December 03, 2016

ताज़ा खबर

 

गड्ढे भरने के काम आएंगे 500 और 1000 के पुराने नोट, जानिए क्या होगी पूरी प्रक्रिया

आरबीआई के पास करोड़ों लोगों द्वारा लौटाए जाने वाले पुराने 500 और 1000 के नोटों को नष्ट करने का जिम्मा है।

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (Source: Agencies)

मंगलवार (8 नवंबर) को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रात 12 बजे से 500 और 1000 के सभी पुराने नोट बंद किए जाने की घोषणा की। इस घोषणा के बाद आम लोगों ही की तरह नोट जारी करने वाले रिज़र्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) को भी पुराने नोटों की चिंता सताने लगी। आरबीआई के पास पहले से पड़े नोटों के अलावा करोड़ों लोगों द्वारा लौटाए जाने वाले पुराने नोटों को नष्ट करने का जिम्मा है। आम लोग 30 दिसंबर तक अपने पुराने 500 और 1000 के नोट बैंकों और डाकघरों में जाकर बदल सकते हैं। वहीं आरबीआई ने 500 और 1000 रुपये के नोटों को नष्ट करने की पूरी योजना बना ली है।

आरबीआई के एक अधिकारी ने इकोनॉमिक्स टाइम्स को बताया कि भारत के केंद्रीय बैंक के पास कई ट्रक ऐसे नोट हैं। इन नोटों को पहले टुकड़े-टुकड़े किया जाएगा। अधिकारी ने नाम न जाहिर करने की शर्त पर अखबार को बताया, “इन नोटों के ऐसे टुकड़े किए जाएंगे कि इन्हें दोबारा जोड़ा न जा सके। उसके बाद इन्हें तपा कर ईंट की शक्ल में बदल दिया जाएगा। उसके बाद इन्हें लैंड फीलिंग (गड्ढे भरने) करने वाले ठेकेदारों को दे दिया जाएगा।” मार्च 2016 तक देश में 500 के करीब 1570 करोड़ नोट प्रचलन में थे। वहीं 1000 के करीब 632 करोड़ नोटों का इस्तेमाल हो रहा था।

वीडियोः 500 और 1000 के नोट बंद होने के बाद बेटे को मुश्किल हुआ कफन खरीदना-

पूरी दुनिया में पुराने नोटों या प्रचलन से बाहर कर दिए गए नोटों को नष्ट करने के लिए अलग-अलग तरीके अपनाए जाते हैं। कुछ जगहों पर जलाया भी जाता है। बैंक ऑफ इंग्लैंड 1990 तक ऐसे नोटों को जलाकर बैंक की इमारत को गर्म रखने का काम लेता था। 2000 के दशक की शुरुआत में बैंक ऑफ इंग्लैंड ने पुराने नोटों को रिसाइकिल करना शुरू कर दिया। रिसाइकलिंग में पुराने या प्रचलन से बाहर कर दिए गए नोटों को जमीन के नीचे दबाकर सड़ाया जाता है और बाद में इसका इस्तेमाल खाद के तौर पर किया जाता है।

पीएम मोदी की घोषणा के अनुसार गुरुवार (10 नवंबर) से बैंक और डाकघर में 500 और 1000 रुपये के नोट बदले या जमा किए जा सकते हैं। ये सुविधा 30 दिसंबर तक जारी रहेगी। बैंक में शुरू के कुछ समय तक एक दिन में केवल चार हजार रुपये बदले जा सकेंगे। पैसे जमा करने की कोई सीमा नहीं। घोषणा के 72 घंटों तक पुराने नोट से रेलवे, सरकारी बसों और एयरपोर्ट पर टिकट खरीद सकेंगे। ऑनलाइन पेमेंट, डेबिट, क्रेडिट और डिमांड ड्राफ्ट से भुगतान भी जारी रहेगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 10, 2016 8:25 am

सबरंग