ताज़ा खबर
 

यात्री कृपया ध्यान दें: त्योहारों के मौसम में रेलवे देगा खुशियों की सौगात, चलेंगी 4 हजार एक्स्ट्रा ट्रेनें

पिछले वर्ष त्योहार के दौरान रेलवे ने 3800 विशेष रेलगाड़ियां चलाई थीं।
Author नई दिल्ली | September 19, 2017 20:02 pm
लंबी दूरी की यात्रा तय करने वाली देशभर की महत्वपूर्ण ट्रेनों की स्पीड बढ़ाए जाने की योजना है।

इंडियन रेलवे आगामी त्योहारी मौसम में चार हजार विशेष ट्रेन चलाएगा। यह जानकारी मंगलवार को रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने दी। उन्होंने कहा, ‘‘आगामी 40 दिनों में हम दुर्गा पूजा, दशहरा, दिवाली और छठ मनाएंगे। इसलिए हम अतिरिक्त रेलगाड़ियां चला रहे हैं, ताकि 15 अक्तूबर से 30 अक्तूबर के बीच छुट्टी के दौरान लोगों की यात्रा सुगम की जा सके।’’ पिछले वर्ष त्योहार के दौरान रेलवे ने 3800 विशेष रेलगाड़ियां चलाई थीं। सिन्हा ने कहा कि मंत्रालय छुट्टियों की भीड़ को देखते हुए कर्मचारियों की छुट्टी रद्द करने पर विचार कर रहा है। उन्होंने कहा, ‘‘रेलवे विभिन्न स्थानों से मशहूर स्थानों के लिए विशेष रेलगाड़ियां चलाएगा और वर्तमान रेलगाड़ियों में अतिरिक्त कोच जोड़ेगा। छठ के लिए कोलकाता, दिल्ली, मुंबई, सूरत, वडोदरा, अहमदाबाद से पूर्वी उत्तरप्रदेश और बिहार के लिए रेलगाड़ियां चलाई जाएंगी।’’

रेलवे ने कहा कि कुछ विशेष रेलगाड़ियां बड़े शहरों के स्टेशनों से भी चलाई जाएंगी। रेलवे ने कहा कि उदाहरण के लिए दिल्ली से पूर्वी राज्यों के लिए रेलगाड़ियां आनंद विहार से चलाई जाएंगी। सिन्हा ने कहा कि मंत्रालय ने त्योहारों के दौरान यात्रियों के लिए कई सुविधाएं देने की योजना बनाई है, जैसे बड़े स्टेशनों पर पंडाल लगाए जाएंगे और स्वच्छ शौचालयों आदि की व्यवस्था की जाएगी। उन्होंने कहा कि ज्यादा भीड़ होने की स्थिति में प्लेटफॉर्म टिकट नहीं बेचा जाएगा। राज्यमंत्री ने कहा कि अतिरिक्त खिड़कियां भी खोली जाएंगी। उन्होंने कहा, ‘‘अवैध एजेंट और वेंडरों पर नजर रखने के लिए स्टेशनों पर अतिरिक्त सुरक्षा दलों की तैनाती की जाएगी।’’ पिछले वर्ष रेलवे ने त्योहार के मौसम में 1654 मामले दर्ज किए थे और अपने 693 कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की थी।

देखें वीडियो ः

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. H
    HINDUSTANI
    Sep 19, 2017 at 9:28 pm
    जब से मोदी जी आये हैं हिंदी काफी बदल गयी है. अब हर काम जो अब तक होता रहा है अब" सौगात" कहलाता है. पाकिस्तान को रोज़ मुहं तोड़ जवाब दिया जाता है पर उसक मुंह नहीं टूटता हर बात मैं "बदला " शब्द का प्रयोग होने लगा है.अब दिल्ली की हवा बदले की हवा होगयी है .हर आदमी दुसरे से बदला ले रहा है माहौल ख़राब है
    (0)(0)
    Reply
    सबरंग