December 06, 2016

ताज़ा खबर

 

नोटबंदी के दो दिन बाद ही अस्तित्व में आया रिलायंस और एसबीआई का साझा वेंचर ‘जियो पेमेंट बैंक’

भारतीय रिजर्व बैंक ने सितंबर 2015 में पेमेंट बैंक को सैद्धांतिक तौर पर इस शर्त के साथ मंजूरी दी थी कि इसकी स्थापना 18 महीने के अंदर की जाएगी।

रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के चेयरमैन मुकेश अंबानी (बाएं) और एसबीआई की चेयरपर्सन अरुंधति भट्टाचार्य। (फाइल फोटो)

रजिस्ट्रार ऑफ कंपनी (आरओसी) के पास जमा किए गए दस्तावेज के अनुसार रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड और भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) का साझा उपक्रम जियो पेमेंट बैंक लिमिटेड नोटबंदी के दो दिन बाद 10 नवंबर को आधिकारिक तौर पर निगमित किया गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आठ नवंबर को रात आठ बजे 500 और 1000 के नोट उसी रात 12 बजे से बंद किए जाने की घोषणा की थी। भारतीय रिजर्व बैंक ने सितंबर 2015 में पेमेंट बैंक को सैद्धांतिक तौर पर इस शर्त के साथ मंजूरी दी थी कि इसकी स्थापना 18 महीने के अंदर की जाएगी। दूरसंचार क्षेत्र में रिलायंस ने सितंबर पहले हफ्ते में रिलायंस जियो के साथ कदम रखा था। रिलायंस जियो पहले से ही प्रीपेड मोबाइल वैलेट बाजार में उतार चुका है। विशेषज्ञों के अनुसार जियो पेमेंट बैंक को जियो के उपभोक्ताओं की बड़ी संख्या और एसबीआई के बड़े नेटवर्क का फायदा मिलेगा।

आरओसी के दिए गए दस्तावेज के अनुसार जियो पेमेंट बैंक के बोर्ड में सात निदेशक हैं जिनमें एच श्रीकृष्णन भी शामिल हैं। श्रीकृष्णन को जियो पेमेंट बैंक का मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) नामित किया गया है। आलोक अग्रवाल और एसबीआई की डिप्टी मैनेजिंग डायरेक्टर (कॉरपोरेट स्ट्रैटजी एंड न्यू बिजनेस) मंजू अग्रवाल भी बोर्ड में शामिल हैं। मंजू अग्रवाल नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया के बोर्ड की भी सदस्य हैं। बोर्ड में वित्तीय सलाह देने वाली संस्था मोइलीज इंडिया की सीईओ मनीषा गिरोत्रा को भी सदस्य बनाया गया है। मनीषा माइंडट्री और अशोक लेलैंड के बोर्ड में भी हैं। इट्ज़ कैश कार्ड के बोर्ड डायरेक्टर राजेंद्र कुमार सर्राफ भी जियो पेमेंट बैंक बोर्ड के सदस्य हैं।

आईडीबीआई बैंक, बीएसई लिमिटेड, आदित्य बिरला हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड, बीओआई मर्चेंट बैंकर लिमिटेड इत्यादि के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स में शामिल सेतुरत्नम रवि और आईआईएसएमआर यूनिवर्सिटी के प्रेसिडेंट विवेक भंडारी भी जियो पेमेंट बैंक बोर्ड के सदस्य हैं। रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड को ईमेल भेजकर जब इंडियन एक्सप्रेस ने जियो पेमेंट बैंक के लॉन्च डेट के बारे में जानकारी मांगी तो कोई जवाब नहीं मिला।

जिन आठ कंपनियों ने पेमेंट बैंक लॉन्च करने का प्रस्ताव दिया था उनमें एयरटेल पेमेंट बैंक सबसे पहले 23 नवंबर को लॉन्च हो गया। जिन कंपनियों ने पेंमेंट बैंक लॉन्च करने का प्रस्ताव दिया था उनके नाम हैं- जियो पेमेंट बैंक, पेटीएम पेमेंट बैंक, इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक, एनएसडीएल पेमेंट बैंक, आदित्य बिरला आइडिया पेमेंट बैंक, फाइनो पेटेक और वोडाफोन एम-पैसा।

राजस्थान में एयरटेल पेमेंट बैंक के लॉन्च होने के दो दिन के अंदर 10 हजार ग्राहकों ने इसमें अपने बचत खाते खोले थे। हालांकि भारत में पेमेंट बैंक स्थापित करने की राह आसान नहीं मानी जाती है। पहले पहल 11 कंपनियों ने सैद्धांतिक तौर पर पेमेंट बैंक खोलने के लिए आवेदन दिया था लेकिन सन फार्मा के प्रमोटर दिलिप संघवी, आईडीएपसी बैंक लिमिटेड और टेलेनॉर फाइनेंशियल सर्विसेज तथा टेक महिंद्रा और चोलामंडलम इन्वेस्टमेंट एंड फाइनेंस ने बाद में अपने नाम वापस ले लिए थे। प्रस्ताव वापस लेने के बाद टेक महिंद्रा ने कहा था कि ज्यादा प्रतिस्पर्धा से इस सेक्टर में मुनाफा की दर कम हो जाएगी।

वीडियोः मुकेश अंबानी ने की घोषणा 31 मार्च तक जियो देगा फ्री डाटा, कॉलिंग और सर्विसेज

वीडियोः वीडियो मे देखिए, जियो सिम खरीदने का ये है तरीका

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on December 1, 2016 4:06 pm

सबरंग