ताज़ा खबर
 

रोहिंग्‍या मुस्लिम: अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष बोले- मदद अपनी जगह, पर देश की सुरक्षा पहले

अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष ने कहा, ‘‘रोहिंग्‍या के मामले को धार्मिक चश्मे से नहीं देखा जाना चाहिए।"
Author September 17, 2017 19:48 pm
मुख्‍तार अब्‍बास नकवी से बात करते राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष सैयद गैयूरुल हसन रिजवी। (PIB)

देश में मौजूद करीब 40,000 रोहिंग्‍या मुसलमानों को उनके देश भेजने के सरकार के रूख का समर्थन करते हुए राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष सैयद गैयूरुल हसन रिजवी ने आज कहा कि शरणार्थियों और मानवता की मदद अपनी जगह है, लेकिन देश की सुरक्षा सबसे पहले है। रिजवी ने कहा, ‘‘हमारा भी वही रुख है जो सरकार का रुख है। बांग्लादेश ने भी सुरक्षा को लेकर चिंता जताई है। ऐसे में हमारे यहां सुरक्षा को लेकर चिंता होना लाजिमी है। लोगों की मदद और मानवता की बात अपनी जगह है, लेकिन देश की सुरक्षा सबसे पहले है।’’ उन्होंने सवाल किया, ‘‘ शरणार्थी शिविरों में लोगों को बसाने से सुरक्षा संबंधी खतरा पैदा होगा तो फिर इसकी जिम्मेदारी कौन लेगा?’’ रिजवी ने कहा, ‘‘जहां तक मदद की बात है तो ऑपरेशन इंसानियत के तहत मदद पहुंचाई गई है। सरकार ने रोहिंग्‍या शरणार्थियों के लिए मदद बांग्लादेश पहुंचाई है। भारत ने हमेशा मानवता की मदद की है।’’ अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष ने यह भी कहा, ‘‘रोहिंग्‍या के मामले को धार्मिक चश्मे से नहीं देखा जाना चाहिए। यह मानवीय समस्या है, लेकिन साथ ही भारत के लिए खतरे की आशंका है। मानवीय मदद हो रही है और सुरक्षा खतरे से भी निपटा जा रहा है। ऐसे में सरकार के कदम पर सवाल करना ठीक नहीं है।’’

उच्चतम न्यायालय रोहिंग्‍या मुसलमान शरणार्थियों को वापस म्यांमा भेजने के सरकार के फैसले को चुनौती देने वाली याचिका पर 18 सितंबर को सुनवाई करेगा। हाल ही में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरण रिजीजू ने कहा था कि रोहिंग्‍या शरणार्थी गैरकानूनी प्रवासी हैं और इनको वापस भेजा जाएगा। पिछले दिन संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद के प्रमुख जैद राद अल हुसैन ने रोहिंग्‍या मामले पर भारत के रुख की आलोचना की थी जिसका भारत सरकार ने प्रतिवाद किया था और आरोपों को खारिज कर दिया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. S
    sarvottam
    Sep 18, 2017 at 8:34 am
    शरणार्थी ायता करके देशकी सुरक्षाको खतरा पैदा करना आत्मघाती कदम | भारत आतंकियोंसे अकेला जूझ रहा है | शरणार्थी ायताके हिमायती आतंकियोंसे जूझनेमें भारतकी कितनी ायता कर रहे हैं, किसे नहीं पता ?
    (0)(0)
    Reply
    1. R
      Rajpal Singh
      Sep 17, 2017 at 5:49 pm
      तुम किसका दर्द बांटने निकले, तुम किसको हाथ बढ़ाने निकले जब घर में बैठे लोग है भूखे, तुम किस की भूख मिटाने निकले : justraaj. /2017/09/blog-post_9
      (0)(0)
      Reply
      1. O
        Online Job
        Sep 17, 2017 at 5:27 pm
        🔴🆓रोजगार योजना🆓🔴 ✔मोदी जी द्वारा चलाए गए डिजिटल इन्डिया से जुड़े और कमाए 15,000 - 20,000 रुपए महीना ✔अब कोई नही रहेगा बेरोज़गार और नही करेगा कोई बेरोज़गार आत्महत्या ✔क्योंकि अब आ गई है 21वीं सदी की सबसे बड़ी रोज़गार क्रांति ✔हमारा सपना पूरे भारत को ही नही पूरी दुनिया को डिजिटल इंडिया से जोड़ना ✔सबका साथ सबका विकास ➡शुरुवात कैसे करे 📲ChampCash-Digital India-App को प्ले स्टोर से इन्स्टल करे, और साइन अप करे, $1 डॉलर बोनस स्पौन्सर 🆔: 4⃣6⃣8⃣9⃣4⃣2⃣ 👉🏻चैलेंज को पूरा करे 👉🏻और इंकम करनी शुरू करे 👉🏻इसे जरूर नोट कर ले👉🏻 स्पौन्सर 🆔: 4⃣6⃣8⃣9⃣4⃣2⃣ . . . . . . . . Hshhxheujsisk
        (1)(0)
        Reply
        सबरंग