December 10, 2016

ताज़ा खबर

 

कैंडल मार्च निकालने गए राहुल गांधी पुलिस हिरासत में, बोले- मैं बैठा रहूंगा लेकिन सरकार को सैनिकों से माफी मांगनी होगी

कांग्रेस उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी को पुलिस ने एक बार फिर से हिरासत में लिया है। राहुल गांधी पूर्व सैनिक की खुदकुशी पर कैंडल मार्च करने जंतर मंतर गए थे।

कांग्रेस उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी।

कांग्रेस उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी को पुलिस ने एक बार फिर से हिरासत में लिया है। राहुल गांधी पूर्व सैनिक की खुदकुशी पर कैंडल मार्च करने जंतर मंतर गए थे। वे अपने समर्थकों के साथ इंडिया गेट तक जाना चाहते थे। लेकिन पुलिस ने अनुमति नहीं दी और रोक दिया। इसके बाद उन्‍हें गाड़ी में बैठाकर ले गए। इस दौरान कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने राहुल गांधी जिंदाबाद के नारे लगाए। राहुुल गांधी ने बताया कि उन्‍हें आधे घंटे से पुलिस ने गाड़ी में बैठा रखा है। वे बता नहीं रहे कि उन्‍हें कहां ले जाया जा रहा है। वे थाने भी नहीं ले जा रहे। बताया गया है कि धारा 144 लागू होने के कारण उन्‍हें हटाया गयाा। उन्‍होंने कहा, ”मैं तो यहां बैठा रहूंगा। मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता मैं खुश हूं। हमारी सेना बॉर्डर पर खड़ी है। उनके मोरल पर इसका असर पड़ता है। उनकी इज्‍जत करनी चाहिए। जिस तरह से पूर्व सैनिक के परिवार से बर्ताव किया गया उसके लिए सरकार को माफी मांगनी चाहिए।”

राहुल को दो दिन में तीसरी बार हिरासत में लिया गया है। इससे पहले बुधवार(2 नवंबर) को पूर्व सैनिक रामकिशन ग्रेवाल की खुदकुशी के बाद वे उनके परिवार से मिलने राममनोहर लोहिया अस्‍पताल गए थे। वहां पुलिस ने उन्‍हें हिरासत में ले लिया था। पुलिस उन्‍हें मंदिर मार्ग थाने ले गई थी। गौरतलब है कि वन रैंक वन पेंशन की मांग को लेकर हरियाणा के एक पूर्व सैनिक राम किशन ग्रेवाल ने जहर खाकर जान दे दी थी। राहुल गुरुवार(3नवंबर) को रामकिशन ग्रेवाल के गांव अंतिम संस्‍कार में भी गए थे। उन्‍होंने वन रैंक वन पेंशन के मुद्दे पर मोदी सरकार को घेरा था।

राहुल ने कहा था कि ओआरओपी के मुद्दे पर सरकार ने सैनिकों से धोखा किया है। बाद में थाने में भी उनकी पुलिसकर्मियों से बहस हो गई थी। इसका वीडियो भी सामने आया था। वीडियो में दिख रहा है, जिस थाने में राहुल गांधी को रखा गया है, उसी थाने में सुसाइड करने वाले पूर्व सैनिक के परिवार वालों को भी रखा गया है। राहुल गांधी पूर्व सैनिक के परिवार के सदस्यों को भी हिरासत में लेने पर सवाल करते हुए दिखाई देते हैं। राहुल गांधी ने थाने में मौजूद एक अधिकारी से पूर्व सैनिक के परिवार वालों की तरफ इशारा करके कहा कि अगर ये गिरफ्तार नहीं हैं तो इन्हें निकालिए, एक मिनट में निकालिए। अगर ये अरेस्ट नहीं है तो इनको भी अरेस्ट कीजिए और मुझे भी अरेस्ट कीजिए। इसके बाद जवाब में थाने के अधिकारी ने कहा कि सर आप बाहर जा सकते हैं, लेकिन ये गिरफ्तार हैं।

 

राहुल गांधी पूछा कि इन्हें अरेस्ट क्यों किया गया तो अधिकारी ने कहा कि इसका जवाब सीनियर अधिकारी ही देंगे। इसके बाद राहुल गांधी को और ज्यादा गुस्सा आ गया। उन्होंने कहा, ‘ आप एक शहीद के बेटे को गिरफ्तार कर रहे हैं। कैसा काम कर रहे हैं आप। इनके बेटा मरा है। आपने शहीद के पिता, बेटे और छोटे भाई को गिरफ्तार कर लिया है। आपको शर्म नहीं आता। आपको क्या लगता है कि हिंदुस्तान के शहीद के परिवार को गिरफ्तार किया जाना चाहिए।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 3, 2016 7:12 pm

सबरंग