ताज़ा खबर
 

सर्जिकल स्ट्राइक के बाद बॉर्डर का माहौल गरम,राजनाथ सिंह का BSF को आदेश- पूरी ताकत से जवाब देना

सर्जिकल स्ट्राइक के बाद बॉर्डर का माहौल गरम है। ऐसे में सुरक्षा के इंतजामों को पुख्ता रखने के निर्देश दिए जा चुके हैं।
गृह मंत्री राजनाथ सिंह। (फाइल फोटो)

सर्जिकल स्ट्राइक के बाद बॉर्डर का माहौल गरम है। ऐसे में सुरक्षा के इंतजामों को पुख्ता रखने के निर्देश दिए जा चुके हैं। गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने पूरे देश के सभी बॉर्डर्स पर तैनात बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स (बीएसएफ) के लिए एडवाइजरी जारी कर दी है। इसमें किसी भी युद्धविराम के उल्लंघन पर अपनी पूरी फोर्स या ताकत का इस्तेमाल करने के लिए कहा गया है। इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत करते हुए इंटेलिजेंस विभाग के एक सीनियर अधिकारी ने कहा, ‘अगले 10-15 दिन चुनौती भरे होंगे। अक्टूबर के अंत तक सुरक्षा के कड़े इंतजाम रखने होंगे। त्योहारों की वजह से यह ही वह वक्त है जब हमले हो सकते हैं। जम्मू-कश्मीर, गुजरात, राजस्थान और पंजाब के बॉर्डर के साथ-साथ मुख्य शहरों को भी अलर्ट पर रखा गया है।’

शुक्रवार (30 सितंबर) को गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया था। इसके लिए राजनाथ सिंह ने सीनियर अधिकारियों के साथ घंटों तक मीटिंग की थी। उस मीटिंग में नेशनल सिक्यूरिटी एडवाइजर अजीत डोभाल, केंद्रीय गृह सचिव राजीव महेर्षि भी मौजूद थे। जम्मू कश्मीर की सुरक्षा बढ़ाने के लिए जम्मू बॉर्डर पर दो और बटालियन भेज दी गई हैं। इससे पहले वहां 15 बटालियन मौजूद थीं। इसके साथ ही इंडो तिब्बत बॉर्डर पुलिस (ITBP) के लिए भी अलग से एक मीटिंग हुई थी। गृह मंत्रालय ने अपने बयान में कहा, ‘फोर्स को अपनी तरफ से तैयार रहने को कहा गया है। लेकिन अभी उन्हें हमले के लिए सिर्फ निगरानी रखने के निर्देश हैं। लेकिन अगर पाकिस्तान छोटी सी भी हरकत करता है तो हमारी सेना भी जवाब देगी।’

वीडियो: दिन की बाकी बड़ी खबरें देखिए

गौरतलब है कि भारतीय सेना ने बुधवार (28 सितंबर) को लाइन ऑफ कंट्रोल (LOC) पार करके पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (POK) में घुसकर कई आतंकी ठिकानों को नष्ट किया था। इसमें दुश्मन को भारी नुकसान पहुंचा था। पाकिस्तान ने भारत के सर्जिकल स्ट्राइक के दावे को झूठ बताया। उसने कहा कि भारतीय सेना ने सर्जिकल स्ट्राइक नहीं किया बल्कि युद्ध विराम तोड़ा था जिसका करारा जवाब दिया गया था और इस दौरान पाकिस्तान के 2 सिपाही मारे गए थे। पाकिस्तान ने उन सिपाहियों की तस्वीरें भी जारी की थीं। जिन सिपाहियों की मौत हुई वे दोनों हवलदार थे। उनमें से एक का नाम जुम्मा खान था और दूसरे का नाम नाइक इम्तियाज। उधर गुरुवार को पाकिस्तान पर ईरान ने भी हमला किया था। ईरान की सेना ने उसपर मोर्टार दाग दिए थे। ईरान की तरफ से ये मोर्टार बलूचिस्तान के इलाके में दागे गए थे। ईरान ने तीन मोर्टार दागे थे।

Read Also: भारतीय जवान चंदू बाबूलाल को पाकिस्तान से छुड़ाने की हरसंभव कोशिश जारी: राजनाथ सिंह

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग