December 10, 2016

ताज़ा खबर

 

छुट्टे से छुटकारा पाने के लिए सड़क मंत्रालय की योजना, टोल बूथ पर मिलेंगे 5 से 100 रुपए तक के कूपन

इन कूपन का इस्तेमाल नेशनल हाईवे पर टोल टैक्स देन व वाहन चालकों को टोल काटने के बाद शेष राशि दिए देने के लिए होगा।

सांकेतिक तस्वीर

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय टोल टैक्स के लिए हाई सिक्योरिटी कूपन लाने की तैयारी कर रहा है। बताया जा रहा है कि ये कूपन 5 रुपए से 100 रुपए तक के होंगे, जिनका इस्तेमाल नेशनल हाईवे पर टोल टैक्स देन व वाहन चालकों को टोल काटने के बाद शेष राशि दिए देने के लिए होगा। यह फैसला सरकार के इस निर्देश के मद्देनजर लिया जा सकता है जिसमें कहा गया है कि राष्ट्रीय राजमार्गों पर टोल टैक्स की छूट 2 दिसंबर से आगे नहीं बढ़ाई जा सकती।

देश के राष्ट्रीय राजमार्गों पर 2 दिसबंर की आधी रात से टोल लिया जाना शुरू हो जाएगा। सरकार ने नोटबंदी के बाद हो रही दिक्कतों को टोल वसूली पर रोक लगाई थी जिसे 24 नवंबर को दो दिसंबर तक बढ़ा दिया गया था। निम्न दर की मुद्राओं की किल्लत के चलते टोल चुकाने वालों को छुट्टे पैसे देना अभी भी चुनौती रहेगी। एक सूत्र ने बताया कि परिवहन मंत्रालय ने 5, 10, 50 और 100 रुपए के कूपन लाने का प्रस्ताव रखा है, जिन्हें प्रमुख टोल प्लाजा पर जारी किया जाएगा। वाहन चालक इन कूपन को खरीद सकेंगे और देश के करीब 400 टोल प्लाजा पर इस्तेमाल कर सकेंगे।

500 रुपए के पुराने नोट का इस्तेमाल करके इन कूपन को खरीदा जा सकेगा। बता दें कि सरकार के निर्देश हैं कि टोल नाकों पर 15 दिसंबर तक 500 रुपए के पुराने या अप्रचलित नोट लिए जाएंगे। हालांकि, मंत्रालय इस बात पर भी विचार कर रहा है कि कूपन खरीदने के लिए 500 के नोट की मियाद 31 दिसंबर तक बढ़ा दी जाए। इसके अलावा एसबीआई व अन्य बैंकों की मदद से टोल प्लाजों पर पर्याप्त संख्या में स्वाइप मशीनें लगाई जाएंगी ताकि कार्ड से भुगतान सुगम बनाया जा सके।

सुरक्षा के लिहास से इन कूपन में बारकोड, NHAI लोगो के साथ होलोग्राम व सीरियल नंबर जैसे सिक्योरिटी फीचर्स भी होंगे। इन फीचर्स के जरिए नकली कूपन से बचा जा सकेगा। इसके अलावा इन कूपन को कालाधन रखने वाले और कालाबजारी करने वालों की पहुंच से भी दूर रखा जाएगा। इसके लिए नियम बनाया जाएगा किइन्हें मंत्रालय के अधिकारियों से ही खरीदा जा सके, ताकि कोई भी इन्हें थोक में ना खरीद सके।

राहुल गांधी का ट्विटर अकाउंट हैक; किए गए गांधी परिवार के बारे में आपत्तिजनक ट्वीट

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on December 1, 2016 8:12 am

सबरंग