December 03, 2016

ताज़ा खबर

 

कांग्रेस कार्यसमिति में राहुल को अध्यक्ष बनाने का प्रस्ताव पारित

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जल्द ही इस प्रस्ताव को लेकर पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात करेंगे।

Author नई दिल्ली | November 8, 2016 03:03 am
कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी। ( फाइल फोटो -पीटीआई)

राहुल गांधी को अध्यक्ष बनाए जाने का प्रस्ताव कांग्रेस कार्यसमिति ने पारित कर दिया है। अभी वे उपाध्यक्ष हैं। वे यह नई जिम्मेदारी कब संभालेंगे इस बाबत कांग्रेस के आला नेता कुछ बोलने को तैयार नहीं हैं। सोमवार को कार्यसमिति की बैठक के बाद कांग्रेस ने चुनाव आयोग से सांगठनिक चुनाव एक साल के लिए टाले जाने की अनुमति मांगी। कांग्रेस ने 19 नवंबर को इंदिरा गांधी की सौंवी जयंती पर बड़े समारोह की तैयारी कर रखी है। क्या इस दिन से राहुल गांधी बतौर अध्यक्ष कामकाज शुरू करेंगे? या संगठन चुनाव के बाद वे कमान संभालेंगे? क्या राहुल गांधी के नेतृत्व में प्रियंका गांधी पार्टी में नियमित तौर पर सक्रिय किया जाएगा? आधिकारिक रूप से कांग्रेसी किसी सवाल पर बोलने को तैयार नहीं हैं।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जल्द ही इस प्रस्ताव को लेकर पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात करेंगे। कार्यसमिति का यह प्रस्ताव अब गांधी परिवार के पाले में है। कार्यसमिति ने फैसला करने की जिम्मेदारी पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी पर छोड़ दी है। अस्वस्थ्य होने की वजह से कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी कार्यसमितिकी बैठक में शामिल नहीं हुईं। इस वजह से बैठक की अध्यक्षता राहुल गांधी ने की।बैठक के बाद कांग्रेस नेता एके एंटनी ने कहा, ‘कांग्रेस कार्यसमिति ने पहली बार इस तरह का प्रस्ताव पारित किया है। मुझे विश्वास है कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी इस बारे में जल्द ही कोई फैसला लेंगी।’
कांग्रेस कार्यसमिति की चार घंटे तक चली बैठक में राहुल गांधी को अध्यक्ष बनाए जाने के प्रस्ताव पर ही चर्चा होती रही।

कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक में बोले उपाध्यक्ष राहुल गांधी; कहा- “सत्ता के नशे में चूर है मोदी सरकार”

आमराय थी कि उन्हें जल्द से जल्द पार्टी की कमान संभाल लेनी चाहिए। कांग्रेस के  वरिष्ठ नेता एके एंटनी ने प्रस्ताव रखा। उन्होंने कहा, ‘अब समय आ गया है कि राहुल गांधी 133 साल की अनुभवी कांग्रेस की कमान संभालें।’ पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह तमाम नेताओं ने इस प्रस्ताव का समर्थन किया। संवाददाताओं से एंटनी ने कहा, ‘सभी सदस्यों ने इस बात पर जोर दिया कि राहुल गांधी पार्टी अध्यक्ष का पद संभालें और उनकी अगुवाई में कांग्रेस पार्टी समान सोच वाले सभी संगठनों को एकजुट करे। केंद्र में मोदी सरकार की ‘जनविरोधी और तानाशाही’ नीतियों पर सभी ताकतों को एकजुट करना जरूरी है।’

इस प्रस्ताव को लेकर राहुल गांधी ने कहा, ‘भारत की अवधारणा के लिए संघर्ष में जो जिम्मेदारी सौंपी जाएगी, मैं स्वीकार करने को तैयार हूं।’ कांग्रेस के मीडिया सेल के प्रभारी रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि कांग्रेस के नेता जल्द ही इस प्रस्ताव के बारे में पार्टी अध्यक्ष से मुलाकात करेंगे और जब वे फैसला ले लेंगी तब मुहर लगाने के लिए एक बार फिर कार्यसमिति की बैठक बुलाई जाएगी। क्या सोनिया गांधी अगले अध्यक्ष को नामित करेंगी? इस सवाल पर एंटनी ने कहा कि कांग्रेस की अध्यक्ष ऐसा नहीं करेंगी। कार्यसमिति की सिफारिश पर वे विचार करेंगी।

कार्यसमिति ने संगठन चुनाव एक साल के लिए टाले जाने की अपील चुनाव आयोग से करने का फैसला किया है। पार्टी के संगठनात्मक चुनाव की सीमा 31 दिसंबर को खत्म हो रही है। उत्तर प्रदेश, पंजाब समेत विभिन्न राज्यों में होने जा रहे विधानसभा चुनाव के मद्देनजर कांग्रेस अपने संगठन चुनाव टालना चाहती है। एके एंटनी ने कहा कि इस कवायद का राहुल गांधी की ताजपोशी के समय से कोई लेना-देना नहीं है। विधानसभा चुनाव में पार्टी मशीनरी लगी है। ऐसे में संगठन चुनाव में हम नहीं उलझना चाहते।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 8, 2016 2:54 am

सबरंग