सिटी से निलंबित कर दिया गया था।
रोहित वेमुला और दूसरी तस्वीर में उनकी मां राधिका।

हाल ही में एक नई जांच समिति ने एेलान किया था कि हैदराबाद सेंट्रल यूनिवर्सिटी का स्कॉलर रोहित वेमुला दलित नहीं बल्कि ओबीसी था। रोहित ने पिछले साल जनवरी में खुदकुशी कर ली थी। लेकिन इस मामले में कुछ चौंकाने वाले खुलासे भी हुए हैं। सिर्फ दो लोगों के बयानों के आधार पर जांच समिति ने यह फैसला किया। हालांकि बयान देने वालों में 5 लोग और थे। हिंदुस्तान टाइम्स के मुताबिक रोहित के भाई राजा वेमुला ने आरोप लगाते हुए कहा कि इस रिपोर्ट को बीजेपी और नरेंद्र मोदी के करीबी माने जाने वाले मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू के दबाव में बनाया गया है। केस के वकील जय भीमराव ने कहा कि एक बार अगर साबित हो गया कि रोहित दलित नहीं था, तो उसे कथित तौर पर आत्महत्या के लिए उकसाने वालों पर कड़े अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम के तहत मुकदमा नहीं चलाया जाएगा। यह सीधा-सीधा आरोपियों को बचाने का खेल है।

आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक गुंटूर जिले के जिलाधिकारी की अगुआई वाली जांच समिति ने 7 लोगों से पूछताछ की थी। 5 लोगों ने कहा था कि रोहित दलित था, जबकि दो लोगों ने कहा कि वह ओबीसी जाति का था। लेकिन तब भी जांच समिति ने उन 2 लोगों के बयानों को मान लिया। रोहित का लालन-पालन उनकी मां राधिका ने किया था, जो माला जाति से आती हैं। बाद में राधिका को अंजनी देवी ने गोद ले लिया था, जो ओबीसी जाति से थीं और गुंटूर के सरकारी स्कूल में प्रिंसिपल थीं।

इतना ही नहीं रोहित के दादा वेंकटेश्वरुल्लू ने भी उसके दलित होने का समर्थन किया। राधिका और उसके दो बच्चों ने भी यही बयान दिया, लेकिन अंजनी देवी ने नहीं। उन्होंने कमिशन को बताया कि उन्होंने रोहित की मां को एक अनुसूचित जाति की महिला से गोद लिया था। राधिका के वकील ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश का हवाला देते हुए कहा कि गोद लेने से उस शख्स की जाति नहीं बदल जाती। नए जांच आयोग ने रोहित के पिता और उनकी दादी की बात मानी। इन दोनों दावा किया था कि रोहित वडेरा जाति (ओबीसी) से था।

रोहित वेमुला का SC सर्टिफिकेट रद्द कर सकती है आंध्र प्रदेश सरकार; मां से कहा- '2 हफ्तों में दिखाएं सबूत', देखें वीडियो ः

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.