May 22, 2017

ताज़ा खबर

 

करीब 150 संपादकों से बातचीत करेंगे राजनाथ सिंह, यह रहेगा मुद्दा

पाकिस्तान के साथ बढ़ते तनाव के बीच गृहमंत्री राजनाथ सिंह देश की आंतरिक सुरक्षा और भारत-पाक सीमा के मौजूदा हालात के बारे में क्षेत्रीय मीडिया के करीब 150 संपादकों को जानकारी देंगे।

Author October 11, 2016 20:43 pm
गृहमंत्री राजनाथ सिंह। (फोटो- पीटीआई)

पाकिस्तान के साथ बढ़ते तनाव के बीच गृहमंत्री राजनाथ सिंह देश की आंतरिक सुरक्षा और भारत-पाक सीमा के मौजूदा हालात के बारे में क्षेत्रीय मीडिया के करीब 150 संपादकों को जानकारी देंगे। गृहमंत्री अगले हफ्ते चंडीगढ़ में होने वाले दो दिवसीय सम्मेलन में देश के उत्तरी और पूर्वोत्तर क्षेत्र में प्रकाशित होने वाले ज्यादातर क्षेत्रीय अखबारों के संपादकों को आंतरिक सुरक्षा और सीमा सुरक्षा मजबूत करने के लिए उठाए गए विभिन्न कदमों के बारे में बताएंगे। राजनाथ सुरक्षा मामलों पर केबिनेट कमेटी के एक प्रमुख सदस्य भी हैं। गृहमंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि वह 17 अक्तूबर को क्षेत्रीय संपादक सम्मेलन का उद्घाटन करेंगे जिसमें हरियाणा, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, जम्मू कश्मीर, चंडीगढ़, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, असम और पूर्वोत्तर के अन्य राज्यों के संपादक शरीक होंगे।

अधिकारी ने बताया कि गृहमंत्री सरकार की विभिन्न कोशिशों, नीतियों और कार्यक्रमों के परिप्रेक्ष्य और संदर्भ के बारे में बताएंगे। उरी में आतंकवादियों के हमले में 19 सैनिकों के शहीद होने पर पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर :पीओके: में सेना के लक्षित हमले (सर्जिकल स्ट्राइक) करने के करीब पखवाड़े भर बाद यह सम्मेलन हो रहा है। दरअसल, क्षेत्रीय मीडिया के संपादक जिन क्षेत्रों से हैं, वहां से सशस्त्र बलों के जवानों का बड़ा हिस्सा भी आता है। साथ ही, पाकिस्तान के साथ चल रहे तनाव को लेकर लोग बहुत भावनात्मक हैं।

वीडियो: भारत-न्यूज़ीलैंड टेस्ट सीरीज़: भारत ने न्यूज़ीलैंड को 321 रनों से हराकर 3-0 से सीरीज़ जीती

गृहमंत्री द्वारा आंतरिक सुरक्षा पर राजग सरकार के व्यापक एजेंडा और पाकिस्तान से लगने वाली अंतरराष्ट्रीय सीमा तथा नियंत्रण रेखा पर सुरक्षा मजबूत करने के लिए उठाए गए कदम के बारे में जानकारी दिए जाने की उम्मीद है। सिंह पहले ही कह चुके हैं कि पाकिस्तान से लगी सीमा को दिसंबर 2018 तक सील कर दिया जाएगा। उन्होंने यह भी कहा है कि भारत कभी किसी पर हमला नहीं करता और यह दूसरे की जमीन हथियाने की मंशा भी नहीं रखता। उन्होंने कहा कि हम ‘वसुधैव कुटुंबकम’ में यकीन रखते हैं। हम कभी पहले गोली नहीं चलाते लेकिन यदि हमला हुआ तो जवाब में हम ट्रिगर दबाने पर कभी गोलियां गिनते भी नहीं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 11, 2016 8:07 pm

  1. No Comments.

सबरंग