ताज़ा खबर
 

पाकिस्‍तान को उसी की जमीन पर खरी-खरी सुना आए राजनाथ, बिना खाना खाए ही लौटे

अब राजनाथ सिंह मीटिंग से जुड़ी अहम बातें पीएम नरेंद्र मोदी को ब्रीफ करेंगे। इसके अलावा संसद में भी जानकारी देंगे।
Author नई दिल्ली | August 4, 2016 21:14 pm
केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह। (एएनआई फोटो)

इस्‍लामाबाद में आयोजित सार्क देशों के गृहमंत्रियों के सम्‍मेलन में हिस्‍सा लेने के बाद राजनाथ सिंह गुरुवार को स्‍वदेश लौट आए। अब वे मीटिंग से जुड़ी अहम बातें पीएम नरेंद्र मोदी को ब्रीफ करेंगे। भारत पहुंचने के बाद राजनाथ सिंह ने कहा, ‘ मैंने भारत का रुख़ इस्लामाबाद में साफ़ कर दिया है। मैं अब संसद में बोलूंगा।’ राजनाथ सिंह के इस दौरे में भारत और पाकिस्‍तान के रिश्‍तों में तल्‍खी साफ नजर आई। राजनाथ पाकिस्‍तानी गृहमंत्री की मेजबानी में आयोजित लंच में भी शामिल नहीं हुए और बिना खाना खाए ही लौट आए। दरअसल, पाक गृह मंत्री चौधरी निसार अली खान इस लंच में नहीं पहुंचे थे, इसलिए राजनाथ ने भी कार्यक्रम का बायकॉट किया।

इससे पहले, गृहमंत्रियों के सम्‍मेलन में राजनाथ ने पाकिस्‍तान को आड़े हाथों लिया। राजनाथ ने कहा कि आतंकियों को शहीद के तौर पर महिमंडित नहीं किया जाना चाहिए। राजनाथ के मुताबिक, न केवल आतंकियों बल्‍क‍ि आतंक का समर्थन करने वाले देशों और संगठनों से भी कड़ाई से निपटा जाना चाहिए। इस बयान में पाकिस्‍तान के लिए बिलकुल साफ मेसेज था। दरअसल, जम्‍मू-कश्‍मीर में सुरक्षाबलों से मुठभेड़ में मारे गए हिजबुल आतंकी बुरहान वानी को पाकिस्‍तान ने शहीद घोषित करते हुए काला दिवस मनाने का फैसला किया था।

राजनाथ के बयान को पाकिस्‍तान मीडिया में ब्‍लैकआउट कर दिया गया। किसी भी चैनल या न्‍यूज वेबसाइट पर उनका बयान नहीं चलाया गया। मीडिया रिपोर्ट्स में यह भी दावा किया गया कि हिंदुस्‍तानी रिपोर्टरों को भी कार्यक्रम से दूर रखा गया। इसके बाद, पत्रकारों और पाक अफसरों में कहासुनी भी हुई। इससे पहले, जब राजनाथ और पाकिस्‍तानी गृह मंत्री का आमना-सामना हुआ तो भी रिश्‍तों की तल्‍खी साफ नजर आई। दोनों ने ऑफिशियल हैंडशेक नहीं किया। बस एक दूसरे का हाथ छूकर औपचारिकता पूरी की। इसके बाद राजनाथ आगे बढ़ गए। बता दें कि राजनाथ के पाक दौरे से पहले ही उनका विरोध शुरू हो गया था। मुंबई हमलों के मास्‍टरमाइंड हाफिज सईद ने इस दौरे का विरोध किया था। वहीं, पठानकोट हमलों को अंजाम देने में अहम रोल निभाने वाले सैयद सलाउद्दीन ने रैली निकालकर राजनाथ के पाकिस्‍तान दौरे का विरोध किया था।

Read Also:

लंच का कार्यक्रम रखकर नहीं पहुंचे पाकिस्‍तानी गृहमंत्री तो राजनाथ सिंह ने भी किया बायकॉट

इस्‍लामाबाद: बुरहान वानी पर लगाई फटकार तो पाकिस्‍तानी मीडिया में ब्‍लैकआउट किए गए राजनाथ

सार्क सम्मेलन: इस्लामाबाद में आमने-सामने हुए राजनाथ सिंह और पाकिस्तानी गृह मंत्री, पर नहीं दिखी गर्मजोशी

सार्क सम्मेलन: राजनाथ और पाकिस्तानी गृहमंत्री के बीच कोई द्विपक्षीय बैठक नहीं होगी

पाकिस्तान को बड़ा झटका, पेंटागन ने रोकी 30 करोड़ डॉलर की सैन्य मदद

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. A
    Amit Mitra
    Aug 4, 2016 at 2:26 pm
    Bhai koi batayega Ki mahamandit ka kya matlab hota hai? Jab se ye BJP valey aana shuru Huey hain, itne sare naye words seekne pade Hain jinka hisab nahin.. itni shuddh Hindi bhasha ka prayog to Dharmendra ne Chupke Chupke main bhee nahin kiya tha..
    (0)(0)
    Reply
    1. N
      NAVNEET MANI
      Aug 4, 2016 at 5:46 pm
      मित्र, जाकर फिर से नर्सरी में एडमिशन ले लो. फीस मैं भर दूंगा!! मातृभाषा नहीं तो कम से कम इतालियन भाषा तो जानते ही होंगे तुम.
      (0)(1)
      Reply
      1. M
        meharauliwala
        Aug 4, 2016 at 4:04 pm
        कोई बात नहीं प्रधानमंत्री बिना बुलाए ही घर मैं घुस कर खा आये थे
        (0)(1)
        Reply
        1. N
          NAVNEET MANI
          Aug 4, 2016 at 6:01 pm
          तुम मुल्ला जान पड़ते हो...
          (0)(0)
          Reply
        सबरंग