ताज़ा खबर
 

बुलेट ट्रेन चलवाने के लिए लोगों को रखने का काम शुरू, NHSRCL में आई पहली वैकेंसी

प्रधानमंत्री कार्यालय ने मुंबई-सूरत रूट के अलावा दो अन्य चेन्नई-बेंगलुरु और वाराणसी-कोलकाता रूट पर भी बुलेट ट्रेन चलाने को मंजूरी दी है।
NHSRCL ने टॉप मैनेजमेंट के लिए चार पदों की भर्ती की प्रक्रिया शुरू कर दी है। (प्रतीकात्मक चित्र)

मुंबई-अहमदाबाद के बीच बुलेट ट्रेन दौड़ाना प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का ड्रीम प्रोजेक्ट है। इसको अमली जामा पहनाने के लिए सरकार ने नेशनल हाईवे स्पीड रेल कॉरपोरेशन लिमिटेड की स्थापना की है। यही कंपनी बुलेट ट्रेन के सारे प्रोजेक्ट देखेगी। भारतीय रेल ने इस नई कंपनी के टॉप मैनेजमेंट के लिए चार पदों की भर्ती की प्रक्रिया शुरू कर दी है। कंपनी में उच्च अधिकारियों के चार पदों के लिए वैंकेंसी जारी की गई है। इन चार पदों में मैनेजिंग डायरेक्टर, डायरेक्टर (प्रोजेक्ट), डायरेक्टर (इलेक्ट्रिकल एंड सिस्टम) और डायरेक्टर (फाइनान्स) शामिल है। इन पदों पर उम्मीदवारों का सेलेक्शन कैबिनेट सेक्रेटरी की अध्यक्षता वाली एक कमिटी करेगी।

इसके साथ ही प्रधानमंत्री कार्यालय ने मुंबई-सूरत रूट के अलावा दो अन्य चेन्नई-बेंगलुरु और वाराणसी-कोलकाता रूट पर भी बुलेट ट्रेन चलाने को मंजूरी दी है। इन तीनों प्रोजेक्ट पर करीब एक लाख करोड़ रुपये खर्च होंगे। तीनों ही रूट पर खास तौर पर बनाए गए एलिवेटेड प्लेटफॉर्म पर ट्रेनें रुकेंगी। उम्मीद जताई जा रही है कि इन रूट्स पर निर्माण कार्य देशभर की मेट्रो ट्रेन की तरह ही किए जाएंगे। इन तीनों प्रोजेक्ट के लिए कई चीनी और फ्रेन्च कंपनियों ने अपनी रूचि दिखाई है। पीएमओ चाहता है कि आजादी की 75वीं वर्षगांठ यानी साल 2022 तक ये तीनों प्रोजेक्ट पूरे हो जाएं। पीएमओ के अधिकारी खुद इस अतिमहत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट पर सीधे नजर बनाए हुए हैं।

Read Also-RBI के पूर्व डिप्टी गवर्नर बोले: मुंबई-अहमदाबाद बुलेट ट्रेन परियोजना ‘बेकार’, ‘धन की बर्बादी’

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. R
    Rahul
    Sep 22, 2016 at 3:57 am
    2022 me to na modi ji pm hinge na cm 1 MP honge bas
    (0)(0)
    Reply