ताज़ा खबर
 

भारत को हमला करके POK पर कर लेना चाहिए कब्जा, करवा दे पाकिस्तान के 3 टुकड़े: बाबा रामदेव

इससे पहले योग गुरु बाबा रामदेव ने एक कार्यक्रम में कहा था कि चीन शांति की भाषा नहीं समझता। रामदेव ने कहा कि जो जैसा करता है उसे वैसी ही भाषा में समझाना चाहिए।
योग गुरु बाबा रामदेव ने एक निजी टीवी चैनल से कहा कि भारत को पाकिस्तान से युद्ध कर लेना चाहिए।

योग गुरु बाबा रामदेव ने रविवार (13 अगस्त) को कहा कि भारत को आक्रमण कर पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर पर फिर से कब्जा कर लेना चाहिए, साथ ही उन्होंने चीनी वस्तुओं का पूरी तरह बहिष्कार करने का आह्वान भी किया। समाचार चैनल इंडिया टीवी के एक कार्यक्रम
के दौरान रामदेव ने कहा, “हमारे कितने जवान शहीद हो रहे हैं। वे (पाकिस्तान) हम पर बार-बार हमले कर रहे हैं। इस तरह के सारे
हमलों को खत्म करने के लिए एक युद्ध क्यों न किया जाए? हमें हमला कर पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर को जीतकर फिर से
भारत में मिला लेना चाहिए।”

योग गुरु रामदेव ने कहा, “भारत को बलूचिस्तान की आजादी के आंदोलन का समर्थन करना चाहिए और पाकिस्तान के तीन टुकड़े कर देने चाहिए।” योग गुरु से विशाल कारोबारी बन चुके रामदेव ने खुलासा किया कि उनकी कंपनी जम्मू एवं कश्मीर में 150 एकड़ भूमि के अधिग्रहण की प्रक्रिया में है, जिस पर स्थापित कारखाने में जल्द ही कश्मीरी युवाओं को नौकरी दी जाएगी। रामदेव ने साथ ही यह भी दावा किया कि योग में प्रशिक्षित व्यक्ति कभी भी आतंकवादी नहीं बन सकता और इतिहास में ऐसा कभी नहीं हुआ कि योग में पारंगत कोई व्यक्ति आतंकवादी बना हो।

रामदेव ने चीनी वस्तुओं का पूरी तरह बहिष्कार करने का आह्वान भी किया और कहा कि चीन, पाकिस्तान को आतंकवादी गतिविधियों
में मदद करता रहा है। उन्होंने कहा, “हम आसानी से चीन से आगे निकल सकते हैं और सुपरपॉवर बन सकते हैं।” रामदेव ने कहा कि वह हाफिज सईद, दाऊद इब्राहिम और मसूद अजहर जैसे आतंकवादियों के खिलाफ कार्रवाई को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार के प्रति बेहद आशावान हैं। रामदेव ने कहा, “2019 तक इंतजार कीजिए, मेरे खयाल से हम ऐसा कर सकते हैं।”

इससे पहले योग गुरु बाबा रामदेव ने एक कार्यक्रम में कहा था कि चीन शांति की भाषा नहीं समझता। रामदेव ने कहा कि जो जैसा करता है उसे वैसी ही भाषा में समझाना चाहिए। रामदेव ने समाचार एजेंसी एएनआई से कहा कि हम योग की भाषा में बात करते हैं लेकिन जब कोई यह नहीं समझ पाता है तो ऐसे लोगों को युद्ध की भाषा में जवाब देना जरूरी है। इसके बाद बाबा रामदेव ने कहा कि चीन शांति बनाए रखने पर यकीन नहीं करता है। अगर चीन ने शांति बनाए रखने पर विश्वास किया होता तो आज दलाई लामा यहां नहीं होते। कार्यक्रम में दलाई लामा भी मौजूद थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. K
    Kunwar Pal Singh
    Aug 14, 2017 at 5:43 pm
    पाक में जाकर योगासन कराओ आंतकवादी बनना बन्द हो जाएगें। सब शान्ति से रहेगें।
    (0)(0)
    Reply
    1. K
      K P Singh
      Aug 14, 2017 at 5:37 pm
      रामदेव जी आप पाक और POK में जाकर सभी को योगा करो फिर कोई आंतकवादी नहीं बनेगा और भारत में आंतकवादियों का आना बन्द हो जाएगा।
      (0)(0)
      Reply
      1. M
        manish agrawal
        Aug 14, 2017 at 1:13 pm
        बाबा रामदेव , आप अपना हज़ारों करोड़ का व्यवसाय सम्भालो और योगासन करो ! हिन्दोस्तान के Defense Analyst बनने की चेष्टा नहीं करो ! ये बहुत तकनीकि और जटिल विषय है ! पाकिस्तान को क्या पतंजलि फार्मेसी में बना "आंवले का मुरब्बा " समझ रखा है की उसके 3 टुकड़े कर दोगे ? पाकिस्तान एक परमाणु ताक़त है और उसके एटमी हथियार , तादाद में हिन्दोस्तान से ज्यादा है ! गौरी , गजनवी और अब्दाली जैसी एटमी हथियार ढोने में सक्षम मिसाइल्स और F-16 लड़ाकू विमान भी उसके पास हैं ! उत्तर कोरिया , अमेरिका के मुकाबले बहुत छोटी परमाणु ताक़त है , फिर भी अमेरिका उलझना नहीं चाहता और आप हिन्दोस्तान को जंग की सलाह देकर suicidal path पर ले जाना चाहते हो ?
        (0)(0)
        Reply
        1. R
          rajendra
          Aug 14, 2017 at 12:48 pm
          बिलकुल ठीक कह रहे हैं स्वामीजी
          (0)(0)
          Reply
          सबरंग