December 08, 2016

ताज़ा खबर

 

मोदीजी के उद्योगपति दोस्तों के खिलाफ नहीं हुई कार्रवाई : राहुल गांधी

असल कालाबाजारियों और प्रधानमंत्री के उद्योगपति दोस्तों के खिलाफ अब तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

Author मुंबई | November 17, 2016 02:46 am
भिवंडी में कांग्रेस कार्यकर्ताओं की रैली को संबोधित करते कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी। (Photo: ANI)

बड़े नोट बंद करने के सरकार के निर्णय की कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कड़े शब्दों में अलोचना की है। उन्होंने बुधवार को आरोप लगाया कि असल कालाबाजारियों और प्रधानमंत्री के उद्योगपति दोस्तों के खिलाफ अब तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है। आम आदमी की परेशानी के साथ एकजुटता का संकल्प जताते हुए वह उपनगर वकोला के एक एटीएम पर कुछ देर रुके और वहां कतार में खड़े लोगों से बातचीत भी की। वह पड़ोसी ठाणे जिले के भिवंडी से लौट रहे थे जहां की एक अदालत ने मानहानि के एक मामले में उन्हें जमानत दे दी।

उन्होंने कहा, ‘जो असल कालाबाजारी हैं, जिनके पास दस-बीस हजार करोड़ रुपए हैं, जो मोदी के साथ विमान में जाते हैं कार्रवाई उनके खिलाफ होनी चाहिए। जबकि उनपर कोई कार्रवाई नहीं की जा रही।’ कांग्रेस उपाध्यक्ष ने भिवंडी अदालत के बाहर कहा, ‘मोदीजी के उद्योगपति दोस्तों के खिलाफ कोई जांच या कार्रवाई नहीं की गई है।’ राहुल ने आरोप लगाया, ‘आपको लाइनों में खड़ा किया जा रहा है। आपका पैसा उन चुनिंदा 15-20 उद्योगपतियों को दिया जाएगा। आप सभी उनके नाम जानते हैं। वह (मोदी) अपनी सरकार चला रहे हैं।’ इससे पहले, अदालत के बाहर इकट्ठा हुए कांग्रेस समर्थकों से राहुल ने कहा कि बैंकों और एटीएम के बाहर लोगों की लंबी कतारें आम आदमी के लिए परेशानी की वजह हैं।

राहुल ने जानना चाह, ‘लोग कतारों में खड़े हैं। क्या आपने किसी अमीर आदमी को, बड़े उद्योगपति को कतारों में खड़ा हुआ देखा है?’ उन्होंने कहा, ‘क्या आपको 4000 रुपए के नोट मिले? क्या आपके हाथ पर अमिट स्याही का निशान लगा है?’कांग्रेस के ट्विटर हैंडल ने भी एक तस्वीर पोस्ट की है जिसमें वह लाइन में खड़े लोगों से मिल रहे हैं। ट्वीट में कहा गया है कि उन्होंने लोगों का दुख सुना। लोग मुंबई में वकोला के एसबीआइ एटीएम के बाहर अपनी मेहनत की कमाई लेने की कोशिश कर रहे हैं।नोट बंद करने के मुद्दे पर मोदी पर तीखा हमला करते हुए राहुल ने मंगलवार की रात कहा था कि प्रधानमंत्री ‘हंस’ रहे हैं जबकि लोग बैंकों और एटीएम के बाहर कतारों में मर रहे हैं और यह कदम एक बड़ा घोटाला निकलेगा। उन्होंने कहा था कि सरकार विजय माल्या और ललित मोदी जैसे ‘बड़े खिलाड़ियों’ के पीछे जाते नहीं दिखती है। उन्होंने यह भी दावा किया था कि नोट बंद करने के बारे में भाजपा सदस्यों को पहले ही सतर्क कर दिया गया था।

Speed News: जानिए दिन भर की पांच बड़ी खबरें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 17, 2016 2:46 am

सबरंग