January 20, 2017

ताज़ा खबर

 

नरेंद्र मोदी सरकार के खिलाफ राहुल गांधी ने दिया नया मंत्र- डरो मत…

राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि ये लोग देश में नफरत फैलाकर बर्बाद कर रहे हैं।

राहुल गांधी। ( File Photo)

भाजपा और आरएसएस पर तीखा प्रहार करते हुए राहुल गांधी ने बुधवार को आरोप लगाया कि ये लोगों में ‘भय’ का माहौल पैदा कर रहे हैं, साथ ही जोर दिया कि कांग्रेस इनकी विचारधारा को परास्त कर देगी और भाजपा को सत्ता से उखाड़ फेंकेगी। इसे दो विचारधाराओं के बीच का संघर्ष करार देते हुए कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा कि उनकी पार्टी का दर्शन लोगों को भयमुक्त होने को कहता है जबकि भाजपा का दर्शन लोगों में ‘भय’ और ‘डर’ पैदा करने वाला है। राहुल ने कहा, ‘यह दो दर्शन के बीच की लड़ाई है । यह कोई नई लड़ाई नहीं है । यह लड़ाई हजारों वर्षो पुरानी है । कांग्रेस पार्टी का दर्शन कहता है कि भयभीत नहीं हों । दूसरा दर्शन कहता है कि भयभीत करो, डराओ।’

राहुल ने कहा, ‘आप भाजपा की नीतियों को देखें । पूरा मकसद देश के लोगों को डराने का है। आतंकवाद, माओवाद, नोटबंदी से डराओ, मीडिया को डराओ । पिछले दो..तीन महीने में पूरे देश में ऐसा डर फैल गया है।’ राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी जहां मजदूरों और किसानों को भयमुक्त होकर आगे आने को कहती है, उन्हें 100 दिनों के रोजगार की गारंटी देने की बात करती है, यह भी कहती है कि बाजार मूल्य से कम कीमत पर किसी की जमीन नहीं ली जायेगी, वहीं नरेन्द्र मोदी उनसे पैसा और जमीन छीन रहे हैं। झारखंड, छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश जैसे राज्यों में जहां आदिवासी अपनी जमीन, जल और वन अधिकारों के लिए खड़े हो रहे हैं, उनका दमन किया जा रहा है।

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा, ‘ ये लोग (भाजपा और आरएसएस) सोचते हैं कि वे लोगों के बीच भय और घृणा फैला कर शासन कर सकते हैं। कांग्रेस पार्टी इन्हें परास्त करेगी और सत्ता से हटा देगी । हम उनसे (भाजपा और आरएसएस) से घृणा नहीं करते हैं लेकिन हम उनकी विचारधारा को परास्त कर देंगे।’ उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी भय को समाप्त करने के लिए खड़ा होगी । भारत एक मजबूत देश है और यहां के लोगों को दुनिया में किसी से भी डरने की जरूरत नहीं है। उनकी राजनीति और ढांचे का आधार भय को गुस्से में बदलने का है । यह पिछले ढाई वर्षो में नहीं हो रहा है । लेकिन वे (भाजपा और आरएसएस) ऐसा करते रहे हैं। यह विचारधारा ऐसा ही करती है।

राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी में भयमुक्त होकर आगे बढ़ने का दर्शन है और यह महात्मा गांधी, जवाहर लाल नेहरू से लेकर देखा गया है जो अंग्रेजों से भयभीत नहीं होने की बात कहता था । हरित क्रांति के दौरान किसानों को भयमुक्त होने को कहा गया, बैंकों के राष्ट्रीयकरण के दौरान और संप्रग सरकार के समय खाद्य सुरक्षा कानून और भूमि अधिग्रहण कानून के समय लोगों को भयमुक्त होने का संदेश दिया गया।

नरेंद्र मोदी के नोटबंदी के फैसले पर निशाना साधते हुए राहुल गांधी ने कहा, ‘करोड़ों लोग लाइनों में खड़े थे। क्यां आपने वहां पर किसी भ्रष्ट व्यक्ति को खड़ा हुआ पाया? भ्रष्ट लोग बैंक के पीछे के दरवाजे पर थे। मोदी जी ने सोचा कि जब आर्मी ने सर्जिकल स्ट्राइक कर दिया तो उन्होंने गरीबों और किसानों पर सर्जिकल स्ट्राइक कर दिया।’

संबोधन के दौरान राहुल गांधी ने पीएम मोदी की मिमिक्री भी की। राहुल गांधी ने कहा, ‘जैसे अमिताभ बच्चन जी की फिल्मों में डायलॉग होते थे ना वैसे ही नरेंद्र मोदी जी आए और डायलॉग दिया ‘देशवासियों… सॉरी, सॉरी माफी चाहता हूं, मित्रों, अपनी जेब में हाथ डालो। सबने अपनी जेब में हाथ डाला। ये जो तुम्हारी जेब में 500 और 1000 रुपए के नोट हैं। अब ये कागज हो गए हैं, कागज। मित्रों, भ्रष्टाचार के खिलाफ हम आज एक लड़ाई लड़ रहे हैं। मुझे अपना वर्तमान समय दो। मैं आपको एक चमकता हुआ भारत आज से 10-15 साल बाद दूंगा। यह बात भी समझ लो यह चमकता हुआ भारत अरुण जेटली जी, सुषमा स्वराज जी और राजनाथ सिंह जी नहीं देंगे, ये चमकता हुआ भारत सिर्फ नरेंद्र मोदी देगा।’ इस बाद वहां मौजूद लोगों ने तालियां बजाईं।

वीडियो- जन वेदना सम्मेलन: कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा- “पीएम मोदी ने ढाई साल में सभी संस्थानों को कमज़ोर कर दिया है"

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on January 11, 2017 4:48 pm

सबरंग