ताज़ा खबर
 

पतंजलि फूड पार्क: रामदेव के भाई रामभरत से पुलिस कर रही सवाल

हरिद्वार के गांव पदार्था में योग गुरु रामदेव के पतंजलि फूड व हर्बल पार्क के मुख्य द्वार पर बुधवार को सुरक्षाकर्मियों और ट्रक यूनियन सदस्यों के बीच हुए पथराव और गोलीबारी में एक व्यक्ति की मौत हो गई। हिंसक झड़प में पांच लोग घायल हो गए। हरिद्वार पुलिस ने रामदेव के छोटे भाई रामभरत और फूड पार्क के दो अधिकारियों को हिरासत में लिया है।
Author May 28, 2015 11:54 am
पतंजलि फूड पार्क में हुए हिंसक संघर्ष में एक की मौत, बाबा रामदेव का भाई हिरासत में। (फोटो: जनसत्ता)

हरिद्वार के गांव पदार्था में योग गुरु रामदेव के पतंजलि फूड व हर्बल पार्क के मुख्य द्वार पर बुधवार को सुरक्षाकर्मियों और ट्रक यूनियन सदस्यों के बीच हुए पथराव और गोलीबारी में एक व्यक्ति की मौत हो गई। हिंसक झड़प में पांच लोग घायल हो गए। हरिद्वार पुलिस ने रामदेव के छोटे भाई रामभरत और फूड पार्क के दो अधिकारियों को हिरासत में लिया है।

हरिद्वार की वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक स्वीटी अग्रवाल के मुताबिक, बुधवार सुबह 11:45 बजे पतंजलि फूड व हर्बल पार्क के मुख्य द्वार पर हिंसक झड़प हुई। घटना में पांच लोग घायल हो गए जबकि ट्रक मालिक दलजीत सिंह (50) की मौत हो गई। मामले में रामदेव के भाई रामभरत और उनके दो साथियों से पूछताछ की जा रही है।

एसएसपी ने बताया कि पुलिस ने पतंजलि फूड पार्क में लगे सभी सीसीटीवी कैमरों के फुटेज कब्जे में ले लिए हैं। फूड पार्क की तलाशी ली जा रही है। अब तक पुलिस ने फूड पार्क से 12 बोर के छह रिवाल्वर बरामद किए हैं। शुरुआती जांच में पता चला है कि स्थानीय पथरी ट्रक आॅनर वेलफेयर एसोसिएशन और पतंजलि फूड पार्क के बीच माल ढुलाई को लेकर विवाद चल रहा था। ट्रक यूनियन की मांग थी कि पतंजलि फूड पार्क बाहर वालों के ट्रक ढुलाई के लिए न लेकर उनके ट्रकों को ही काम दे।

एसएसपी ने बताया कि रामभरत फूड पार्क से बाहर आए तो उनके कहने पर ही सुरक्षाकर्मी बाहर आए और फसाद शुरू हुआ। रामभरत और फूड पार्क के सुरक्षाकर्मियों के इंचार्ज और उनके एक अधिकारी को पुलिस ने पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है। पुलिस दलजीत सिंह की पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार कर रही है।

पथरी ट्रक ऑनर वेलफेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष धमेंद्र चौहान ने बताया कि उनका पिछले एक महीने से पतंजलि फूड पार्क के प्रबंधन से स्थानीय और बाहरी ट्रकों की ढुलाई को लेकर विवाद चल रहा था। यूनियन का अक्तूबर 2014 में पतंजलि फूड पार्क के प्रबंधन से समझौता हुआ था कि माल ढुलाई के लिए स्थानीय ट्रक वालों को प्राथमिकता दी जाएगी। प्रबंधकों ने अचानक यह समझौता तोड़ दिया और बाहर के ट्रकों को प्राथमिकता देनी शुरू कर दी। इसके विरोध में मंगलवार से स्थानीय ट्रक यूनियन ने बाहरी ट्रक वालों को फूड पार्क में घुसने से रोक दिया। बुधवार को भी स्थानीय ट्रक वालों ने बाहरी ट्रकों को रोकना शुरू किया तो यह विरोध खूनी संघर्ष में बदल गया।

मुस्तफाबाद पदार्था के उपप्रधान अब्दुल अफीस ने बताया कि फूड पार्क के सुरक्षाकर्मियों ने उनकी दुकान पर भी जमकर तोड़फोड़ की जबकि उनका इस झगड़े से कोई लेना-देना नहीं था। इस गोलीबारी में साइकिल पर घास लेकर जा रहा 60 साल का हमीद नाठल दाहिने पैर में गोली लगने से घायल हो गया।

रामभरत को पुलिस हिरासत में लिए जाने के विरोध में पतंजलि योग पीठ के कर्मचारियों ने कनखल के दिव्य योग मंदिर में एकत्र होकर प्रदर्शन किया। वहीं दूसरी और उत्तराखंड कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय ने अपने कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ जिला अस्पताल में भर्ती घायलों और दलजीत सिंह के परिजनों से भेंट की। उपाध्याय ने आरोप लगाया कि रामदेव का फूड पार्क गुंडागर्दी का अड्डा बन गया है। रामभरत पहले भी वहां के कई कर्मचारियों की पिटाई कर चुके हैं।

सुनील दत्त पांडेय

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.