ताज़ा खबर
 

केंद्र सरकार को यह समझना चाहिए कि कश्मीरी पंडितों की वापसी तभी होगी जब…

आल स्टेट कश्मीरी पंडित कान्फ्रेंस (एएसकेपीसी) ने कहा कहना है कि कश्मीरी पंडितों की वापसी तभी संभव है...
Author जम्मू | September 7, 2016 10:46 am
कश्मीरी पंडित (File Photo)

आल स्टेट कश्मीरी पंडित कान्फ्रेंस (एएसकेपीसी) ने कहा कहना है कि कश्मीरी पंडितों की वापसी तभी संभव है जब उन्हें घाटी में ‘अलग स्थान’ पर बसाया जाए। एएसकेपीसी महासचिव टी के भट ने कहा, ‘‘भारत सरकार को यह समझना चाहिए कि कश्मीरी पंडितों की वापसी तभी संभव है जब उन्हें कश्मीर में एक ऐसे स्थान पर बसाया जाए और उनका पुनर्वास किया जाए जहां भारतीय संविधान का मुक्त प्रवाह हो।’’

उन्होंने कहा कि हमारे अध्यक्ष रवींद्र रैना ने केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह के नेतृत्व वाले सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात की और बैठक में इस बिंदु का उठाया।

बैठक में एक ज्ञापन भी सौंपा गया जिस पर 16 कश्मीरी पंडित संगठनों की ओर से हस्ताक्षर किया गया था। भट ने राज्य विधानसभा और संसद में पंडित समुदाय के लिए आरक्षण की भी मांग की।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. N
    Nastik
    Sep 7, 2016 at 6:02 am
    पंडितों को भी आरक्छन मिलना चाहिए विधान सभा में , उनके पुराने घरों को पुनर्वास किया जाना चाहिए , तभी शांति का माहौल बनेगा
    (0)(0)
    Reply
    सबरंग