December 04, 2016

ताज़ा खबर

 

पिछले चार साल में बैंकों और एटीएम से ग्राहकों तक पहुंचे 19 लाख जाली नोटः RBI

इन जाली नोटों में 100 रुपये के 5.42 लाख नोट (54.21 करोड़ रुपये), 500 के 8.56 लाख नोट (करीब 42.8 करोड़ रुपये) और 1000 रुपये के 4.7 लाख नोट (47 करोड़ रुपये) थे।

एक एटीएम के बाहर पैसे निकालने के लिए लगी कतार (फाइल फोटो)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नोटबंदी की घोषणा करते हुए इसे जाली नोटों से छुटकारा पाने में भी मददगार बताया। लेकिन जनता को नोट देने वाले बैंकों और एटीएम से नकली नोट पहुंच रहे हों तो उन पर कहां तक रोक लगाई जा सकेगी? जी हां, पूरे देश में पिछले साढ़े तीन साल में भारतीय बैंकों और एटीएम से 19 लाख जाली नोट (14.97 करोड़ रुपये के बराबर) लोगों तक पहुंचे। ये जानकारी भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) की रिपोर्ट “बैंक चैनल के माध्यम से जारी नोटो की पहचान”  के माध्यम से सामने आई है। ये नोट जाली हैं इसलिए आरबीआई इन नोटों का कोई वास्तविक मूल्य नहीं मानता क्योंकि ये नोट जाली होते हैं और इनका केवल प्रतीकात्मक इस्तेमाल होता है। इन जाली नोटों में 100 रुपये के 5.42 लाख नोट (54.21 करोड़ रुपये), 500 के 8.56 लाख नोट (करीब 42.8 करोड़ रुपये) और 1000 रुपये के 4.7 लाख नोट (47 करोड़ रुपये) थे।

एटीएम या बैंक से नकली नोट मिलने की घटनाएं समय समय पर पूरे देश में सामने आती रहती हैं। एक-दो नोटों मिलने पर खबर मीडिया तक नहीं पहुंचती इसलिए इसका प्रभाव का सही पता नहीं चलता है। टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार अक्टूबर 2008 में एक एलआईसी कर्मचारी राजू को केनरा बैंक के एटीएम से 500 के नौ नकली नोट मिले थे। राजू बेंगलुरु स्थित सिटी रेलवे स्टेशन पर टिकट आरक्षित कराने गया था। जब रेलवे बुकिंग काउंटर पर क्लर्क ने नोट लेने इनकार कर दिया। राजू ने उन्हें बताया कि उसने वो नोट एटीएम से निकाले हैं। उसके पास एटीएम से पैसे निकालने की पर्ची भी थी।

आरबीआई के निर्देशों के अऩुसार हर बैंक को एटीएम में पैसे डालने से पहले करेंसी चेकिंग मशीन से उनके असली होने की पुष्टि करनी होती है। कई बैंकों ने एटीएम में पैसे डालने के काम बाहरी एजेंसियों को दे रखा है। इसे एटीएम में नकली नोटों डालने से जोड़ कर देखा जाता है। इसके अलावा पर्याप्त कर्मचारियों की कमी को भी बैंक सुरक्षा जांच में एक बड़ी कमी बताते हैं। इसके अलावा बैंक के सभी कर्मचारियों को नकली नोटों को पहचानने का उचित प्रशिक्षण न मिल पाना भी बैंक या एटीएम में नकली नोट पहुंचने की एक वजह है।

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के अनुसार अगर किसी एटीएम से एक जाली नोट निकले तो उसे बैंक को लौटा देना चाहिए। बैंक अक्सर उन्हें वापस भी ले लेते हैं। लेकिन अगर किसी एटीएम से एक बार पैसे निकालने पर चार या उससे अधिक जाली नोट मिले तो महीने के अंत में इसकी सूचना पुलिस को देनी चाहिए। पुलिस अधिकारी के अनुसार पांच या उससे अधिक जाली नोट एक बार में एटीएम से निकलने पर पुलिस में एफआईआर दर्ज होनी चाहिए। बैंकिंग विशेषज्ञों के अनुसार अगर किसी एटीएम से जाली नोट निकले तो उसे तुरंत ही एटीएम में लगे सीसीटीवी कैमरे के सामने दिखा देना चाहिए।

वीडियोः बैंक से नहीं बदलवा सकेंगे पुराने नोट; जानिए कहां-कहां चलेंगे 500 और 1000 रुपए के पुराने नोट

वीडियोः नोटबंदी पर पीएम के सर्वे को शत्रुघ्न सिन्हा ने बताया प्लांटेड; कहा- मूर्खों की दुनिया में जीना बंद करें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 28, 2016 10:30 am

सबरंग